क्‍या आपके चेहरे पर झुर्रियां दिखाई देने लगी हैं?
क्‍या स्किन केयर के बावजूद ऐसा हो रहा है?
तो आपको डाइट पर ध्‍यान देने की जरूरत है। 

जी हां, यूं तो एजिंग एक नेचुरल प्रोसेस है, लेकिन लाइफस्‍टाइल के बहुत सारे कारक हैं जो आपकी उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में तेजी ला सकते हैं। ऐसा ही एक प्रमुख कारण है, जो उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षणों को उलट सकता है या परिणाम दे सकता है, वह आपकी डाइट है। आप जो खाती हैं, उस पर लगातार नजर रखना बहुत जरूरी है। 

कॉफी के साथ चीनी से भरा एक छोटा कप केक पहली बार में हानिरहित लग सकता है, लेकिन लंबे समय में, यह हमारे सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है। हम ऐसे फूड्स की लिस्‍ट लेकर आए हैं जो हमारी त्वचा पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं और जिन्हें सावधानी से खाने की जरूरत है।

चीनी है दोषी

sugar for ageing process

हम जानते हैं कि आप अपने डोनट्स और पेय पदार्थों से कितना प्यार करते हैं, लेकिन सच्चाई बताने की जरूरत है। इन सभी कपकेक और डेजर्ट में चीनी की मात्रा अधिक होती है, जो आपके शरीर में कोलेजन और इलास्टिन को नुकसान पहुंचा सकते हैं। 

यह आपकी त्वचा को सॉफ्ट और ग्‍लोइंग बनाए रखने के प्रमुख कारक हैं। चीनी वजन बढ़ाने, आपकी त्वचा के ढीलेपन, झुर्रियां विकसित करने और सामान्य रूप से आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने का मुख्य कारण है।

इसे जरूर पढ़ें:जवां दिखने के लिए diet में शामिल करें ये 9 anti-ageing foods

फ्राइड फूड से भी आती हैं झुर्रियां

हाई टेम्‍परेचर पर डीप-फ्राइड फूड्स फ्री रेडिकल्‍स रिलीज करते हैं, जो हमारे शरीर में सेल्‍स को नुकसान पहुंचा सकते हैं। तले हुए भोजन का सेवन न केवल आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है, बल्कि आपकी कमर के साथ-साथ शरीर के अन्य अंगों को भी प्रभावित करता है। 

अधिकांश फास्ट-फूड्स में अनहेल्‍दी ऑयल्‍स का इस्‍तेमाल बार-बार होता है। भोजन को डीप फ्राई करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला तेल आपकी हेल्‍थ और स्किन पर भी कई प्रभाव डालता है।

सोडा से भी होता है नुकसान

soda for ageing process

आपके सोडा पेय अतिरिक्त चीनी और कैफीन का भंडार होते हैं, जो आपके नींद चक्र को प्रमुख रूप से प्रभावित करते हैं। जब आपके शरीर को पर्याप्त आराम या उचित नींद नहीं मिलती है, तो यह आपकी त्वचा पर उम्र बढ़ने के लक्षण दिखाना शुरू कर देता है। 

नींद और आराम की कमी के कारणडार्क सर्कल्‍स, झुर्रियां और फाइन लाइन्‍स भी होती हैं। इसलिए, अपने सोडा पेय को पूरी तरह से छोड़ना और हेल्‍दी और युवा त्वचा के लिए ग्रीन टी या माचा टी जैसे हेल्‍दी विकल्पों पर स्विच करना बेहतर है।

अल्‍कोहल से कम बनता है कोलेजन

चाहे वह सप्ताहांत हो या कोई विशेष अवसर, हम कई बार अल्‍कोहल का सेवन जरूरत से ज्‍यादा कर लेते हैं। लेकिन, नियमित रूप से बहुत अधिक अल्‍कोहल लेने से हमारी हेल्‍थ पर नेगेटिव प्रभाव पड़ सकता है, मुख्य रूप से लिवर पर। शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को प्राकृतिक रूप से मुक्त करने के लिए आपके लिवर की कार्यप्रणाली बहुत महत्वपूर्ण है। 

जब विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर नहीं निकाला जाता है, तब यह लिवर में जमा हो जाता है जिसके परिणामस्वरूप त्वचा की समस्याएं जैसे मुंहासे, डिहाइड्रेशन, लोच में कमी और शरीर में प्राकृतिक रूप से कोलेजन बनना कम हो जाता है।

Recommended Video

अत्यधिक नमक से थका हुआ दिखता है चेहरा

salt for ageing process inside

नमक में मौजूद सोडियम शरीर में सूजन और वॉटर रिटेंशन का मुख्य कारण है। पिज्जा, पास्ता, चिप्स आदि जैसे अधिकांश फूड्स में एक्‍स्‍ट्रा नमक होता है, जो सेल्‍स को सिकुड़ने और डिहाइड्रेशन का कारण बन सकता है। अत्यधिक नमक या सोडियम आपके चेहरे को फूला हुआ और थका हुआ भी दिखा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:ये Fruits हैं तब्बू की फिटनेस का राज़, जानिए क्या हैं इन फ्रूट्स में ख़ास

अगर आप भी इन फूड्स का सेवन करती हैं, तो उम्र से पहले बूढ़ा होने से बचने के लिए इन्‍हें खाने से बचें। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने विचार हमारे साथ फेसबुक पेज के माध्‍यम से शेयर करें। ऐसे और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी के साथ जुड़ी रहें।

Image Credit: Freepik.com