डिलीवरी के बाद डाइट में गड़बड़ी और एक्‍सरसाइज ना करने से बिगड़ा हुआ फिगर ज्‍यादातर महिलाओं की समस्‍या होती है। और सबसे ज्‍यादा परेशानी उनको डिलीवरी के बाद बाहर निकले हुये पेट से होती है। हालांकि पेट को अंदर करने और अपनी फिगर को दोबारा शेप में लाने के लिए महिलाएं एक्‍सरसाइज करना चाहती हैं, लेकिन छोटे बच्‍चों के कारण समय की कमी के चलते जिम जाना तो दूर घर से बाहर जाकर एक्सरसाइज या वॉक तक करने का समय उनके पास नहीं होता है। अगर आप भी ऐसी महिलाओं में से एक हैं जिनकी कुछ समय पहले डिलीवरी हुई हैं और वह अपने कमर के फैट से बेहद परेशान रहती हैं और चाहकर भी बाहर जाकर एक्‍सरसाइज नहीं कर पा रही हैं तो आज हम आपके लिए एक ऐसी एक्‍सरसाइज लेकर आए है जिसे आप घर में आसानी से करके अपनी कमर को पतला बना सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: Housewives को मिलेगी राहत, अब वेट लॉस के लिए नहीं जाना पड़ेगा जिम

फिटनेस चैनल माई बॉलीवुड बॉडी के फाउंडर  Riz Sunny आपको एक ऐसी असरदार एक्‍सरसाइज के बारे में बता रहे हैं जो आप घर पर आसानी से और सिर्फ 10 मिनट करके अपनी पेट की चर्बी को कम कर सकती हैं। आइए इस आसान एक्‍सरसाइज के बारे में विस्‍तार से जानें।

hoola hoop exercise for belly fat inside

पतली कमर के लिए हुला हूप

आपने बच्चों को अक्सर प्लास्टिक की गोल रिंग लेकर कमर के चारों तरफ घुमाते हुए देखा होगा। अक्‍सर बच्‍चों के साथ बड़े भी इस रिंग को अपने चारों तरफ झूलाकर इसका मजा लेते हैं। इसे हूला हूप कहते हैं। बच्‍चे अक्‍सर मनोरंजन के लिए इसके साथ खेलते हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि ये मजेदार होने के साथ ही वेट लॉस के लिए भी आपकी काफी हेल्‍प करती हैं। जी हां इससे आप पेट और कमर के पास जमा फैट को आसानी से कम कर सकती हैं। हूला हूप एक्सरसाइज पेट के फैट को कम करने में काफी मददगार होती है। 

Riz Sunny का कहना है कि ''बचपन में खेलने वाले हुला हूप के साथ आप आसानी से अपना फैट कर सकती हैं, खासतौर पर पेट के आस-पास के फैट को तो यह बहुत जल्‍दी जलता हैं। इसके विभिन्‍न रूपों जैसे आगे और पीछे, साइड से साइड और हिप्‍स के आस-पास घुमाकर एक्‍सरसाइज करके आप आसानी से फैट को बर्न कर सकती हैं। इसका एक ओर फायदा यह भी है कि इसे करने से rib cage से लेकर कमर के थोड़े ऊपर हिस्‍से की अच्‍छी से एक्‍सरसाइज होती है और इसी हिस्‍से में महिलाओं का फैट सबसे ज्‍यादा होता है।'' आइए इसके अन्‍य फायदों के बारे में जानें।

हिप्‍स का फैट होता है कम

हूला हूप करने में पूरी कमर में जोर लगाना पड़ता है। इससे कंधे से लेकर पैरों तक की मसल्स की एक्‍सरसाइज होती है। खासकर कमर को सही शेप मिलता है। इसे सीखना कठिन भी नहीं है। शुरुआत में तो यह धीमा ही होता है लेकिन लगातार प्रैक्टिस से आप इसे अच्‍छे से कर सकती है। अगर आप ऑफिस में घंटों बैठकर काम करती हैं तो आपको रोजाना 10 मिनट हूला हूप जरूर करें। बैठने से पेट और कमर की आस-पास फैट बढ़ने लगता है। हिप्‍स भी हैवी होने लगते हैं। हूला हूप करने से हिप्‍स और कमर के आस-पास एक्‍स्‍ट्रा फैट इकट्ठा नहीं होता है। इसे रेगुलर करने से आप अपनी कमर को सुडौल बना सकती हैं। 

hoola hoop exercise for belly fat inside

वजन कम करने में मददगार 

वेटलॉस करने के लिए कई महिलाएं बहुत ज्‍यादा मेहनत करती हैं, लेकिन कई बार महिलाओं को इसका फायदा नहीं मिलता है। और कई महिलाएं ऐसी भी है जो बहुत ज्‍यादा मेहनत किए बिना अपना वजन कम करना चाहती हैं ऐसी महिलाओं के लिए हूला हूप एक्‍सरसाइज करना बहुत फायदेमंद होता है। इसे 10 मिनट करके आप अपना वजन तेजी से कम कर सकती हैं।

मसल्‍स होती है मजबूत

हूला-हूप के लिए कमर को धीरे-धीरे दाएं से बाएं घुमाते हुए थोड़ा आगे और पीछे करके आप वर्कआउट कर सकती हैं। यानि आपको अपनी कमर को दाएं से बाएं और बाएं से दाएं दोनों तरफ गोल घुमाना है। इससे आपके पेट, कमर, पीठ, पैर, हिप्स और थाई की मसल्‍स मजबूत होती हैं।

बॉडी बनती है फ्लैक्सिबल

हूला हूप कंधे से लेकर पैरों तक की मसल्स को फायदा पहुंचाता है जैसे कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं। इससे पूरी बॉडी का वर्कआउट होने के साथ बॉडी फ्लैक्सिबल हो जाती है। इस एक्सरसाइज से सिर्फ 5 महीने में आप पूरी तरह फिट हो सकती हैं। जी हां 1 घंटे तक ट्रेडमिल पर एक्सरसाइज करने पर जितनी कैलोरीज बर्न होती है, उतनी आप 15 मिनट हूला हूपिंग करके बर्न कर सकती हैं। तो देर किस बात की आज ही अपने रुटीन में इसे शामिल करें। लेकिन इसे करने से पहले कुछ बातों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी होता है।

इसे जरूर पढ़ें: ये बॉलीवुड एक्‍ट्रेस फिट रहने के लिए जिम में बहाती हैं खूब पसीना

सावधानी

  • इसे करने से पहले आपको आधे से 1 घंटे पहले कुछ खा लें। 
  • ज्यादा फैट और कैलोरीज लेने से बचें। 
  • जिन लोगों को स्लिप डिस्क, कमर दर्द, हर्निया या बॉडी के निचले हिस्से में कोई प्रॉब्लम हो, उन्‍हें इसे करने से बचना चाहिए। 
  • पैरों और पेट की मसल्स में सूजन या दर्द हो, तो करने से बचें या कम टाइम के लिए ही करें।