पिछले कुछ समय में पूरी दुनिया एनिमल क्रूएलिटी के खिलाफ खड़ी हुई है और यही कारण है कि ब्यूटी प्रॉडक्ट्स से लेकर कई तरह की एसेसरीज यहां तक कि भोजन में भी लोग अब वेजिटेरियन होने का रास्ता अपना रहे हैं। ऐसे बहुत से लोग हैं, जो नॉन-वेज की राह छोड़कर अब वेजिटेरियन बनने लगे हैं। यह एक हेल्दी डाइट है, जिसे अगर सही तरह से फॉलो किया जाए तो शरीर को किसी भी तरह के पोषक तत्व की कमी नहीं होती। लेकिन कुछ लोग वेज डाइट पर होते हैं और उन्हें यह शिकायत होती है कि उनके शरीर को पूरा पोषण नहीं मिलता। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि वेजिटेरियन डाइट को फॉलो करते समय हम कई गलतियां कर बैठते हैं और इसका हमें अंदाजा ही नहीं होता। आखिरकार उन गलतियों का हर्जाना हमारी सेहत को उठाना पड़ता है। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी ही मिसटेक्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आपको वेज डाइट पर होते हुए करने से बचना चाहिए-

प्रोटीन की अनदेखी करना

inside  protien

आमतौर पर नॉन-वेजिटेरियन लोगों का यह मत होता है कि नॉन-वेज डाइट इसलिए बेहतर है, क्योंकि उसमें प्रोटीन कंटेंट ज्यादा होता है। लेकिन शाकाहारी भोजन में भी प्रोटीन की कोई कमी नहीं होती। बस जरूरत होती है कि आप अपने शरीर की आवश्यकता के अनुसार प्रोटीन युक् वेज फूड को अपनी डाइट में शामिल करें। हालांकि, वेज फूड को फॉलो करने वाले कई लोग अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ शामिल नहीं करते हैं। याद रखें कि प्रोटीन ऊतकों के निर्माण और मरम्मत, एंजाइम और हार्मोन बनाने के लिए शरीर द्वारा आवश्यक एक आवश्यक मैक्रो न्यूट्रिएंट है। अपनी डाइट में प्रोटीन को कंटेंट को बनाए रखने के लिए दाल, नट और बीज, बीन्स, अखरोट बटर, मशरूम और हरी मटर आदि को डाइट में शामिल करें।

इसे ज़रूर पढ़ें-क्या आप जानती हैं सलाद पत्ते खाने के ये हेल्थ बेनिफिट्स, डाइट में जरूर करें शामिल

पनीर के साथ मीट स्वैपिंग

inside  cheas

चूंकि शाकाहारी भोजन में मीट शामिल नहीं है, इसलिए अधिकांश शाकाहारी लोग विभिन्न प्रकार के व्यंजनों जैसे पास्ता, सलाद और सैंडविच में पनीर को शामिल करते हैं। हालांकि पनीर में प्रोटीन, विटामिन और खनिजों की एक महत्वपूर्ण मात्रा होती है, यह मीट में पाए जाने वाले पोषक तत्वों को रिप्लेस नहीं कर सकता है। इसलिए पनीर के साथ मीट को स्वैप करने के बजाय, अन्य प्लांट बेस्ड फूड्स को भी डाइट का हिस्सा बनाएं। आप छोले, दाल, सेम और क्विनोआ आदि को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

Recommended Video

होल फूड्स का सेवन कम करना

inside  fruits

जब आप वेज डाइट पर हैं तो ऐसे में होल फूड्स का पर्याप्त मात्रा में सेवन करना बेहद आवश्यक है। हालांकि, अगर आप होल फूड्स का सेवन कम मात्रा में करती हैं तो ऐसे में  पोषक तत्वों की कमी का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए, जब आप शाकाहारी भोजन का पालन कर रहे हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आपको आवश्यक विटामिन और खनिज पर्याप्त मात्रा में मिलें। बेहतर होगा कि होल फूड्स में आप फल, सब्जियां, फलियां, होल ग्रेन नट्स और सीड्स जैसे खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में आज ही शामिल करना शुरू कर दें।

इसे ज़रूर पढ़ें-Expert Tips: नेचुरल तरीके से ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें

 

अधिक रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट का सेवन करना

inside  green vegitable

पास्ता, पेस्ट्री, सफेद आटा, व्हाइट ब्रेड और सफेद चावल जैसे रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स में फाइबर और अन्य पोषक तत्वों को कमी होती है।  रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स सेहत के लिए भी बहुत अच्छे नहीं माने जाते हैं। अधिकांश फाइबर और अन्य पोषक तत्व प्राप्त करने के लिए, होल ग्रेन पर स्विच करें क्योंकि उनके पास चोकर, फाइबर और अन्य पोषक तत्व बरकरार होते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik