कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में फैल चुका है। चीन से शुरू हुआ ये वायरस धीरे-धीरे पूरी दुनिया में अपने पैर पसार चुका है। चीन के अलावा कई देशों में इस वायरस का कहर देखने को मिला है। अब ये वायरस भारत में भी फैल रहा है। डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है! कोरोना को महामारी घोषित करते हुए WHO ने कहा कि अब तक इस वायरस से दुनिया भर में 118,000 केस देखने को मिले हैं और 4300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, इसलिए इस महामारी कहा जा सकता है। हम आपको बता दें, किसी भी बीमारी को महामारी तब घोषित किया जाता है, जब वह एक से ज्यादा देशों में फैलकर, लोगों के सामने जीवन का संकट पैदा कर देती है। 

बीते कुछ दिनों में कोरोना का कहर विश्व भर में देखने को मिला है। इटली ने तो कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए ही अपने यहां पूरी तरह लॉक डाउन घोषित कर दिया है। भारत में भी 15 अप्रैल तक विदेशियों की एंट्री को बैन कर दिया गया है। सरकार ने विदेशों से आने वाले लोगों पर 15 अप्रैल तक रोक लगा दी है। सभी वीजा रद्द कर दिए गए हैं। इस निर्णय पर 13 मार्च से अमल शुरू होगा। 

इसे जरूर पढ़ें: कोरोना वायरस किन फूड्स को खाने से फैलता है? आपके मन में भी हैं सवाल तो जानें सच्‍चाई

coronavirus facts

कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के संबंध में WHO के प्रमुख टेड्रोस अदनोम ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'WHO इस घातक वायरस के प्रकोप का आकलन कर रहा है। हम इसके खतरनाक तरीके से फैलने और निष्क्रियता के खतरनाक लेवल दोनों से गहराई से चिंतित हैं। इसलिए हमने आकलन किया है कि #COVID19 को महामारी के रूप में पहचाना जा सकता है।' आज हर किसी के मन में यही सवाल है कि कैसे इस वायरस से खुद को बचाया जा सके।

coronavirus health inside

ऐसे में हाल ही में योग गुरु बाबा रामदेव ने एक इंटरव्यू दिया जहां उन्होंने कोरोना वायरस से बचने के कारगर उपाय बताये। उनका कहना है कि इम्यूनिटी का कमजोर होना कोरोना फैलने का सबसे मुख्य कारण है। इम्यूनिटी कम होती है तो यह वायरस सीधे दिल और ब्रेन पर अटैक करता है और उसे बहुत ज्‍यादा नुकसान पहुंचाता है। कोरोना से बचने के लिए बाबा रामदेव ने गिलोय का जूस पीने की सलाह दी है। उनका कहना है कि गिलोय के जूस में थोड़ी काली मिर्च, तुलसी और हल्‍दी को मिलाकर काढ़ा बना लें और फिर रोजाना उसका सेवन करें। यह कोरोना को आपसे दूर रखता है। साथ ही बुखार को कंट्रोल करके इम्‍यूनिटी को स्‍ट्रॉग बनाता है। बाबा रामदेव के अनुसार गिलोय का जूस किसी भी तरह के वायरस को सबसे पहले मारता है।

Recommended Video

साथ ही उनका कहना है कि गिलोय सामान्य सर्दी-जुकाम के लिए भी कारगर है। सर्दी-जुकाम, कफ में गिलोय अचूक औषधी है। तुलसी, गिलोय और हल्‍दी का काढ़ा बनाकर सेवन करने से सर्दी- जुकाम में राहत मिलती है। इसका सेवन प्राचीन समय से लोग करते आ रहे हैं। इससे बुखार में बड़ी राहत मिलती है। गिलोय सबसे बड़ा एंटीबायोटिक है। जो लोग कोरोना से संक्रमित हैं उनसे दूरी बनाकर रखें। उनके संपर्क में न रहें। अपने हाथों को बार-बार साबुन से साफ करें।  

coronavirus health inside

बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि गिलोय का जूस पीने के साथ रोजाना प्राणायाम भी करना चाहिए। भस्त्रिका, कपालभाति और अनुलोम विलोम सबसे ज्यादा लाभकारी हैं। प्राणायाम करने से इम्‍यूनिटी मजबूत हाती है। 

इसे जरूर पढ़ें: कोरोना वायरस ने अब भारत में भी किया प्रवेश, इन उपायों से करें बचाव

क्‍या सच में ऐसा गिलोय इतना असरदार है, यह जानने के लिए हमने आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट वाजपेयी जी से बात की। तब उन्‍होंने हमें बताया ''हालांकि कोरोना वायरस से बचाव के लिए सिर्फ अवेयरनेस ही सल्‍यूशन है। लेकिन साथ ही आपको अपनी इम्‍यूनिटी को भी स्‍ट्रॉग करना चाहिए, क्‍योंकि वायरस कमजोर इम्‍यूनिटी वाले लोगों को जल्‍दी अपनी चपेट में लेता है। इसके लिए नीम चिरायता गिलोय का काढा पीने से नजला जुकाम और कफ नहीं होता। अगर हम अदरक तुलसी का भी इस्तेमाल करें तो हम कफ को जमा होने नहीं देते क्योंकि कफ के ऊपर कोरोना वायरस अटैक करता है।''

अगर आप भी कोरोना वायरस को अपने से दूर रखना चाहती हैं तो अपनी इम्‍यूनिटी को स्‍ट्रॉग करने के लिए इन उपायों को जरूर अपनाएं।