पेट में दर्द हो या दांत में, दादी मां हमेशा हमें किचन में मौजूद चीजों को लेने की सलाह देती हैं। हमारे घर के बुजुर्गों के पास हमारी हर समस्‍या का समाधान मिल जाता है। यह उपाय रामबाण की तरह काम करते हैं और समस्‍याओं को नेचुरली आसानी से दूर कर देते हैं। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ छोटी-छोटी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने वाले दादी मां के बताए नुस्‍खे लेकर आए हैं। इन नुस्‍खों को आप अपनी किचन में मौजूद चीजों के इस्‍तेमाल से कर सकती हैं।     

जी हां किचन में मौजूद मसाले खाने का स्‍वाद बढ़ाने के साथ-साथ इम्‍यूनिटी और वेट लॉस को बढ़ावा देने, त्‍वचा के स्‍वास्‍थ्‍य और पाचन में सुधार करने और एंटी-ऑक्‍सीडेंट से भी समृद्ध है। मेरी दादी मां ने शरीर को ठीक करने के लिए विभिन्न मसालों का उपयोग करने के अद्भुत तरीके बताए हैं जो आज मैं आपके साथ शेयर कर रही हूं। मुझे उम्‍मीद है कि इनका इस्‍तेमाल करके आपको भी बहुत फर्क महसूस होगा।

कटने और जलने पर मरहम है हल्दी

turmeric for health inside

कटने, ब्‍लीडिंग को रोकने या जलने का इलाज करने के लिए सबसे अच्‍छा उपायों में से एक है उस जगह पर हल्‍दी को छिड़कना। इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक गुण घावों को नेचुरल तरीके से भरता है।

इसे जरूर पढ़ें:मसाला ही नहीं औषधि भी है दालचीनी, कुछ ही दिनों में करती हैं वेट कंट्रोल

इस्‍तेमाल का तरीका

  • थोड़े से सरसों के तेल में आधा चम्‍मच हल्‍दी मिलाएं। 
  • इसे घाव पर लगाएं और कुछ देर के लिए ऐसे ही छोड़ दें।

कोल्‍ड और कफ के लिए जादुई है काली मिर्च

black pepper inside

काली मिर्च की चाय आपको कई तरह के स्वास्थ्य लाभ देती है। यह सर्दी, खांसी और सूजन से राहत देने में मदद करती है। यह ब्‍लड शुगर को नियंत्रित करने में भी मदद करती है और नियमित रूप से काली मिर्च की चाय का सेवन आपके संपूर्ण हेल्‍थ के लिए अच्छा होता है।

इस्‍तेमाल का तरीका

  • एक कप पानी में 2 चुटकी हल्‍दी पाउडर और 5-6 काली मिर्च मिलाएं। 
  • इसे 5 मिनट के लिए धीमी आंच पर उबालें। कोल्‍ड और कफ से बचने के लिए इसे गर्म पीएं।

सांसों की बदबू का रामबाण इलाज है दालचीनी

dalchini for health

दालचीनी का इस्‍तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। साथ ही यह वजन कम करने में भी मदद करता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि सांस की बदबू के इलाज के लिए दालचीनी सबसे अच्छे प्राकृतिक उपचारों में से एक है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण बदबू पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को मारते हैं।

इस्‍तेमाल का तरीका

  • एक कप पानी में एक चम्मच शहद के साथ 1/2 छोटा चम्‍मच दालचीनी मिलाकर दालचीनी माउथवॉश बनाएं। 
  • अपनी सांसों को ताज़ा करने के लिए दिन में एक बार इस माउथवॉश से कुल्ला करें।

सिरदर्द को छूमंतर करता है अदरक

ginger for health inside

अदरक सेहत के लिए बहुत अच्‍छा होता है। इससे न केवल पेट दर्द और कोल्‍ड और कफ को दूर किया जा सकता है बल्कि आपको सिरदर्द की समस्‍या से भी निजात दिलाता है। ऐसा इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण के कारण होता है। साथ ही कई बार सिरदर्द ब्लड फ्लो ठीक ना होने के कारण होता है। ऐसे में अदरक का रस ब्‍ल्‍ड को बैलेंस करने का काम करता है।

इस्‍तेमाल का तरीका 

  • सिरदर्द से राहत पानेे के लिए अदरक की चाय बनाएं।
  • इसके लिए एक कप पानी में 1 चम्‍मच कद्दूकस की हुई अदरक डालकर उबाल लें। 
  • गैस से इसे उतारें और 1 बड़ा चम्मच नींबू के रस में मिलाएं। 
  • फिर अदरक की चाय में एक चुटकी हिमालयन गुलाबी नमक मिलाएं। 
  • माइग्रेन से होने वाले सिरदर्द को शांत करने के लिए इसे गर्मा-गर्म घूंट करके पिएं।

जीरे से वजन घटाएं

cumin seeds for health inside

विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर जीरा डाइजेशन को बेहतर बनाने और पेट संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि इससे आप अपने वजन को तेजी से कम कर सकती हैं। यह मेटाबॉलिज्‍म को तेज और डाइजेशन में सुधार करके कैलोरी को जलाने में मदद करता है।

इस्‍तेमाल का तरीका

  • एक कप पानी में एक चम्मच जीरा डालकर रात भर छोड़ दें। 
  • वेट लॉस के लिए सुबह इस पानी को पीएं।

दांत का दर्द दूर भगाए लौंग

clove for health inside

आपने देखा होगा कि जब भी हमारे दांत में दर्द होता है तो दादी मां हमें दांत में लौंग दबाने के लिए कहती हैं और ऐसा करने के कुछ देर बाद ही दांत का दर्द दूर भाग जाता है। ऐसा इसलिए लौंग में एक्टिव तत्व होता है जिसे यूजेनॉल के रूप में जाना जाता है, जो दांत दर्द को शांत करने के लिए एक प्राकृतिक संवेदनाहारी है।

इस्‍तेमाल का तरीका

  • दांत के दर्द से बचने के लिए लौंग का माउथवॉश बनाएं। 
  • इसके लिए एक कप पानी में 10-12 लौंग डालकर कुछ देर के लिए उबालें। 
  • फिर इसे छानकर रख लें। 
  • दांत दर्द को कम करने और प्‍लाक से बचने के लिए बिस्तर पर जाने से पहले इससे कुल्‍ला करें।

Recommended Video

पेट दर्द के लिए अजवाइन

ajwain for health

भारतीय मसाले अजवाइन का उपयोग हर घर में सालों से होता आ रहा है। जिसकी तेज खुश्बू खाने के स्‍वाद को बढ़ा देती है। अजवाइन एसिडिटी, ब्लॉटिंग, अपच, पेट में दर्द या पेट फूलने जैसी डाइजेशन संबंधी समस्याओं में मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें: दर्द को छूमंतर कर देंगे किचन में छिपे ये 10 पेनकिलर

इस्‍तेमाल का तरीका

  • एक कप गर्म पानी में 1/2 टीस्पून अजवाइन के बीज मिलाएं। 
  • इसे 5 मिनट के लिए उबाल लें। 
  • तनाव और सूजन को शांत करने के लिए इस पानी को लें।

दादी-मां के इन नुस्‍खों को अपनाकर आप भी अपनी छोटी-छोटी समस्‍याओं को दूर कर सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com