पेट के आस-पास जमा फैट दुनिया की सबसे बड़ी समस्या है। अगर यह फैट आपको सीधे प्रभावित नहीं कर रहा हो, फिर भी इसके नुकसान से बचा नहीं जा सकता है। जरूरत से ज्यादा वजन का होना या पेट के ऊपर जमा हुआ फैट, कई तरह की असुरक्षा के मुद्दे को जन्म दे सकता है और इससे आपका आत्म-विश्वास भी कम हो सकता है। बेली फैट के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि आनुवांशिक कारण, जीवनशैली, शराब का सेवन, सुस्त जीवनशैली वगैरह-वगैरह। बेली फैट की समस्या किसी को भी हो सकती है, फिर चाहे आपकी उम्र कितनी भी हो और आप किसी भी लिंग के हो। आपके पेट पर जितना ज्‍यादा फैट होगा, आपके ऊपर ऐब्डॉसमिनल फैट के बढ़ने और बरकरार रखने का खतरा उतना ही ज्यादा होगा। एक बैलेंस्ड, स्लिमिंग डाइट और कड़ी एक्सरसाइज से आपको बेली फैट से छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है और इससे आप शारीरिक एवं मानसिक दोनों ही तौर पर हल्का़ महसूस करेंगे।

इसे जरूर पढ़ें: रोज-रोज की वही पुरानी crunches से नहीं हो रहा belly fat कम तो कीजिये ये exercises

सर्वा योगा, माइंडफुलनेस एंड बियोंड के को फाउंडर श्री सर्वेश शशि का कहना हैं कि ''संयोग से आपके लिये योग में ऐसे कई आसन और अनुशासन मौजूद हैं, जिनसे बेली फैट कम और एक हेल्दी फैशन में वजन कम करने में मदद मिल सकती है। नियमित तौर पर योगा करने से मेटाबॉलिज्म और इम्युनिटी बढ़ जाती है और इससे आपको फिट एवं सेहतमंद बने रहने में मदद मिलती है। योगा और माइंडफुलनेस से तनाव हटाने में मदद मिल सकती है और इस तरह आपको अपने जीवन को बेहतर तरीके से नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। एनर्जी का स्तर बढ़ने से आपको अधिक मजबूत बनने और अपनी इच्छा शक्ति को बढ़ाने में भी मदद मिल सकती है।'' आइए बैली फैट कम करने वाली सबसे असरकार योग के बारे में जानें।

1. नौकासन
yoga for belly fat naukasana

नौकासन या बोट पोज बेहद मुश्किल होती है और इसी वजह से मुश्किल नजर भी आता है। इसके लिये स्ट्रेंथ, स्टेबिलिटी और मोटिवेशन की जरूरत होती है। नौकासन में शरीर के ऊपर और निचले दोनों ही हिस्सों की मसल्‍स को शामिल किया जाता है एवं इससे यह बेहतरीन तरीके से काम करने में सक्षम होता है। हर दिन बस कुछ मिनटों तक नौकासन करने से कमर के आस-पास की अनावश्यक चर्बी को घटाने में मदद मिलती है।

कैसे करें :

  • पीठ के बल लेट जायें और अपने पैरों एवं दोनों हाथों को एकसाथ मिलाकर ऊपर उठायें।
  • अपने हाथों को सीधा रखें और अपनी ऊंगलियों को सीधा रखते हुये पैरों को छूने की कोशिश करें।
  • सांस लें और अपने शरीर के ऊपरी हिस्से एवं अपने पैरों को जमीन से 45 डिग्री ऊपर उठायें, अपने हा‍थों को सीधा रखें।
  • अपने ऐब्डोरमिनल एरिया में स्‍ट्रेच महसूस करें।
  • अपने शरीर का भार अपने हिप्स पर डालें और सुनिश्चित करें कि आपका झुकाव आपके पैरों के अंगूठे और हाथों की तरफ हो।
  • इस पोजीशन को थोड़ी देर होल्ड करने की कोशिश करें और फिर अपने पैरों एवं सीने को नीचे करके आराम करें। आराम से सीधे लेट जायें।
  • इस आसन को 3-4 बार दोहरायें या तब तक करें, जब तक आपको सहज महसूस हो रहा हो।

