योग तन और मन को दुरुस्‍त रखने में मदद करता है इसलिए रोजाना योग करने की सलाह दी जाती है। जी हां योग से मन शांत होता है, मसल्‍स टोन होती हैं और यह बढ़ते वजन को कंट्रोल में रखता है। योग के माध्यम से शरीर के विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और आप हेल्‍दी और सुंदर दिखाई देते हैं। इसके अलावा योग करने से ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार होता है जिससे त्वचा के सतह तक पर्याप्त मात्रा में ब्‍लड का फ्लो होता है जिससे त्वचा सुंदर और निखरी दिखाई देती हैं। 

इसलिए हम आपको समय-समय पर योग के बारे में बताते रहते हैं ताकि इसे आप अपने फिटनेस रूटीन में शामिल करके खुद को फिट, हेल्‍दी और सुंदर बना सकें। आज हम आपको पादहस्तासन योग के बारे में बता रहे हैं। इसे कैसे करना चाहिए और इसके फायदे क्‍या-क्‍या है? इस बारे में हमें योग गुरू नेहा जी बता रही हैं।  योगा गुरु नेहा, द योग गुरु तथा वुमेन हेल्‍थ रिसर्च फाउंडेशन (ट्रस्‍ट) की संस्‍थापक हैं। आइए इस योग के बारे में इस आर्टिकल के माध्‍यम से विस्‍तार से जानें।   

पादहस्‍तासन

padahastasana health inside

पादहस्तासन शब्द तीन शब्दों से मिलकर बना है। इसका पहला शब्‍द 'पाद' जिसका अर्थ 'पैर' होता है, दूसरा शब्द 'हस्त्' जिसका अर्थ 'हाथ' है और तीसरा शब्द 'आसन' जिसका अर्थ 'मुद्रा' होता है। पादहस्तासन योग में खड़े होकर आगे की ओर झुका जाता है और अपने दोनों हाथों से पैर को छूना पड़ता है। यह सूर्य नमस्कार में शामिल 12 योग में तीसरी मुद्रा भी है। पादहस्तासन योग पेट की चर्बी को कम करने, डाइजेशन संबंधी समस्याओं को ठीक करने, तनाव को कम करने और जांघ की मसल्‍स पर स्‍ट्रेच देने में मदद करता है। इसे अलावा यह हमारे शरीर को कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मदद करता हैं और आपके बालों और चेहरे को भी सुंदर बनाता है।

इसे जरूर पढ़ें:40 की उम्र की हर महिला को ये 3 योगासन करने चाहिए, रहेंगी फिट और जवां

पादहस्‍तासन करने का तरीका 

padahastasana health inside

  • इसे करने के लिए मैट पर सीधी खड़ी हो जाएं। 
  • फिर ताड़ासन में खड़ी हो जाएं।
  • अब दोनों हाथों को धीरे-धीरे सिर के ऊपर ले जाएं।
  • फिर सांस को बाहर की ओर छोड़ते हुए कमर के हिस्‍से से शरीर को मोड़ते हुए नीचे की ओर झुक जाएं।
  • ध्यान रखे कि ऊपर के हिस्से को सीधा रखें बस कमर के हिस्‍से से ही मुड़ें।
  • अपने दोनों हाथों से पैरों को छूने की को‍शिश करें।
  • सिर को अपने घुटने पर लगाने की को‍शिश करें।
  • अपनी क्षमतानुसार इस मुद्रा में कुछ सेकंड के लिए रहें और 5-6 बार सांस लें।
  • अब पहली मुद्रा में आने के लिए सांसों को अन्दर लेते हुए कमर को धीरे-धीरे सीधा करते जाएं।

Recommended Video

पादहस्‍तासन के फायदे

padahastasana health QUOTE GRAPHIC

  • योगा गुरु नेहा जी का कहना है कि ''इस योग को करने से ब्‍लड का फ्लो शरीर के निचले हिस्‍से के साथ-साथ ऊपरी हिस्‍से में भी बढ़ता है। ऐसा तब होता है जब आप आगे की तरफ झुकती हैं। इससे शरीर के ऊपर के अंग जैसे हार्ट, ब्रेन, किडनी और लिवर, इन सभी के भी यह आसन बहुत अच्‍छा होता है।'' 
  • जिन महिलाओं को बालों के झड़ने की शिकायत बहुत ज्‍यादा होती है, बाल समय से पहले सफेद हो जाते हैं और डैंड्रफ या जुओं की समस्‍या होती है। उनके लिए भी यह योग बहुत अच्‍छा होता है क्‍योंकि इसमें ब्‍लड की सप्‍लाई बढ़ जाती है जिससे उनको बालों में फर्क महसूस होता है।
  • यह योग माइग्रेन से परेशान महिलाओं के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। रोजाना इसे करने से माइग्रेन की समस्‍या से छुटकारा मिलता है। लेकिन जिन्‍हें माइग्रेन का दर्द बहुत ज्‍यादा होता है उन्‍हें इसे करने से बचना चाहिए।     
  • तनाव को कम करनेके लिए पादहस्तासन योग बहुत ही फायदेमंद होता है। यह तनाव को कम करके मन को शांति देता है।
  • अगर आप पादहस्तासन योग करती हैं तो इससे आपके पेट की मालिश होती हैं और यह पेट के कामों को बेहतर हैं। इससे डाइजेशन में सुधार होता है। 

आप भी इस योग को रोजाना करके हेल्‍थ से जुड़े ये 5 फायदे पा सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com