• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

झाइयां के कारण दिखने लगी हैं बूढ़ी, शरीर में हो सकती है इन चीजों की कमी

क्‍या आप झाइयों के कारण उम्र से बड़ी दिखती हैं तो सकता है कि आपके शरीर में इन 3 विटामिन्‍स की कमी हो। 
author-profile
Published -12 Sep 2022, 17:18 ISTUpdated -13 Sep 2022, 10:38 IST
Next
Article
vitamin deficiency cause pigmentation hindi

क्या आप झाइयों से परेशान हैं?
क्या आप बिना किसी अच्‍छे रिजल्‍ट के हजारों प्रोडक्‍ट्स को आजमाकर थक गई हैं?
अब समय आ गया है कि आप समझें कि समस्या अंदरूनी है और त्‍वचा की झाइयों के इलाज में आपकी डाइट की महत्वपूर्ण भूमिका है।

लगभग सभी स्किन केयर प्रोडक्‍ट्स में विटामिन्‍स का इस्‍तेमाल किया जाता है और निश्चित रूप से इसमें झाइयों को कंट्रोल करने की क्षमता होती है। तो, क्यों न समझें कि यह समस्‍या शरीर में किन विटामिन्‍स की कमी से होती है। आज इस आर्टिकल के माध्‍यम से हम देखेंगे कि विटामिन्‍स की कमी हाइपरपिग्मेंटेशन की समस्‍या को कैसे बढ़ाती हैं।

झाइयों के लिए विटामिन्‍स कैसे काम करते हैं?

झाइयों की समस्‍या तब होती है जब हमारी त्वचा में मेलेनिन का लेवल बढ़ जाता है। कई कारण आपके मेलेनिन उत्पादन को प्रभावित कर सकते हैं और झाइयों का कारण बन सकते हैं। आपकी त्वचा में बढ़े हुए मेलेनिन को प्रभावित करने वाले कुछ कारकों में आपकी उम्र, हार्मोन, त्वचा की समस्याएं, सूर्य के संपर्क में आना, आहार की कमी या अन्‍य कोई बीमारी आदि शामिल हैं।

मेलेनिन उत्पादन को कम करने वाले विटामिन त्वचा की टोन और बनावट में सुधार करने का एक प्रभावी तरीका है। जब आप सही मात्रा में सही विटामिन्‍स का उपयोग करती हैं, तब वे कुछ ही समय में अद्भुत काम करते हैं। 

विटामिन तेजी से त्वचा कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा देते हैं और सेल स्वास्थ्य में सुधार करते हैं। वे त्वचा में कोलेजन के उत्पादन को भी बढ़ावा देते हैं, जो बदले में त्वचा की लोच में सुधार करता है और फाइन लाइन्‍स को कम करता है। यह त्वचा को शाइनी दिखने में भी मदद करता है।

pigmentation signs in hindi

1. विटामिन-सी

विटामिन-सी का इस्तेमाल करने के कई फायदों के बारे में आपने सुना होगा। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर, इस विटामिन में एंटी-एजिंग लाभ होते हैं जो त्वचा के ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करते हैं और आपको स्‍मूथ, शाइनी और यहां तक कि त्वचा की टोन प्राप्त करने में मदद करते हैं। यह त्वचा में कोलेजन के उत्पादन में सुधार के अलावा फाइन लाइन्‍स और झुर्रियों को कम करता है।

लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि झाइयों के लिए विटामिन-सी सभी प्रकार की त्वचा पर सबसे अच्छी तरह काम करता है। यह लालिमा, खुजली और झुर्रीदारपन को दूर रखता है। यह आपके अंडर-आई सर्कल्‍स और पफीनेस को भी कम करता है। सन एक्सपोजर और इससे होने वाला त्वचा का डैमेज हाइपरपिग्मेंटेशन का एक प्रमुख कारण है। 

विटामिन-सी सबसे जरूरी सन प्रोटेक्‍शन प्रदान करता है और त्वचा को लंबे समय तक हाइड्रेटेड रखता है। इसलिए, यह अधिकांश सनस्क्रीन का भी हिस्सा है।

इसे जरूर पढ़ें:चेहरे की झाइयों से छुटकारा पाने के लिए ये 7 आसान टिप्‍स अपनाएं

2.  विटामिन-ई

विटामिन-ई आपकी त्वचा के हेल्‍थ के लिए सबसे अच्छे विटामिन्‍स में से एक है। साथ ही यह सबसे शक्तिशाली विटामिन है जो आपकी त्वचा पर मेलेनिन उत्पादन को कम करता है। कई स्किन केयर प्रोडक्‍ट्स में झाइयों को कंट्रोल करने की क्षमता के लिए विटामिन ई शामिल है। इसकी कमी से चेहरे पर समस्‍या दिखाई देने लगती है।

पिगमेंटेशन के लिए विटामिन-ई सबसे अच्छी तरह काम करता है। यह विटामिन एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जो आपकी त्वचा पर पफीनेस, झुर्रियां और झाइयां दिखने को कम करता है। झाइयों के लिए होंठों के आस-पास विटामिन-ई का उपयोग भी अच्‍छे रिजल्‍ट प्रदान करता है। यही कारण है कि अधिकांश स्किन केयर प्रोडक्‍ट्स में यह विटामिन होता है।

pigmentation causes

3. विटामिन-ए

एक और विटामिन जिसकी कमी से झाइयों की समस्‍याहो सकती है। वह विटामिन-ए है। यह त्वचा में टायरोसिनेस के लेवल को नियंत्रित करता है। टायरोसिनेस एक एंजाइम है जो हमारी त्वचा में मेलेनिन उत्पादन को प्रभावित करता है। इस एंजाइम और इसकी एक्टिविटी को कंट्रोल करके, विटामिन-ए हाइपरपिग्मेंटेशन को 70% तक कम करने में मदद कर सकता है।

विटामिन-ए झुर्रियों और ढीली त्वचा को रोकने के अलावा आपकी त्वचा को बेदाग और सॉफ्ट बनाता है। यह आपके पोर्स के साइज को कम करने और नई कोशिका वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए भी जाना जाता है।

इसे जरूर पढ़ें:इन 5 गलतियों की वजह से नहीं खत्म हो पाता है चेहरे का पिगमेंटेशन

न सिर्फ झाइयों बल्कि कई अन्य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के इलाज में भी विटामिन बेहद प्रभावी हैं। विटामिन जो मेलेनिन उत्पादन को कम करते हैं, आपकी त्वचा को ड्राईनेस, पैचनेस, लालिमा जैसे अन्य समस्‍याओं से निपटने में भी मदद करते हैं। यदि आप अपने भोजन से पर्याप्त विटामिन नहीं लेती हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप डॉक्टर से परामर्श करने के बाद विटामिन की कमी के लिए सप्‍लीमेंट लें।

इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही कमेंट भी करें। हेल्‍थ से जुड़े ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Shutterstock & Freepik 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।