• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

पेट की चर्बी बढ़ गई है तो 50+ महिलाएं करें ये 5 काम

मेनोपॉज के बाद आपके भी पेट की चर्बी बहुत ज्‍यादा बढ़ गई हैं तो इस आर्टिकल में बताए कुछ योगासन को आप भी रोजाना कुछ देर जरूर करें। 
Published -27 May 2022, 14:27 ISTUpdated -27 May 2022, 22:38 IST
author-profile
  • Pooja Sinha
  • Editorial
  • Published -27 May 2022, 14:27 ISTUpdated -27 May 2022, 22:38 IST
Next
Article
belly fat  year old woman

पेट की चर्बी को कभी-कभी वृद्ध होने की कीमत माना जाता है। महिलाओं के लिए, यह मेनोपॉज के बाद विशेष रूप से सच हो सकता है, जब शरीर की चर्बी पेट में शिफ्ट हो जाती है। पेट की चर्बी बढ़ने से आपकी जींस को ज़िप करना मुश्किल हो जाता है। अनुसंधान से पता चलता है कि पेट की चर्बी भी गंभीर स्वास्थ्य जोखिम बढ़ा सकती है। लेकिन परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि आपके लिए अच्छी खबर है। पेट की चर्बी से उत्पन्न खतरों को कम किया जा सकता है।

जी हां, महिलाओं को बढ़ती उम्र में मेनोपॉज का सामना करना पड़ता है। मेनोपॉज के बाद शरीर में एस्‍ट्रोजन और लैक्‍टोजेन जैसे हार्मोन का बनना बंद हो जाता है जिससे शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं और महिलाओं का वजन भी तेजी से बढ़ता है खासकर पेट के आसपास चर्बी जमा होने लगती है। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि हमारे एक्‍सपर्ट आपको कुछ योगासन के बारे में बता रहे हैं जो मेनोपॉज के बाद बढ़ने वाली पेट की चर्बी को कम करने में 50 महिलाओं की मदद कर सकते हैं। 

मेनोपॉज के बाद पेट की चर्बी के लिए योग

अक्षर जी का कहना है, 'मेनोपॉज के दौरान शरीर के वजन में उतार-चढ़ाव, मूड स्विंग, बालों का झड़ना आदि जैसे हार्मोन से संबंधित परिवर्तनों के समुद्र से गुजरता है। इस समय, योग अभ्यास के विभिन्न पहलुओं में आसन, प्राणायाम, ध्यान आदि शामिल हैं जो वजन बनाए रखने में मदद कर सकते हैं और अच्छा स्वास्थ्य भी देते हैं। इम्‍यूनिटी में सुधार, शरीर को मजबूत और टोन करने और लचीला बनने के लिए निम्न आसनों का अभ्यास करना चाहिए। यह खुद को डिटॉक्सीफाई करने के साधन के रूप में भी काम करता है।

योग वाक/सिद्ध वाक

सिद्ध वॉक को इन्फिनिटी वॉक, योगा वॉक और माइंड वॉक जैसे अन्य नामों से भी जाना जाता है। यह एक प्राचीन योगाभ्यास है जो तन और मन के लिए असंख्य लाभ प्रदान कराते है। पहले 8 की आकृति में दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर चलना होगा और फिर अगले चक्कर के लिए दिशा बदलनी होगी। इसे दोनों दिशाओं में 21 मिनट तक करना है।

पेट की चर्बी के लिए योगासन

नौकासन - नाव मुद्रा

Naukasana for belly fat

  • इसे करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं।
  • संतुलन बनाने के लिए अपने ऊपरी और निचले शरीर को ऊपर उठाएं।
  • आपके पैर की उंगलियां आपकी आंखों के साथ संरेखित होनी चाहिए।
  • अपने घुटनों और पीठ को सीधा रखें।
  • अपनी बाजुओं को जमीन के समानांतर रखें और आगे की ओर इशारा करें।
  • अपने पेट की मसल्‍सको टाइट कर लें।
  • अपनी पीठ को सीधा करें। 
  • सामान्य रूप से श्वास लें और छोड़ें।

