पोषण की बात करें तो सुपरफूड जैसी कोई चीज नहीं होती है।

यह शब्द फूड ट्रेंड्स को प्रभावित करने और प्रोडक्‍ट्स को बेचने के लिए मार्केटिंग उद्देश्यों के लिए गढ़ा गया था। फूड इंडस्ट्री पोषक तत्वों से भरपूर फूड्स पर सुपरफूड लेबल प्रदान करता है, जिसमें स्वास्थ्य को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने की क्षमता होती है।

हालांकि, कई फूड्स को सुपर के रूप में वर्णित किया जा सकता है, यह समझना महत्वपूर्ण है कि कोई भी ऐसा भोजन नहीं है, जो अच्छे स्वास्थ्य या बीमारी की रोकथाम की कुंजी रखता हो। लेकिन चूंकि "सुपरफूड" ऐसा कर सकते हैं, इसलिए कुछ स्वस्थ विकल्पों पर नज़र डालें। इम्‍यूनिटी और समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर द्वारा सुझाए गए 4 लोकल मौसमी फूड्स का आनंद लें।

भारत की प्रमुख सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने अपने नवीनतम ऑडिबल ऑडियोबुक 'ईटिंग इन द एज ऑफ डाइटिंग' में लोकल रूप से खट्टे या तैयार मौसमी फूड्स की एक लिस्‍ट शेयर की है, जिनके जबरदस्त हेल्‍थ बेनिफिट्स हैं। आइए इन लोकल मौसमी फूड्स का फायदा उठाकर अपने शरीर और अपनी दैनिक दिनचर्या को पुनर्जीवित करें।

आम

superfood mango

न्यूट्रिशनिस्ट के अनुसार, फलों का राजा आम स्वादिष्ट और हेल्‍दी है। स्वाद में बढ़िया होने के अलावा, आम को 20 से 30 मिनट के लिए पानी में भिगोने से वह पूरे सिस्टम का तुरंत और प्रभावी क्लीन्ज़र बन जाता है। सुंदर और फिट दिखने के लिए आपको फलों के इस राजा को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। 

यह फल बीटा-कैरोटीन नामक एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। कहा जाता है कि बीटा-कैरोटीन हमारी आंखों में फ्री-रेडिकल्स से होने वाले नुकसान के प्रभाव को कम करता है।

इसे जरूर पढ़ें: लंबे समय तक जवां दिखने के लिए ये 3 चीजें पूरे साल खाएं

आंवला

रुजुता दिवेकर का कहना है, ''आंवला का डोज हर रोज़।'' फ्लैकी स्‍कैल्‍प, पपड़ीदार त्वचा और नमी को बहाल करने के लिए शरीर को बीमार करने का जवाब होने के नाते; आंवला, "द वंडर फ्रूट" कई मुद्दों के लिए एक बेहतरीन समाधान है। इसमें आयरन, मैग्नीशियम और विटामिन बी नसों को शांत करता है और इसके फाइटोन्यूट्रिएंट्स, एंटीऑक्सीडेंट और डाइजेशन एंजाइमों के साथ उम्र बढ़ने का मुकाबला करने के लिए महत्वपूर्ण है। 

न्यूट्रिशनिस्ट के अनुसार "यह संक्रमण से लड़ता है और यहां तक कि सिरदर्द या चक्कर आना की समस्‍या भी दूर करता है। यह हाई लेवल के विटामिन-सी से भरपूर होता है। आंवला का सेवन च्यवनप्राश, अचार, शरबत या मुरब्बा के रूप में किया जा सकता है।"

गाजर का हलवा

gajar ka halwa

हर किसी को पसंद आने वाली यह मिठाई आमतौर पर हर उत्सव की शान है। स्वाद से भरपूर, गाजर का हलवा वास्तव में किसी की भी हेल्‍थ के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। लेकिन न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर इस मौसमी मिठाई के बारे में इस आम मिथक का भंडाफोड़ करती हैं और कहती हैं, "गाजर का हलवा, जो आपकी किचन में प्यार, गर्मी और खुशी के साथ पकाया जाता है। वास्तव में, अनाज की तुलना में हमेशा 100 गुना स्वास्थ्यवर्धक होता है।''

Recommended Video

काजू सेब

न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने अपने नवीनतम ऑडियोबुक में कहा, "काजू सेब एक संतरे की तुलना में विटामिन सी में पांच गुना अधिक समृद्ध होता है।'' काजू सेब एक ग्रीष्मकालीन कोनिकल फल है। कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होने के कारण, इस फल में उत्कृष्ट एंटीट्यूमर और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: हेल्‍थ का पावर हाउस है चिया सीड्स, इससे जुड़ी कुछ बातें जानें

काजू में एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पिगमेंट, जिसे ज़िया ज़ैंथिन कहा जाता है, कई आंखों के संक्रमण से लड़नेमें मदद करता है, जो प्रदूषण के कारण होते हैं। यह पिगमेंट सीधे रेटिना में अवशोषित हो जाता है और हानिकारक यूवी किरणों को रोकने के लिए उस पर एक सुरक्षात्मक परत बनाता है।

आप भी एक्‍सपर्ट के बताए इन सुपरफूड्स को डाइट में शामिल करके हेल्‍दी रह सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com