देसी घी के बिना भारतीय भोजन का स्वाद अधूरा ही माना जाता है। लेकिन फिर भी कुछ महिलाएं घी का नाम सुनते ही मुंह बनाने लगती है, क्‍योंकि इससे उन्‍हें वजन बढ़ने का डर सताने लगता है और बीमारियों का कारण समझा जाता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि घी खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ ही हेल्‍थ के लिए भी बहुत फायदेमंद है। खासतौर पर देसी गाय का घी आपकी हेल्‍थ के लिए बहुत ही अच्‍छा होता है। आयुर्वेद में तो देसी गाय के घी को अमृत समान माना जाता है जिससे सौ से भी ज्‍यादा गुण होते है जो दवा की तरह काम करते है। इसके रेगुलर इस्‍तेमाल आपका वेट कंट्रोल में रखता है, बॉडी को ताकत और हड्डियों को भी मजबूती मिलती है। यह एनर्जी बढ़ाने और मेंटल हेल्‍थ को दुरुस्‍त रखने के साथ ही स्किन और बालों के लिए भी किसी वरदान की तरह होता है। दूसरे शब्‍दों में आप कह सकती हैं कि यह आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है।

जी हां देसी घी में एंटी-ऑक्सीडेंट पाये जाते हैं। इनसे बॉडी की इम्‍यूनिटी बढ़ती है। देसी घी में लिनोलिक एसिड पाया जाता है। यह बॉडी के वेट को बढ़ने से रोकता है। देसी गाय के घी में विटामिन K की मात्रा पाई जाती है। जो हार्ट हेल्‍थ के लिए फायदेमंद होती है। इसके अलावा इसमें ओमेगा 3 एवं ओमेगा 9 जैसे फैटी एसिड की प्रचुर मात्रा पाई जाती है, जो बढ़ते बच्चों की ग्रोथ के लिए आवश्यक होती हैं। देसी गाय का घी हमारी हेल्‍थ के लिए कितना फायदेमंद है, इस बारे में जानने के लिए हमने आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर प्रमोद से बात की तब उन्‍होंने हमें उन्‍होंने हमें बताया कि ''देसी गाय का घी आपको खाने और लगाने दोनों तरह से फायदा पहुंचाता है। गाय के घी के सेवन से कॉलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है। वजन भी नही बढ़ता, बल्कि यह वजन को बैलेंस करता है। यानि के कमजोर व्यक्ति का वजन बढ़ता है, मोटे व्यक्ति का वजन कम होता है।'' साथ ही उन्‍होंने हमें इसके 30 फायदों के बारे में बताया। आइए हमारे साथ आप देसी गाय के घी के फायदों के बारे में जानें।

इसे जरूर पढ़ें: सौ गुणों से भरपूर गाय का घी, 2 चम्‍मच गाय का घी खाएं रोगों को दूर भगाएं

