महिला के शरीर में एक महत्वपूर्ण अंग, आपका यूट्रस आपके रिप्रोडक्टिव सिस्‍टम को बनाता है। आपका यूट्रस रिप्रोडक्टिव सिस्‍टम में इतनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कि जब आप कंसीव करने की कोशिश करना शुरू करती हैं, तो एक हेल्‍दी यूट्रस को बढ़ावा देने पर ध्यान देना महत्वपूर्ण होता है।

हेल्‍दी यूट्रस इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

आपके यूट्रस का मुख्य कार्य निषेचित डिंब का पोषण करना है। एक बार जब निषेचित डिंब को एंडोमेट्रियम में प्रत्यारोपित कर दिया जाता है, तो यह यूट्रस की रक्त वाहिकाओं से पोषण प्राप्त करता है और अंततः एक एम्‍ब्रो और फिर एक फीटस बन जाता है।

इस दौरान कई चीजें हैं जो आपके यूट्रस के ठीक से काम नहीं करने का कारण बन सकती हैं, जिनमें शामिल हैं:

इसलिए महिलाओं के लिए यूट्रस के स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना बेहद जरूरी है। ऐसे में थोड़ी सी भी लापरवाही होने पर यूट्रस में इंफेक्शन, सूजन, सिस्ट आदि के होने का खतरा हो सकता है। आप रुजुता दिवेकर के यूट्रस को हेल्दी रखने के कुछ खास टिप्‍स को अपना सकती हैं, जो उन्‍होंने अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से वीडियो शेयर करके फैन्‍स का बताया है।   

साथ ही उन्होंने बताया कि यूट्रस को हेल्‍दी ना रख पाने के कारण महिलाओं में यूट्रस बाहर खिसकने की समस्या होती है। आइए यूट्रस को हेल्‍दी रखने के उपायों के बारे में रुजुता दिवेकर से जानते हैं। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar)

रुजुता दिवेकर ने वीडियो में बताया, ''यूट्रस आपकी ब्लैडर और रेक्टम के बीच में होता है। यूट्रस इन दोनों को विभाजित करता है। इन दोनों के बारे में जानना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि जब आपका यूट्रस बाहर की ओर खिसकने लगता है तो हमें सबसे ज्यादा परेशानियां ब्लैडर और रेक्टम से जुड़ी होती है। यूट्रस के बाहर खिसकने पर शरीर को कई परेशानियां जैसे कब्ज की समस्या, यूरिन करने में परेशानी, हंसने, खांसने और कूदते समय हल्का यूरिन का बाहर, वेजाइना के पास भारीपन महसूस होता है, नीचे बैठने में परेशानी और नीचे बैठने में भारी प्रेशर लगना।'' 

इसे जरूर पढ़ें:रोजाना ये 7 foods खाएं और गर्भाशय को healthy बनाएं

यूट्रस का बाहर खिसकने के कारण

यूट्रस खिसकने के कई कारण हैं जैसे बढ़ती उम्र के साथ शरीर का कमजोर होना, डिलीवरी और मेनोपॉज। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि बढ़ती उम्र के साथ हमारे शरीर को निचला हिस्‍से की मसल्‍स कमजोर होने लगती हैं और आपका यूट्रस नीचे आने लगता है, जिससे यूरिन और पॉटी से जुड़ी परेशानियां बढ़ जाती हैं। इससे बचने के लिए आपको रुजुता की बताई बातों को ध्‍यान में रखना चाहिए।

पोश्चर सही करें

आपने कई महिलाओं को देखा होगा कि उनका हिप्‍स का एरिया पीछे की ओर उठने लगता है और वह आगे की ओर झुकी हुई नजर आती हैं। यह पोजीशन आपके यूट्रस के हिस्‍से को कमजोर करता है। ऐसे में सीधा चलने और सही तरीके से खड़े होने की कोशिश करें।

एक्सरसाइज करें

exercise for health

कीगल एक्सरसाइज से आप यूट्रस को मजबूत बना सकती हैं। इसे करने के लिए एक जगह बैठ जाएं और पेल्विक एरिया को खोलते हुए एक बार पैर फैलाएं और फिर पैरों को चिपका लें। इस एक्‍सरसाइज रोजाना 10 बार करें। इसे लगातार करने से यूट्रस मजबूत होने लगता है।

साथ ही स्क्वाट एक्सरसाइज करने से पोश्चर को सही रखने के साथ ही पेल्विक एरिया की मसल्‍स को मजबूत करने में मदद मिलती है। इसलिए रोजाना 5 से 10 बार स्क्वाट एक्सरसाइज करें। इसे करने के लिए हाथों को बाहर करते हुए सीधे खड़ी हो जाएं और फिर सीधी बैठ जाएं। ध्यान रहे कि बैठते समय आपके हिप्‍स बाहर की ओर ना निकला हो।

इसके अलावा, यूट्रस को मजबूत बनाने के लिए जरूरी है कि आप हफ्ते में दो बार स्ट्रेंथ ट्रेनिंग जरूर करें। इससे पैर मजबूत होते हैं और आपकी प्लेविक एरिया में भी मजबूती आती है। इससे आपका पोश्चर भी सही रहता है, जिससे मसल्‍स आपके यूट्रस को सही जगह पर बनाए रखते हैं। इसके अलावा आप योगा भी कर सकती हैं।

Recommended Video

 

शरीर पर प्रेशर ना डालें

जब हमें कब्‍ज की समस्‍या होती है या फिर यूरिन तेजी से आता है तो पेल्विक एरिया पर प्रेशर डालते हुए पॉटी और यूरिन करने की कोशिश करते हैं। इससे यूट्रस पर प्रेशर पड़ता है और वह बाहर की ओर आने लगता है। इसलिए इस एरिया पर प्रेशर डालने से बचें।

इसे जरूर पढ़ें:क्‍या होते हैं गर्भाशय के फाइब्रॉएड्स, हर महिला को है जानना जरूरी

हेल्दी डाइट

diet for good uterus health

यूट्रस को मजबूती देने के लिए जरूरी है कि आप अपनी डाइट सही करें। इसके लिए आपको अपने खाने में रागी और राजगीरा को शामिल करना चाहिए। इसमें अच्छी मात्रा में फाइबर होता है, जो कब्ज की समस्या को दूर करता है। इसके अलावा, इसमें कैल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत बना सकता है। साथ ही इनमें पोटेशियम और मैगनेशियम भी होते हैं जो हेल्‍थ को ठीक रखने में मदद करते हैं। 

रुजुता के बताए इन टिप्‍स को अपनाकर आप भी यूट्रस की हेल्‍थ की देखभाल कर सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Article and Image Credit: Rujuta Diwekar (@Instagram)