सांसों से आती बदबू किसी को भी पसंद नहीं होती है। ऐसे में हम माउथवॉश का इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन बाजार में मिलने वाले माउथवॉश में अननेचुरल फ्लेवर देने वाले तत्‍व और अल्कोहल की मात्रा होती है जो मुंह में मौजूद नेचुरल पीएच लेवल को बिगाड़ देते है। साथ ही ये बहुत कठोर भी हैं, जो सेंसिटिविटी से परेशान लोगों के लिए विकल्प नहीं है।

लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि यह छोटी सा घरेलू उपाय आपके सांसों से आने वाली बदबू को दूर कर सकता है। जी हां किचन में मौजूद चीजों की मदद से आप आसानी से राहत पा सकती हैं, जो ना केवल सुपर प्रभावी है, बल्कि कोमल भी है। जी हां हम नारियल तेल, नमक और पुदीना से बने इस DIY माउथवॉश के बारे में बात कर रहे हैं जो सुपर हेल्‍दी भी है।

इसे जरूर पढ़ें: मुंह की बदबू से हैं परेशान तो आजमाएं दादी मां के ये 5 नुस्‍खे

mouthwash for bad breath problem inside

नेचुरल माउथवॉश के लिए सामग्री

  • पानी - 2 कप
  • नारियल का तेल- 2 बड़े चम्मच
  • सेंधा नमक- 1 चुटकी
  • पेपरमिंट आवश्यक तेल- 3-4 बड़े चम्मच

बनाने का तरीका

  • एक ग्लास कंटेनर में सामग्री मिलाकर, नमक के घुलने तक अच्छी तरह हिलाएं।
  • अगर नारियल का तेल जम गया है, तो आप गर्म पानी के नीचे ग्लास जार रख सकती हैं।
अगर आप सांसों की बदबू को दूर करने के लिए न‍ारियल तेल घर बैठे खरीदना चाहती हैं तो अच्‍छी क्‍वालिटी का नारियल तेल आप ऑफर प्राइस में यहां से 189 रुपये में खरीद सकती हैं
mouthwash for bad breath problem inside

इसे कैसे इस्‍तेमाल करें? 

इस होममेड माउथवॉश से 30 सेकंड के लिए से गार्गल करें और फिर इसे थूक दें। सुबह या जब भी आप दिन भर में अपनी सांस को तरोताजा करना चाहते हैं,तो इसका इस्‍तेमाल करें। लेकिन अगर आप घर में माउथवॉश नहीं बनाना चाहती हैं तो घर बैठे अच्‍छी क्‍वालिटी का माउथवॉश 249 रुपये के डिस्‍काउंट रेट पर यहां से खरीद सकती हैं

यह आपकी कैसे हेल्‍प करता है? 

एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी, टॉक्सिन-फ्री, सस्ता माउथवॉश बिना किसी केमिकल के आपके दांतों की हेल्‍थ और मसूड़ों को सुरक्षा प्रदान करता है। इस माउथवॉश में इस्‍तेमाल होने वाले सभी तत्‍व नेचुरल हाइजीन प्रोटेक्‍टर हैं। विशेष रूप से, नारियल तेल की सबसे अहम भूमिका है। नारियल तेल का इस्तेमाल न केवल हम ऑयल पुलिंग के लिए कर सकते हैं बल्कि इसका रेगुरल इस्‍तेमाल करने से आपके दांतों की हेल्‍थ भी अच्‍छी रहती है। यह बैक्टीरिया और जर्म्‍स को दूर करने में बहुत मददगार है, कैविटीज़ को बनने से रोकता है।

इसे जरूर पढ़ें: प्याज-लहसुन खाने के बाद मुंह से आ रही बदबू को मिटाएंगे ये 5 घरेलू नुस्खे

mouthwash for bad breath problem inside

गुड फैटी एसिड वाले गुण के कारण नारियल का तेल बनाए रखने में हेल्‍प करता है। यह एंटीमाइक्रोबील गुणों से भरपूर होता है जो जर्म्‍स को दूर रखता है। रेगुलर इस्‍तेमाल किए जाने पर यह जिंजिवाइटिस और मुंह से दुर्गंध (बुरी सांस) को भी रोकता है जो बैक्टीरिया के फैलने पर होता है। माउथवॉश में नमक भी ओरल हेल्‍थ के लिए अच्‍छा होता है। नमक मुंह में पीएच लेवल को बढ़ा सकता है और एक क्षारीय वातावरण बना सकता है जिससे बैक्टीरिया के लिए जिंदा रहना मुश्किल हो जाता है।



माउथवॉश में पेपरमिंट एक्सट्रैक्ट के होने से प्‍लॉक से छुटकारा मिलता है और यह सुनिश्चित करता है कि आपकी सांसे लंबे समय तक ताजा रहें। यह प्रभावी रूप से कीटाणुओं और रोगाणुओं को भी मारता है। मेन्थॉल, पेपरमिंट ऑयल में मौजूद एक आवश्यक घटक है जो सांसों से आने वाली बदबू को दूर करता है।  इसके अलावा, पुदीना में पोटेशियम, मैग्नीशियम, और कैल्शियम जैसे पोषक तत्व भी होते हैं जो दांतों को मजबूत बनाए रखने में मदद करते हैं।