योग करने से शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से भी बहुत फायदेमंद होता है या आप यूं कह सकते हैं कि योग शरीर और मन दोनों को दुरुस्‍त रखता है। सकारात्मकता और ऊर्जा की अपनी दैनिक खुराक पाने के लिए, आपको बस अपनी चटाई पर कुछ योगासन करने की जरूरत है और योग अपना जादू बिखेर देगा। 

आसनों का सरल अभ्यास न केवल आपके शरीर पर काम कर सकता है बल्कि मन को नियंत्रित करने और आपकी भावनाओं और जीवन को संतुलित करने में भी मदद करता है। यह चिंता और तनाव को दूर रखता है, जिससे आप अधिक रिलैक्‍स महसूस करते हैं।

योग संस्थान के डायरेक्‍टर डॉक्‍टर हंसजी योगेंद्र ने 3 ऐसे बेस्‍ट योगासन यहां दिए गए हैं, जिनका आपको प्रतिदिन अभ्यास करना चाहिए-

पवनमुक्तासन

Pavanamuktasana for women

हमारा शरीर हर तरह का तनाव जमा करता है। जब वह रिलीज होता है तो शांति और विश्राम का अहसास होता है। इस आसन के अभ्यास से पेट फूलना दूर होता है और अपच और कब्ज से राहत मिलती है। यह आसन पेट से जुड़ी समस्‍याओं के लिए रामबाण है। 

विधि

  • इसे करने के लिए अपने पैरों और हाथों को एक साथ रखकर चटाई पर लेट जाएं और श्वास लें।
  • सांस छोड़ते हुए, दोनों पैरों को ऊपर उठाएं, इसे घुटने के जोड़ पर मोड़ें। 
  • अपने दोनों हाथों से अपने घुटने (या पिंडली) को बाजुओं पर आपस में बांध लें।
  • घुटने को चेस्‍ट तक स्‍ट्रेच करें और इसे अपनी सांस को छोड़ने से पहले छह सेकेंड तक मजबूती से दबाए रखें।
  • अपने बंधे हुए हाथों को छोड़ दें, श्वास लेते हुए, अपने पैर को सीधा करें और पुरानी मुद्रा में आ जाएं।
  • दूसरे पैर से दोहराएं।

धनुवक्रासन

Dhanurvakrasana

यह आसन पेट के हिस्‍से पर दबाव डालता है क्योंकि इसे करते हुए आपका पूरा शरीर नाभि के हिस्‍से पर संतुलन बना रहा होता है। आपकी पूरी रीढ़ धनुषाकार होती है, इसलिए यह आपकी रीढ़ की हड्डी के फ्लेक्सिबिलिटी को बहुत बढ़ाता है। साथ ही यह आपकी चेस्‍ट, गर्दन और कंधों को खोलता है और पैर और हाथों की मसल्‍स को टोन करता है।

विधि

  • इसे करने के लिए पेट के बल लेट जाएं और हाथों को साइड में कर लें।
  • फिर अपने घुटनों को मोड़कर पैरों को पीछे की ओर मोड़ें।
  • टखनों को पकड़ें।
  • सांस भरते हुए, सिर को ऊपर की ओर उठाएं और साथ ही साथ अपने दोनों पैरों को एक साथ रखते हुए, पैरों को ऊपर की ओर स्‍ट्रेच करें।
  • कुछ सेकेंड के लिए इस पोजीशन बनाए रखें।
  • सांस छोड़ते हुए पैरों और सिर को नीचे करें। 
  • अपनी टखनों पर पकड़ छोड़ें और प्रारंभिक मुद्रा में लौट आएं।

Recommended Video

हस्तपादांगुष्ठासन

hasta padangusthasana

यह आसन दोनों एक्सट्रिमिटी को एक साथ लाता है और हिप्‍स के मेजर जोड़ के आस-पास की मसल्‍स को स्‍ट्रेच करता है। यह कमर को भी प्रभावित करता है और लेटरल मसल्‍स की फ्लेक्सिबिलिटी और टोनिंग में मदद करता है। यह आपके संतुलन और एकाग्रता को बेहतर बनानेमें भी मदद करता है।

विधि

  • अपने पैरों को एक साथ और हाथों को एक तरफ करके खड़ी हो जाएं और फिर श्वास लें।
  • सांस छोड़ते हुए, अपने दाहिने पैर को जितना हो सके सामने की ओर किक करें और घुटनों को सीधा रखते हुए अपने पैर के अंगूठे को उसी हाथ से पकड़ें। 
  • यदि आप अपने पैर के अंगूठे को नहीं पकड़ सकती हैं, तो अपने दाहिने पैर के घुटने को मोड़ें ताकि अपने पैर की उंगलियों को दाहिने हाथ से पकड़ सकें और पैर को सामने की ओर खींचे।
  • पैर को सीधा रखने की कोशिश करें लेकिन अगर संभव न हो तो घुटनों को थोड़ा मोड़ लें।
  • इस स्थिति में छह सेकेंड तक रहें।
  • सांस भरते हुए पकड़ को छोड़ें और अपने पैर को नीचे लाएं।
  • बाएं पैर से दोहराएं।

आप भी इन योगासन को करके खुद को फिट रख सकती हैं। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। आपको फिट रहने में मदद करने वाले योग और आसन के बारे में अधिक जानकारी के लिए हर जिंदगी से जुड़ी रहें।

Image Credit: Shutterstock & Freepik.com