कहते हैं शादी का लड्डू जो खाता है वो भी पछताता है और जो नहीं खाता है वो पछताता है। इस लड्डू नहीं खाने से कहीं ज्यादा बेहतर है कि इसे खाकर ही पछताया जाए। शायद ये बात आपको थोड़ी अटपटी लग रही होगी लेकिन यह हम नहीं कह रहे बल्कि एक नई रिसर्च के अनुसार, विवाहित पुरुषों और महिलाओं का अविवाहित लोगों की तुलना में बढ़ती उम्र में शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्‍छा रहता है।

जी हां जब घर के बड़े-बुजुर्ग अपने घर के युवा बच्‍चों को शादी करने की सलाह देते हैं तो उन्‍हें गुस्‍सा आने लगता है। आजकल करियर बनाने और अपने सपनों के चक्‍कर में ज्‍यादातर युवा लड़के और लड़कियां शादी से दूर भागते हैं या फिर बहुत देर से शादी करते हैं। अगर आप भी अपने बड़ों से शादी की बात को सुनकर गुस्‍सा हो जाते हैं तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्‍योंकि हो सकता है कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपका मन भी शादी करने को कर जाएं।

इसे जरूर पढ़ें: शादी से पहले कुंडली मिलाना नहीं बल्कि मेडिकल टेस्‍ट कराना है बेहद जरूरी

marriage benefits sonam

क्‍या कहती है रिसर्च

पीएलओएस वन नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया कि शादीशुदा लोग बेहतर स्वास्थ्य के अलावा विशेष रूप से तेजी से चलते हैं और मजबूत पकड़ रखते हैं। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन के नताशा वुड के द्वारा किए गए अध्ययन में शोधकर्ताओं ने वैवाहिक स्थिति और बाद के जीवन में रोजमर्रा के कार्यों को पूरा करने की क्षमता के बीच जुड़ाव का पता लगाया।



टीम ने दो संकेतकों पर ध्यान केंद्रित किया: चलने की गति और पकड़ की ताकत। "वॉकिंग स्पीड स्वास्थ्य को समझने का सबसे अच्‍छा उपाय है, जिसमें बहुत सारी चीजें शामिल हैं जैसे कि बैलेंस, फुर्ती और स्‍पीड, जबकि पकड़ ताकत ऊपरी शरीर की ताकत को दर्शाती है," वुड ने समझाया। उन्होंने पुराने लोगों के दो मौजूदा अध्ययनों और उनकी शारीरिक क्षमता के आंकड़ों का विश्लेषण किया। विवाहित लोगों को उनकी पहली शादी में अलग कर दिया गया था और जो लोग पुनर्विवाह कर चुके थे, जबकि अविवाहित लोग उन लोगों में विभाजित थे जो तलाकशुदा थे या जिन्होंने कभी शादी नहीं की थी। दोनों अध्ययनों में, विवाहित लोग टॉप पर बाहर आए। अविवाहित पुरुषों और महिलाओं दोनों के पास अपने विवाहित समकक्षों की तुलना में धीमी गति से चलने की गति थी। इंग्लैंड में पुरुष अपनी पहली शादी में चार इंच प्रति सेकंड की रफ़्तार से चले गए, बिना शादीशुदा पुरुषों की तुलना में।

marriage benefits card ()

शादी करने के अन्‍य फायदे

रिसर्च के अनुसार, कहते है ना कि किसी के साथ दुख शेयर करने से वह हल्‍का हो जाता है। ऐसा ही शादी के बाद होता है। शादी के बाद पति-पत्नी दोनों अपने दिल की बात एक दूसरे से शेयर करते हैं, दोनों अपने सुख-दुख शेयर करते हैं जिससे दोनों की लाइफ में खुशियां आने लगती हैं। बड़े से बड़ा दुख भी हल्का होकर निकल जाता है।

शादी के बाद लोग ज्‍यादा जिम्‍मेदार हो जाते हैं और उन्‍हें अपनी जिम्‍मेदारी का अहसास होने लगता है।

इसे जरूर पढ़ें: सभी लड़कियों को दूंगी शादी करने की सलाह, मगर... दिव्यांका त्रिपाठी

शादी के बाद साथ के साथ बिताया हर पल आपको प्‍यार की ताजगी का अहसास दिलाता है।
शादी के बाद आपका तनाव कम होने लगता है क्‍योंकि लव हार्मोन ऑक्सीटोसिन का स्राव होता है जो तनाव हार्मोन कोर्टिसोल को कम करता है।