• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

बढ़ती उम्र में भी मलाइका की तरह मजबूत और आकर्षक कोर के लिए करें ये 3 योगासन

अगर आप रोजाना सिर्फ ये 3 योगासन करेंगी तो 48 की उम्र में भी कोर मजबूत होगा और पेट की चर्बी तेजी से घटेगी।  
author-profile
Next
Article
yoga for strong core by malaika aora

बढ़ती उम्र में अपनी हेल्‍थ की देखभाल कैसे करनी चाहिए और खुद को फिट और जवां दिखाने के लिए क्‍या करना चाहिए? यह कोई बॉलीवुड की फिटनेस फ्रीक एक्‍ट्रेसेस से सीखे। मलाइका से लेकर शिल्‍पा शेट्टी और माधुरी दीक्षित तक बॉलीवुड की इन एक्‍ट्रेसेस को देखकर कोई भी उनकी असली उम्र का अंदाजा नहीं लगा सकता है। लेकिन क्या आप जानती हैं कि वह न सिर्फ दिखने में खूबसूरत और फिट हैं बल्कि अंदर से भी मजबूत हैं और ये अपनी कोर स्ट्रेंथ को मजबूत बनाने के लिए काफी मेहनत करती हैं।

मलाइका ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम के माध्‍यम से एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें उन्हें कोर को मजबूत बनाने वाले योग करते हुए देखा जा सकता है। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, 'इस #MalaikasMoveOfTheWeek आइए अपनी मूल मसल्‍स पर ध्यान केंद्रित करें-शरीर का एक हिस्सा जो बाकी सब कुछ संतुलित करता है, चाहे वह उलटा होना हो, वज़न उठाना या अपनी पीठ को सीधा रखना। इन 3 आसनों के साथ अपनी मूल मसल्‍स को मजबूत करें।'  अगर आप भी बढ़ती उम्र में बाहरी खूबसूरती के साथ अंदर से भी मजबूती चाहती हैं तो कोर को मजबूत बनाने वाले इन 3 योगासन को रोजाना घर पर कुछ देर जरूर करें। 

वशिष्ठासन (साइड प्लैंक पोज)

side plank pose

कोर को मजबूत करने के लिए कोर की मसल्‍स (आगे, पीछे और बाजू) के सभी साइड्स पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता होती है। साइड प्लैंक आपके कोर को सभी तरफ से जोड़ने में अद्भुत हैं जिससे आपको पूरे शरीर की ताकत और स्थिरता बनाने में मदद मिलती है।

विधि

  • इसे करने के लिए पेट के बल लेट जाएं।
  • चेहरे के पास अपनी हलेथियां रखें। 
  • फिर दोनों पैरों को ऐसे मोड़े कि आपके पैर की उंगलियां ऊपर की तरफ हों।
  • अब हाथ को जमीन से ऊपर उठाकर हिप्स को भी उठाने की कोशिश करें। 
  • आप अधो मुखासन में आ जाएंगी।
  • इसके बाद सांस अंदर लें, सिर को नीचे की तरफ रखें। 
  • ऐसा करते हुए आपके कंधे और चेस्ट हाथ के ऊपर होने चाहिए।
  • अब धीरे-धीरे वजन दाएं हाथ पर डालें।
  • अब सिर को तिरछा करें और दाएं हाथ को उठाएं।
  • दाएं घुटने को मोड़ें और बाएं हाथ से दाएं हाथ के पैर का अंगुठा पकड़ें।
  • वजन को दाएं हाथ पर ले आएं और बाएं पैर को ऊपर की ओर उठाएं।

फायदे 

  • पेट की मसल्‍स को टोनकरता है।
  • बैलेंस, एकाग्रता और ध्यान केंद्रित करता है।
  • कलाई, फोरआर्म्स, कंधों और स्‍पाइन को मजबूत करता है।
  • कलाई में फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ाता है।
  • हिप्‍स और हैमस्ट्रिंग को खोलता है।
 