2. उष्ट्रासन
yoga for belly fat ustrasana

उष्ट्रासन या कैमल पोज वह आसन है, जिसमें आपके एब्डोमेन को बहुत अच्छा खिंचाव मिलता है और साथ ही इसमें आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा, पीठ और लोअर बैक मसल्स शामिल होते हैं। खुद को ढीला छोड़ने पर एक कम्फंर्टेबल स्ट्रेस मिलती है और आप इस आसन के लाभों का अनुभव करते हैं।

कैसे करें :

  • घुटनों के बल बैठ जायें और पीछे की ओर झुकें।
  • अब अपने हाथों से एड़ियों को छूने की कोशिश करें
  • गर्दन और सिर को पीछे की ओर झुकायें, अपने वेस्ट एरिया को हल्का सा पुश करें।
  • सामान्य तौर पर सांस लें और कुछ सेकेंड्स के लिये इस पोश्चर को बरकरार रखें।
  • एड़ियों से अपना हाथ हटायें, रिलैक्स करें और इस प्रक्रिया को फिर से दोहरायें। आपको जब तक सहज महसूस हो इस आसन को दोहरायें।

3. भुजंगासन
yoga for belly fat bhujangasana

कोबरा पोज आपके लोअर बैक और आपके एब्डोमेन को एक अच्छी डीप स्ट्रेच देता है। कोबरा पोज से आपके शरीर की मजबूत बढ़ती है और दृढ़ इच्छाशक्ति को भी बल मिलता है। कोबरा आपके अपर थाइज को भी एक अच्छा स्ट्रेच देता है।

कैसे करें :

  • अपने पेट के बल लेट जायें, और अपने सिर को जमीन पर रखें।
  • अपने दोनों पैरों को मिलाकर सीधा रखें और पैरों के ऊपरी हिस्से को जमीन से टच करने दें।
  • अपने हाथों को अपने कंधे के सीध में रखें, कोहनियों को शरीर के पास रखें और अपने कंधों को ऊपर एवं पीछे की तरफ करें।
  • अपने पैरों को जमीन से सटाकर रखते हुये, सांस लें और अपने सीने एवं सिर को जमीन से उठायें, अपने सीनें को चौड़ा करें।
  • आप अपने कोहनियों को थोड़ा मोड़ सकती हैं, ताकि अपने बॉडी वेट को सही तरीके से बैलेंस करते हुए ऐडजस्ट कर सकें।
  • इस पोश्चर को थोड़े समय तक होल्ड करें, और फिर कंधे को रिलैक्स करें।
  • पोश्चर को रिलीज करें, थोडा रुकें और जब तक आप सहज महसूस कर सकते हैं, इस प्रक्रिया को दोहरायें।


 
सूर्य नमस्कार- आप सूर्य नमस्कार भी कर सकती हैं : 12 स्टेप सूर्य नमस्कार आपके शरीर को वॉर्मअप करने और पूरी बॉडी को स्ट्रेच करने का एक बेहतरीन तरीका है। इस सीक्वेंस में कोर और ऐब्डोमिनल मसल्स‍ शामिल होते हैं और इससे बेली फैट बर्न होता है। सुबह-सुबह सूर्य नमस्कार करने से आपके निश्चित रूप से मानसिक सुकून मिलता है और साथ ही यह बेली फैट का दुश्मन भी है।
 
मार्जरीआसन– कैट-काउ पोज एक रिलैक्सिंग स्ट्रेच है, जो आपकी बॉडी को रिलैक्स करते हैं। इसमें प्रत्येक मूवमेंट में आपके कोर और एब्डोमिनल मसल्स शामिल होते हैं। यह वैरिएशन आपको रिलैक्स‍ होने और फिर से नया जीवन पाने में सक्षम बनाता है, और साथ ही आप अपने वजन को भी कम कर पायेंगे। बेली फैट घटाने में ये कारगर होते हैं।



आपका बेली फैट कई लक्ष्यों को पाने में एक बाधा बन सकता है, फिर चाहे वो पर्सनल हो या प्रोफेशनल। लक्षित समाधान, अनुशासन और समर्पण से आपकी शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्थिति बदल सकती है, जिससे आप फिट बनेंगे। आपके इस सफर के लिये आपको ढेर सारी शुभकामनायें।

Loading...
Loading...