संतुलानासन - प्लैंक पोज

Santolanasana for belly fat

  • टेबल टॉप पोज़ या मार्जरी आसन में शुरू करें या पादहस्तासन से वापस जंप करें।
  • अपने घुटनों को सीधा करें। 
  • कंधों के नीचे हथेलियों और कूल्हों के नीचे घुटनों का संरेखण बनाए रखें।
  • दोनों बाजुओं को सीधा रखें।
  • अपने पेट की मसल्‍स को संलग्न करें।

पादस्थानासन- हाथ से पैर की मुद्रा

  • इसे समस्ती से प्रारंभ करें।
  • सांस छोड़ें और आगे की ओर मुड़ें।
  • कूल्हे से झुकें और अपने पेट को अपनी जांघों के करीब लाने की कोशिश करें।
  • अपनी हथेलियों या उंगलियों से नीचे पहुंचें।
  • उन्हें अपने पैरों के पास रखें।

धनुरासन - धनुष मुद्रा

Dhanurasana for belly fat

  • इस योग को पेट के बल लेटकर शुरू करें।
  • अपनी हथेलियों से टखनों को पकड़ने के लिए घुटनों को मोड़ें।
  • सांस भरते हुए अपने पैरों और बाजुओं को जितना हो सके ऊपर उठाएं।
  • आपके पेट पर संतुलन करें। 
  • ऊपर देखें और मुद्रा को बनाए रखें।

चक्रासन - व्हील पोज

Chakrasana for belly fat

  • इसे करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं।
  • अपने पैरों को घुटनों से मोड़ें और सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श पर मजबूती से टिके हुए हैं।
  • अपनी हथेलियों को आकाश की ओर रखते हुए बाजुओं को कोहनियों पर मोड़ें। 
  • अपनी बाजुओं को कंधों पर घुमाएं और हथेलियों को अपने सिर के दोनों ओर फर्श पर रखें।
  • श्वास लेते हुए, अपनी हथेलियों और पैरों पर दबाव डालें और अपने पूरे शरीर को एक आर्च बनाने के लिए ऊपर उठाएं।
  • पीछे मुड़कर देखें और अपनी गर्दन को आराम दें जब आप अपने सिर को धीरे से पीछे की ओर गिरने दें।
  • आपके शरीर के वजन को आपके हाथों और पैरों के बीच समान रूप से वितरित किया जाना चाहिए।
 

Recommended Video

कुर्पा चतुरंगा दंडासन - कोहनी पर चार अंगों वाला कर्मचारी मुद्रा

Kurpa Chaturanga Dandasana for belly fat

  • हाथों और पैरों के बल आकर शुरू करें, सुनिश्चित करें कि हथेलियां कंधों के नीचे हों और घुटने कूल्हों के नीचे हों।
  • प्लैंक पोज़ के लिए अपने घुटनों को ज़मीन से ऊपर उठाएं और अपने पेल्विक को अपने कंधों के साथ संरेखित करें।
  • धीरे-धीरे अपनी कोहनियों को अपनी चटाई पर एक-एक करके गिराएं।
  • अपनी कोहनियों को अपने कंधों से संरेखित करें।
  • अपने मूल को शामिल करें।

मेडिटेशन और प्राणायाम

प्राणायाम सांस लेने की कई तकनीकों का प्रशिक्षण है जो आपके जीवन में जोश लाता है। अनुलोम विलोम, कपालभाति और भस्त्रिका प्राणायाम जैसी कई सरल श्वास तकनीकों के लिए हर सुबह अपना समय कम से कम 10 से 15 मिनट अलग रखें। आप श्‍वास ध्यान, आरंभ ध्यान या यहां तक कि स्थिति ध्यान जैसी ध्यान तकनीकों को भी शामिल कर सकती हैं।

आप भी इन योगासन को अपने रूटीन में शामिल करके मेनोपॉज के बाद बढ़ी हुई पेट की चर्बी को कम कर सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।

Image Credit: Shutterstock.com
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।