Recommended Video

भुजंगासन (कोबरा पोज)

cobra pose malaika arora

यह एक शुरुआती लेवल की मुद्रा है जो शरीर के ऊपरी हिस्‍से, पेट और पीठ के निचले हिस्से की मूल मसल्‍स को लक्षित करती है। ये आसन कंधों और बाजुओं को भी मजबूत बनाने में मदद करता है। साथ ही इसे करने से शरीर की फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ती है।

विधि

  • इसे करने के लिए पेट के बल लेट जाएं। 
  • हाथों को चेस्‍ट की बगल में रखें और उन्हें कोहनियों से झुकाएं।
  • सांस भरते हुए, सिर और गर्दन को ऊपर उठाकर छत की ओर देखें। 
  • पैरों को साथ में रखें और शरीर के ऊपरी हिस्‍से को केवल नाभि तक उठाएं। 
  • 6 सेकेंड के लिए इस पोजीशन में रहें। 
  • धीरे से आसन से बाहर आ जाएं।

फायदे

  • रीढ़ को मजबूत करता है।
  • चेस्‍ट और लंग्‍स, कंधों और पेट को फैलाता है।
  • हिप्‍स को टोन करता है।
  • पेट के अंगों को उत्तेजित करता है।
  • तनाव और थकान को दूर करने में मदद करता है।
  • साइटिका को शांत करता है।
  • पेट की चर्बी को तेजी से कम करता है।

नौकासन (बोट पोज)

boat pose

यह पेट की अनचाही चर्बी से छुटकारा पाने और कोर की मसल्‍स को मजबूत करने के लिए एक अद्भुत मुद्रा है।

विधि

  • घुटनों के बल चटाई पर और फर्श पर पैरों को सीधा करके बैठें।
  • पैरों को उठाएं और अब अपने घुटनों को मोड़कर रखें।
  • ऐसा करते हुए आपका शरीर स्वाभाविक रूप से ऊपर आ जाएगा लेकिन पीठ सीधी होनी चाहिए।
  • पैरों को 45 डिग्री के कोण पर सीधा करें।
  • शरीर का ऊपरी हिस्‍सा जितना संभव हो उतना सीधा करें। 
  • इससे पैरों के साथ एक वी आकार बनता है।
  • अपनी बाजुओं को एकदम सीधा रखें। 
  • सिट बोन्‍स पर बैलेंस बनाने की पूरी कोशिश करें। 
  • कम से कम 5 सांसों के लिए इस मुद्रा में रहें। 
  • सांस छोड़ते हुए अपने पैरों को छोड़ें। 
  • वापस पुरानी मुद्रा में आ जाएं।

फायदे

  • आत्मविश्वास में सुधार करने में मदद करता है।
  • पेट और कोर की मसल्‍स को मजबूत करने में बहुत प्रभावी है। 
  • यह डिप हिप फ्लेक्सर्स पर भी काम करता है। 
  • बैलेंस को बेहतर बनाने में मदद करता है।
  • पेट की चर्बी कम करने में मदद मिलती है।
  • कैलोरी तेजी से बर्न होती है। 
  • वेरिकोज वेन्‍स से परेशान महिलाओं के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है।
 

कोर की मजबूती के फायदे

  • कोर का मजबूत करने वाले योग आपके पोश्चर में सुधार करते हैं, इससे आपकी मसल्‍स तक सही तरीके से ऑक्सीजन पहुंचता है। 
  • कोर मसल्स की मजबूती से अपनी रीढ़ को सीधा करने में मदद मिलती है।
  • शरीर में बैलेंस और कॉर्डिनेशन में भी सुधार होता है। 
  • कोर स्ट्रेंथनिंग योग पेट, साइड, और पैरों की चर्बी से छुटकारा पाने का शानदार तरीका है। 
  • मसल्‍स स्ट्रेन, पीठ की चोट और दर्द के जोखिम में कमी आती है।
  • एक मजबूत और टोंड कोर स्टेबिलिटी में सुधार करता है।

आप भी इन योगासन को करके कोर को मजबूत और पेट की चर्बी को तेजी से कम कर सकती हैं। योग से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Article & Image Credit: Instagram.com (@malaika arora)
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।