desi ghee benefits health inisde

देसी गाय के घी से होने वाले फायदे

  • गाय का घी नाक में डालने से एलर्जी खत्म हो जाती है। 
  • गाय का घी नाक में डालने से पागलपन दूर होता है।
  • गाय का घी नाक में डालने से लकवा का रोग में भी उपचार होता है।
  • घी (20-25 ग्राम) व मिश्री खिलाने से शराब, भांग व गांजे का नशा कम हो जाता है।
  • नाक में घी डालने से नाक की खुश्की दूर होती है और दिमाग तरोताजा हो जाता है।
  • गाय का घी नाक में डालने से बाल झड़ना दूर होकर नए बाल भी आने लगते है
  • गाय के घी को नाक में डालने से मानसिक शांति मिलती है, याददाश्त तेज होती है। अगर आप घर बैठे देसी गाय का घी खरीदना चाहती हैं तो इसे यहां से खरीदें। 
desi ghee benefits health inisde
  • हाथ और पैरों में जलन होने पर गाय के घी को तलवों में मालिश करने से जलन ठीक हो जाती है।
  • गाय के पुराने घी से बच्चों को छाती और पीठ पर मालिश करने से कफ की शिकायत दूर हो जाती है।
  • दो बूंद देसी गाय का घी नाक में सुबह शाम डालने से माइग्रेन दर्द ठीक होता है।
  • अगर अधिक कमजोरी लगे, तो एक गिलास दूध में एक चम्मच गाय का घी और मिश्री डालकर पी लें।
  • गाय के घी से शारीरिक व मानसिक ताकत में भी इजाफा होता है। 
  • गाय के घी से छाती पर मालिश करने से बच्चों के बलगम को बाहर निकालने में मदद मिलती है। जी हां जब भी बच्‍चों को बलगम की शिकायत हो तो गाय घी में नमक डालकर उसे थोड़ा सा गर्म कर लें और इससे उसके चेस्‍ट पर मालिश करें। 
  • सिर दर्द होने पर शरीर में गर्मी लगती हो, तो गाय के घी की पैरों के तलवे पर मालिश करें, सिर दर्द ठीक हो जायेगा।
  • अगर आप गाय के घी की कुछ बूंदें दिन में 2 बार, नाक में डालेंगे तो यह त्रिदोष (वात पित्त और कफ) को संतुलित करता है।
  • फफोलो पर गाय का देसी घी लगाने से आराम मिलता है।
  • हिचकी के न रुकने पर खाली गाय का आधा चम्मच घी खाए, हिचकी स्वयं रुक जाएगी।

Recommended Video

desi ghee benefits health inside
  • गाय के घी का नियमित सेवन करने से एसिडिटी व कब्ज की शिकायत कम हो जाती है।
  • गाय का घी न सिर्फ कैंसर को पैदा होने से रोकता है और इस बीमारी के फैलने को भी आश्चर्यजनक ढंग से रोकता है। जी हां देसी गाय के घी में कैंसर से लड़ने की अचूक क्षमता होती है। इसके सेवन से ब्रेस्‍ट और आंत के खतरनाक कैंसर से बचा जा सकता है।
  • जिस व्यक्ति को हार्ट अटैक की तकलीफ है और चिकनाई खाने की मनाही है वह गाय का घी थोड़ी मात्रा में खाएं। इससे हार्ट मजबूत होता है।
  • घी, छिलका सहित पिसा हुआ काला चना और पिसी शक्कर (बूरा) तीनों को समान मात्रा में मिलाकर लड्डू बना लें। रोजाना सुबह खाली पेट एक लड्डू खूब चबा-चबाकर खाते हुए एक गिलास मीठा गुनगुना दूध घूंट-घूंट करके पीने से स्त्रियों के प्रदर रोग में आराम होता है। 
  • गाय का शुद्ध घी एक चम्मच लेकर उसमें एक चम्मच बूरा और 1/4 चम्मच पिसी काली मिर्च इन तीनों को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोते समय चाट कर ऊपर से गर्म मीठा दूध पीने से आंखों की ज्योति बढ़ती है।
  • गाय का घी एक अच्छा (LDL) कोलेस्ट्रॉल है। हाई कोलेस्ट्रॉल के रोगियों को गाय का घी ही खाना चाहिए। यह एक बहुत अच्छा टॉनिक भी है।
  • गाय के घी को ठंडे पानी में फेंट लें और फिर घी को पानी से अलग कर लें। यह प्रक्रिया लगभग सौ बार करें और इसमें थोड़ा सा कपूर डालकर मिला दें। इस विधि द्वारा प्राप्त घी एक असर कारक औषधि में परिवर्तित हो जाता है जिसे त्वचा संबंधी हर समस्‍या में चमत्कार की तरह से इस्तेमाल कर सकते है। यह सोराइसिस के लिए भी कारगर है।

तो देर किस बात की आप भी देसी गाय के घी के इतने फायदे जानने के बाद उसे खाने और लगाने में जरूर इस्‍तेमाल करें।