क्‍या आपकी उम्र 45 साल है?
क्‍या आप बढ़ते वजन से परेशान हैं?
क्‍या आप वेट लॉस के लिए रोजाना एक्‍सरसाइज करती हैं?
लेकिन आपका वजन कम होने का नाम नहीं ले रहा है तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्‍योंकि आज हम आपके लिए 3 ऐसी एक्‍सरसाइज लेकर आए हैं जिनकी मदद से आप अपने वजन को आसानी से कम कर सकती हैं। 

हमारा उद्देश्‍य महिलाओं को फिट और एक्टिव बनाना है इसलिए हम समय-समय पर आपके लिए वेट लॉस करने वाली एक्‍सरसाइज लेकर आते हैं। कुछ दिनों पहले हमने आपको 50 में वेट लॉस के लिए की जाने वाली एक्‍सरसाइज के बारे में बताया था। आज हम आपके लिए 45 साल की उम्र की महिलाओं के स्‍पेशल एक्‍सरसाइज लेकर आए हैं। इन एक्‍सरसाइज के बारे में हमें फिटनेस एक्सपर्ट टीना चौधरी जी ने बताया है। इन एक्‍सरसाइज को करके आप अपना वजन तेजी से कम करके खुद को फिट रख सकती हैं।   

एक्‍सपर्ट की राय 

टीना चौधरी जी का कहना है कि ''45 साल की उम्र में भी महिलाएं वहीं एक्‍सरसाइज करती हैं जो 30 की उम्र की महिलाएं करती हैं। जबकि बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं के शरीर में कई तरह से बदलाव आते हैं। कई महिलाओं को इस उम्र में मेनोपॉज होने लगता है और हार्मोंस में बदलाव के कारण उन्‍हें वजन कम करने में मुश्किल आती है। इसलिए आपको इस ओर ध्‍यान देने की जरूरत होती है। महिलाओं को फिट रहने और वेट लॉस के लिए उम्र के हिसाब से ही एक्‍सरसाइज करनी चाहिए।'' 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Nutritionistteena (@nutritionistteena)

अगर आपकी उम्र 45 साल है तो आपको फिटनेस रूटीन में कुछ खास तरह की एक्‍सरसाइज को शामिल करना चाहिए। इसलिए आज हम 45 साल की उम्र की महिलाओं के लिए कुछ खास तरह की एक्‍सरसाइज लेकर आए हैं जिन्‍हें रोजाना करके आप आसानी से अपना वेट लॉस कर सकती हैं।

आपने देखा होगा कि बॉलीवुड एक्‍ट्रेस बढ़ती उम्र के साथ भी खुद को फिट और एक्टिव बनाए रख सकती हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि वह खुद को फिट रखने के लिए उम्र के हिसाब से एक्‍सरसाइज करती हैं। रवीना टंडन से लेकर शिल्‍पा शेट्टी और मलाइका अरोड़ा तक खुद को फिट रखने के लिए रोजाना एक्‍सरसाइज करती हैं। उनकी फिटनेस और ग्‍लोइंग त्‍वचा को देखकर कोई भी असली उम्र का अंदाजा नहीं लगा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:घर पर ही टांगे पतली करने के लिए ये 3 एक्सरसाइज करें

स्प्लिट जंप से स्‍कावट्स

jump squats inside

यह एक कार्डियो एक्‍सरसाइज है जिसे आप घर में आसानी से कर सकती हैं। अगर आप कहीं जा नहीं रही हैं तो आप घर में एक जगह पर खड़ी होकर इस एक्‍सरसाइज को पैरों को आगे-पीछे करके कर सकती हैं। आपको 10 स्प्लिट जंप के साथ एक स्‍कावट करना होगा। स्‍कावट्स एक बॉडी वेट एक्‍सरसाइज है जो हमारी मसल्‍स को टोन करती है। हमें लीन मसल्‍स मास देती है और वेट लॉस में मदद करती है। यह एक्‍सरसाइज सबसे अच्‍छी कार्डियो फंग्‍शनल ट्रेनिंग का उदाहरण है।  इस एक्सरसाइज की सबसे अच्‍छी बात यह है कि इसे करने के लिए आपको किसी उपकरण की भी जरूरत नहीं होती है।

