नमक हमारी बॉडी के लिये बहुत जरूरी है। बावजूद इसके हम सही नमक नहीं खातेे है। यह बात शायद आपको आश्चर्यजनक लगे, लेकिन यह एक हकीकत है। सिर्फ आयोडीन के चक्कर में ज्यादा नमक खाना समझदारी नहीं है, क्योंकि आयोडीन हमें आलू, अरबी के साथ-साथ हरी सब्जियों से भी आसानी से मिल जाता है। आमतौर पर महिलाएं व्रत के दौरान ही सेंधा नमक का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि इसे अपनी डेली डाइट में शामिल करना चाहिए क्‍योंकि सेंधा नमक आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। ये केमिकल, मैग्नीशियम सल्फे‍ट से बना है। मैग्नेशियम, मानव सेल्‍स के घटकों में से एक है, और लगभग 325 एंजाइमों को विनियमित करने के लिए बॉडी के लिए जरूरी होते है और कई शारीरिक कार्यों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।


मैग्नीशियम की कमी को हाई ब्‍लडप्रेशर, हड्डियों की कमजोरी और सिरदर्द जैसी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स हो सकती है। सल्फेट ब्रेन टिश्‍यु के गठन और बॉडी द्वारा पोषक तत्वों के अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही यह डिटॉक्सीफिकेशन प्रक्रिया में भी हेल्‍प करता है। मैग्नीशियम सल्फेट का त्वचा के माध्यम से अवशोषण किया जा सकता है। सेंधा नमक का इस्तेमाल बाहरी और आंतरिक दोनों रूपों में किया जा सकता है। इसके अलावा इसका रोजाना इस्तेमाल करने से शरीर की कई बीमारियां दूर रहती है। आइए इससे मिलने वाले फायदों के बारे में जानिए।

इसे जरूर पढ़ें: एक चुटकी नमक, खाने के स्वाद के साथ आपकी खूबसूरती भी निखारेगा

स्‍ट्रेस कम करें
stress health in

स्‍ट्रेस को कम करने में सेंधा नमक बहुत फायदेमंद होता है। स्‍ट्रेस के दौरान बॉडी से मैग्नीशियम निकलने और एड्रेनालाईन का लेवल बढ़ने लगता है। और मैग्‍नीशियम मूड को बनाने वाले सेरोटोनिन केमिकल को रिलीज और तेज करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस तरह यह घबराहट, चिड़चिड़ापन और अनिद्रा को दूर कर आपको राहत देता है। स्‍ट्रेस होने पर नहाने के गुनगुने पानी में एक कप सेंधा नमक मिला लें। फिर इस पानी में 20 मिनट तक नहाएं। ऐसा करने से आप ज्यादा सुकून और बेहतर नींद महसूस करने लगेंगी। एक हफ्ते में तीन बार सेंधा नमक के पानी से नहाने से आप स्‍ट्रेस फ्री हो जायेगी।

हार्ट हेल्‍थ के लिए अच्‍छा 

सेंधा नमक हार्ट हेल्‍थ के लिए भी बहुत उपयोगी होता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम नॉर्मल हार्ट बीट और वेसल्‍स को हेल्‍दी बनाए रखने में मदद करता है। वेसल्‍स के हेल्‍दी होने पर ब्‍लड क्‍लॉट, प्लॉक के बनने, धमनियों की दीवारों के नुकसान का जोखिम भी कम होता है। इसके अलावा, सेंधा नमक ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार में मदद करता है, जिससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा भी कम होता है।

