पीरियड्स महिला के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और महिलाओं को हर महीने इससे गुजरना पड़ता है। हालांकि इस दौरान हार्मोनल बदलाव और अन्य कारणों से महिलाओं को काफी तकलीफ का सामना करना पड़ता है। ऐसे में खुद को सेहतमंद रख पाना भी एक चुनौती की तरह होता है। अगर पीरियड्स में हेल्‍दी तरीकों को न अपनाया जाए तो इससे हालत और बदतर हो जाती है। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि एस्ट्रोजन को चेक में रखना हेल्‍दी पीरियड्स का सीक्रेट है और आप इस आर्टिकल में दिए 5 आयुर्वेदिक सीक्रेट को अपनाकर एस्ट्रोजन का लेवल शरीर में बनाए रख सकती हैं। 

एस्‍ट्रोजन एक ऐसा हार्मोन है जो महिला और पुरुषों में मौजूद होता है और रिप्रोडक्टिव विकास को बढ़ावा देता है। महिलाओं में पीरियड्स साइकिल को बनाए रखने से लेकर ब्रेस्‍ट के विकास तक, इसके कई महत्वपूर्ण कार्य होते हैं।

सीक्रेट नम्‍बर 1

ghee for healthy periods inside

अपनी सुबह की शुरुआत एक चम्मच घी और गुनगुने पानी के साथ करें। ऐसा इसलिए क्‍योंकि सुबह के समय आपके पेट को पोषण की आवश्यकता होती है। आयुर्वेद के अनुसार पहला पोषण घी होना चाहिए। इसे हम घी मोर्निंग कहते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:महीने के उन दिनों में आपके काम आ सकती हैं ये 6 आसान टिप्स

सीक्रेट नम्‍बर 2 

seeds for healthy periods inside

आपका स्नैकिंग फ्रेंड सीड्स होने चाहिए। इसके लिए आप फ्लैक्‍स सीड्स, कद्दू, सूरजमुखी और तिल के बीज का कॉम्बिनेशन लें। हम इसे पीरियड सीड्स कहना पसंद करते हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि ये बीज शरीर की व्यक्तिगत आवश्यकताओं के आधार पर एस्ट्रोजन के प्रभाव को बढ़ाते और घटाते हैं।

सीक्रेट नम्‍बर 3

sprouts for healthy periods inside

आपका मुख्य भोजन दाल/बीन्स/स्प्राउट्स होना चाहिए। जबकि आयुर्वेद दूध के गुण पर विश्वास करता है लेकिन प्रोटीन के लिए आमतौर पर अंडे से मिलने वाले प्रोटीन के बारे में बात नहीं करता है। यह महिलाओं को आवश्यक पोषण प्रदान करने के लिए अधिकतर स्प्राउट्स खाने की सलाह देता है। हम इसे आयुर्वेदिक प्रोटीन कहते हैं।

Recommended Video

सीक्रेट नम्‍बर 4

butterfly for healthy periods inside

पेल्विक बैलेंस के लिए बटरफ्लाई पोज और मूड बैलेंस के लिए प्राणायाम करना चाहिए। प्राणायाम की सांस लेने की क्रिया से हैप्पी हार्मोन बढ़ता है जिससे ब्रेन, बॉडी और आत्मा को बैलेंस मिलता है। दूसरी ओर पेल्विक फ्लोर यूट्रस, लोअर बैकबोन और हिप्‍स और थाइज की देखभाल करने वाला होता है।

इसे जरूर पढ़ें:मेनोपॉज के दौरान एस्‍ट्रोजन लेवल गिरने से बढ़ता है इस बीमारी का खतरा

सीक्रेट नम्‍बर 5

oiling for healthy periods inside

नाक में तेल डालने से सांस लेने में आसानी होती है और सिरदर्द और गर्दन में अकड़न से राहत मिलती है। यह श्वसन में घर्षण कम करके मूड को भी बढ़ाता है। आयुर्वेद के अनुसार, नाभि शरीर का पावरहाउस है। आपके जन्म से पहले ही यह शरीर के हर हिस्से से जुड़ा हुआ होता है। नाभि में तेल डालने से पीएमएस के लक्षणों जैसे सूजन से छुटकारा मिलता है। 

इन 5 सीक्रेट को अपनाकर आप भी अपने पीरियड्स को हेल्‍दी बना सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।

Image Credit: Freepik.com