स्प्लिट जंप से स्‍कावट्स करने का तरीका

  • इसे करने के लिए सबसे पहले सीधी खड़ी हो जाएं और हाथों को कमर पर टिका लें। 
  • पैरों को आगे पीछे की तरफ खोल कर कूदें। ऐसा करने पर आपका दायां पैर आगे और बाएं पैर पीछे की ओर होगा। 
  • ऐसा आगे-पीछे दोहराती रहें। इसके साथ ही स्‍कावट्स भी करें। यानि चेयर की पोजीशन में नीचे की ओर आकर बैठें। 
  • स्प्लिट जम्प एक कार्डियो एक्सरसाइज है जो सुबह के समय खाली पेट करनी चाहिए। ऐसा करने से यह बहुत ही असरदार साबित होती है।

ओपन टू क्‍लोज जंप स्‍कावट्स

open to close jump squat inside

यह भी एक कार्डियो एक्‍सरसाइज है जो वेट लॉस में आपकी मदद करती है और पैरों को टोन करने में आपकी मदद करती है। इससे आपके हिप्‍स भी सुडौल हो जाते हैंं। 

ओपन टू क्‍लोज जंप स्‍कावट्स करने का तरीका

  • इसमें आपको दो बार एक साथ स्कावट्स करना होगा। 
  • एक बार पैरों को जोड़कर फिर जंप करके पैरों को खोलकर स्कावट्स करें।
  • ऐसा आपको लगातार करना होगा।

Recommended Video

नीलिंग स्‍कावट्स

kneeling squats inside

यह एक्‍सरसाइज वजन कम करने में मदद करने के साथ-साथ घुटनों के लिए बहुत अच्छी होती है। बॉडी में फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ाती है। इससे टांगों के आगे का हिस्‍सा टोन होता है। साथ ही इससे कैलोरी बर्न होती है और बॉडी के निचले हिस्‍से को टोन करती है। इसके अलावा इस एक्‍सरसाइज से जो लीन मास बनता है वह वेट लॉस में मदद करता है। 

नीलिंग स्‍कावट्स करने का तरीका

  • इसके लिए एक मैट को रखकर उस पर बैठ जाएं। 
  • फिर अपने हाथों को सिर के पीछे रख दें और घुटनों के बल बैठ जाएं। 
  • अपने बाएं घुटने को फर्श पर रखें और अपने सामने के पैर की एड़ी रखें और दूसरे पैर को ऊपर उठाएं। 
  • पहले एक पैर के साथ घुटने को जमीन पर टिकाएं फिर दूसरे के साथ करें।
  • पैरों को स्विच करके करें। 

जो महिलाएं रेगुलर स्‍कावट्स करती हैं उनके घुटने बढ़ती उम्र के साथ खराब नहीं होते हैं। पहले हिंदी टॉयलेट होते थे लेकिन अब ज्‍यादातर महिलाएं इंग्लिश टॉयलेट का इस्‍तेमाल करती हैं जिससे उनकी बॉडी अकड़ने लगी है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि हिंदी टॉयलेट में स्‍कावट्स की पोजीशन में बैठने से उनकी एक्‍सरसाइज हो जाती थी। 

इसे जरूर पढ़ें:हिप्‍स की जिद्दी चर्बी से छुटकारा पाने के लिए रोजाना करें ये 3 एक्‍सरसाइज

इन एक्‍सरसाइज को करके आप भी स्‍वस्‍थ और पतली हो सकती हैं। अगर आपको एक्‍सरसाइज समझ में नहीं आ रही है कि किस तरह से करनी चाहिए तो आर्टिकल में एक्‍सपर्ट के इंस्‍टाग्राम वीडियो को देखकर आप आसानी से इस एक्‍सरसाइज को कर सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image credit: Freepik.com