दर्द करें दूर
joint pain salt in

सेंधा नमक दर्द और सूजन को दूर करने में भी आपकी हेल्‍प कर सकता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम बॉडी में पीएच लेवल को विनियमित करने में हेल्‍प करता है। यह अर्थराइटिस के किसी भी रूप से जुड़े जकड़न, सूजन और दर्द को कम करने में हेल्‍प करता है। साथ ही यह बोन मिनरल के रूप में भी हेल्‍प करता है। इसके अलावा, सेंधा नमक नर्वस की कार्यक्षमता को बढ़ावा देने और नर्वस पेन में आराम देता है। दर्द दूर करने के लिए आप गुनगुने पानी में 2 चम्मच सेंधा नमक मिला लें। फिर शरीर के दर्द वाले हिस्‍से को इस पानी में 20 से 30 मिनट तक डालें। इस उपाय को हफ्ते में तीन बार करने से लाभ मिलता है। 

Recommended Video

डिटॉक्सीफिकेशन में मददगार

सेंधा नमक शरीर से विषाक्तं पदार्थों को नष्ट करने में हेल्‍प करता है। यह विषाक्त पदार्थ हेल्‍थ के लिए खतरनाक होते हैं। सेंधा नमक में मौजूद मैग्नीशियम सेल्‍स डिटॉक्स के लिए जरूरी होता है। एक आरामदेह डिटॉक्सि स्नासन का आनंद लेने के लिए आप गुनगुने पानी से भरे बाथटब में 1 से 2 कप सेंधा नमक मिलाकर 10 से 15 मिनट के लिए नहाएं। इस उपाय को हफ्ते में 2 से 3 बार करना चाहिए। 

डाइजेशन में सुधार
healthy stomach health in

बॉडी और डाइजेशन सिस्‍टम से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को कम करने में सेंधा नमक आपकी हेल्‍प करता है। यह रेचक के रूप में काम कर मल को नर्म कर आसानी से पारित करने और कब्ज के इलाज में मदद करता है। एक कप गर्म पानी में 1 चम्मच सेंधा नमक डालकर दिन में एक बार खाली पेट पीना चाहिए। लेकिन आंतरिक रूप से इसे ज्यादा लेने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल जलन, दस्त, मतली और उल्टी सहित कुछ साइड इफेक्ट, पैदा कर सकता है। इसके अलावा, सेंधा नमक से स्नान करने से वॉटर रिटेंशन और पेट की सूजन को कम करने में मदद मिलती है। सेंधा नमक प्रभावी ढंग से डाइजेशन और स्‍लाइवा जूस को हेल्‍दी बनाए रखता है। आप सामान्य नमक की बजाय अपने खाने में सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते है।

मसल्‍स की ऐंठन से छुटकारा

सेंधा नमक वर्कआउट के बाद मसल्‍स में ऐंठन और दर्द के इलाज के लिए बहुत मददगार होती है। मैग्नीशियम प्रभावी ढंग से दर्द आसान बनाता है और सूजन को कम करता है। साथ ही मसल्‍स को स्‍ट्रेस फ्री करने में भी मदद करता है। इसके लिए आप सेंधा नमक में थोड़ा सा गर्म पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट‍ बना लें। फिर इस पेस्ट को प्रभावित हिस्‍से में 15 से 20 मिनट के लिए लगाये। अन्य विकल्प के रूप में नमक मिले गुनगुने पानी से कम से कम 20 मिनट के लिए नहाएं। इसके लिए एक गुनगुने पानी के टब में एक कप सेंधा नमक मिलाये। 

इसे जरूर पढ़ें: बढ़ते मोटापे और diabetes का कारण ये 5 white foods तो नहीं

अन्‍य फायदे

  • आप शायद इस तथ्य को जानकर चौंक जाएं कि सेंधा नमक वजन कम करने में मदद करता हैं। ये बॉडी के फैट सेल्स को कम कर देता है।
  • सेंधा नमक में जरुरी मिनरल होते है जो आपके इम्यून सिस्टम को सुधारते हैं।
  • सेंधा नमक आपके दातों को सफेद करता और मुंह के फ्रेशनर के तौर पर इस्तेमाल होता है। आप खराश के लिए इस नमक से गार्गिल भी कर सकती है।
  • जब सेंधा नमक नींबू के जूस के साथ लिया जाता है तो पेट के कीड़ो से आराम मिलता है और उल्टियों को भी रोकता है।