हर मां चाहती है कि उसका बच्चा पढ़ने में तेज हो और इसके लिए बच्चों के ब्रेन का संपूर्ण विकास होना बहुत जरूरी है, ताकि वह किसी भी चीज को जल्दी समझ और सीख सके। अगर आपको लगता है कि आपका बच्चा किसी भी चीज को जल्दी समझ या याद नहीं कर पाता है तो आप उनकी डाइट पर जरूर ध्यान दें, क्‍योंकि कहते हैं जैसा हम खाते हैं वैसा ही बनते हैं। जी हां हेल्‍दी और पोषक तत्‍वों से भरपूर डाइट शरीर के साथ-साथ ब्रेन के लिए भी अच्‍छी होती है और कुछ फूड तो स्‍पेशली ब्रेन के लिए बहुत अच्‍छे होते हैं जो ब्रेन को हेल्‍दी रखने और मेमोरी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर आप भी ऐसा ही चाहती हैं कि आपका बच्चा मेंटली हेल्दी और होशियार बने तो इस‍ आर्टिकल में बताए हेल्दी ब्रेन फूड्स को अपने बच्‍चों को रोजाना खाने के लिए जरूर दें। इन फूड्स के बारे में हमें न्यूट्रिशनिस्ट मेघा मुखीजा बता रही हैं। मेघा मुखीजा 2016 से Health Mania में चीफ डा‍इटीशियन और फाउंडर है।

इसे जरूर पढ़ें: रोजाना ये चीज खाने से दिमाग चलेगा नहीं बल्कि दौड़ेगा

food for brain health inside

कद्दू के बीज

pumpkin seeds for brain health inside

अगर आप चाहती हैं कि आपका बच्‍चा पढ़ाई में तेज हो तो उसकी डाइट में कद्दू के बीज को शामिल करें। कद्दू के बीज जिंक, मैग्नीशियम, कॉपर और आयरन का समृद्ध स्रोत हैं। ये सभी पोषक तत्व कॉग्निटिव डेवलपमेंट का अनिवार्य हिस्सा हैंं। यह बच्‍चों में फोकस, मेमोरी और नर्वस संकेतों को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। इसमें ओमेगा -3 फैटी एसिड भी होते हैं। यह भी मेमोरी को बढ़ाने में हेल्‍प करते हैं।

डार्क चॉकलेट और हल्‍दी

dark chocolate food for brain health inside

डार्क चॉकलेट और हल्‍दी दोनों में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं। कई वैज्ञानिक अनुसंधानों से पता चला है कि यह मेमोरी और सीखने से जुड़े ब्रेन के हिस्से में ब्‍लड वेसल्‍स की ग्रोथ को बढ़ाते हैं। साथ ही यह ब्रेन में ब्‍लड फ्लो को भी उत्तेजित करते हैं। इसके अलावा डार्क चॉकलेट और हल्दी दोनों ही शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करते हैं।

अखरोट

walnut for food for brain health inside

यह फेमस फूड ब्रेन के आकार का होता है जो सच में ब्रेन को तेज करने में मदद करता है क्‍योंकि इसमें पॉलीफेनोल, विटामिन ई, ओमेगा -3 फैटी एसिड की भरपूर मात्रा होती है। यह सीखने के कौशल, चिंता में कमी और अन्य कॉग्निटिव क्षमताओं को बढ़ाने में मदद करता है।

Recommended Video

आयोडाइज्ड नमक (इस पॉइंट पर ध्यान दें)

salt inside

कई लोग झूठे विज्ञापन और गलत जानकारी के झांंसे में आकर अपना नॉर्मल खाना पकाने के लिए सेंधा नमक या गुलाबी नमक पर स्विच कर लेते हैं। इंडियन सौइल में आयोडीन की कमी होती है, इसलिए हमारी सरकार ने 90 की दशक में आयोडीन के साथ नमक की फोर्टिफिकेशन शुरू की थी, ताकि किसी भी जाति या आर्थिक स्थिति के बावजूद सभी को यह उनके आहार में मिल सके। आयोडीन की कमी से गंभीर मेमोरी लॉस और थायरॉयड की समस्‍या हो सकती है। इसलिए अपने बच्‍चे की डाइट में आयोडाइज्‍ड नमक का ही इस्‍तेमाल करें।

इसे जरूर पढ़ें: आपके दिमाग की बत्ती को हर उम्र में जला कर रखेंगे ये 5 फूड्स

गाजर और बेरीज

berries for brain health inside

बच्‍चों के ब्रेन को तेज करने के लिए उनकी डाइट में फल और सब्जियों की विविधता को शामिल करें। उनकी डाइट में खासतौर पर गाजर और बेरीज को शामिल करें। बेरीज में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट ब्रेन सेल्‍स में कम्युनिकेशन में सुधार करते हैं और समग्र कामकाज को बढ़ावा देने वाले उनके प्लास्टिसिटी को बढ़ाते हैं। साथ ही यह एकाग्रता और ध्यान को बढ़ावा देता है। गाजर में ल्यूटोलिन होता है जो ब्रेन की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाता है।

अपने बच्‍चे को पढ़ाई में तेज बनाने के लिए यह चीजें उनकी डाइट में जरूर शामिल करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com