बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं का फिगर खराब होने लगता है और वह उसे बनाए रखने के उपायों की तलाश में रहती हैं। अगर आप भी ऐसी ही महिलाओं में से एक हैैं जो बढ़ती उम्र में खुद को फिट और कर्वी फिगर पाना चाहती हैं तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्‍योंकि आज हम आपके लिए एक ऐसा योग लेकर आए हैं जिसे रोजाना करने से आप अपनी इस चाह को पूरा कर सकती हैं। इस योग की जानकारी हमें मलाइका अरोड़ा का इंस्‍टाग्राम अकाउंट देखने के बाद मिली। 

जी हां मलाइका अरोड़ा 47 की उम्र में कर्वी फिगर की मालकिन हैंं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि वह अपनी फिटनेस पर बहुत ज्‍यादा ध्‍यान देती हैं। योग तो उनके फिटनेस रूटीन का अहम हिस्‍सा है वह खुद को फिट रखने के लिए रोजाना योग करती हैं। इतना ही नहीं वह अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स को इंस्‍पायर करने के लिए योग के वीडियोज और फोटोज शेयर करती रहती हैं। हाल ही में उन्‍होंने नौकासन करते हुए एक फोटो पोस्‍ट किया है।

मलाइका ने बताए फायदे  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Malaika Arora (@malaikaaroraofficial)

मलाइका ने योग का फोटो शेयर करते हुए कैप्‍शन में लिखा, ''उम्‍मीद है कि आप सभी ने अपने प्रियजनों के साथ एक बेहतरीन वेलेंटाइन मनाया होगा। इस सप्ताह की शुरुआत एक ऐसे योगासन से करें जो आपको खुद से जुड़ने में मदद करेगा। आत्म-प्रेम तब शुरू होता है जब आप अपने मन और शरीर की देखभाल करने का निर्णय लेते हैं जिसके वह हकदार हैं। तो चलिए इस हफ्ते के साथ आगे बढ़ें और नौकासन रोजाना करें। यह योगासन आपको इच्छाशक्ति, दृढ़ संकल्प और आत्म-नियंत्रण का निर्माण करते समय आत्मविश्वास में सुधार करने में मदद करता है। यह पेट और कोर की मसल्‍स को मजबूत करने में बहुत प्रभावी है। यह डिप हिप फ्लेक्सर्स पर भी काम करता है और संतुलन को बेहतर बनाने में मदद करता है।''

इसे जरूर पढ़ें:मलाइका अरोड़ा 46 की उम्र में भी दिखती हैं 30 की, ये 3 योग हैं सीक्रेट

करने का तरीका

  • इसे करने के लिए अपने घुटनों के बल चटाई पर और फर्श पर अपने पैरों को सपाट करके बैठें।
  • अपने पैरों को उठाएं। अब अपने घुटनों को मोड़कर रखें।
  • आपका ऊपरी शरीर स्वाभाविक रूप से वापस आ जाएगा लेकिन आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए।
  • अपने पैरों को 45 डिग्री के कोण पर सीधा करें। आपका ऊपरी शरीर जितना संभव हो उतना सीधा होना चाहिए जैसे कि यह पैरों के साथ एक वी आकार बनाता है।
  • अपनी बाजुओं को लगभग फर्श के समानांतर सीधा करें।
 

Recommended Video

  • सिट बोन्‍स पर बैलेंस बनाने की पूरी कोशिश करें। बैलेंस को सपोर्ट करने के लिए अपनी चेस्‍ट को उठाने पर ध्यान दें।
  • कम से कम 5 सांसों के लिए इस मुद्रा में रहने की कोशिश करें।
  • सांस छोड़ते हुए अपने पैरों को छोड़ें। फिर सांस लें और बैठें।
  • ऐसा करते समय खुद को धक्का न दें। आप हमेशा सपोर्ट के साथ मुद्रा में से वापस आ सकती हैं।

एक्‍सपर्ट की राय

यह योगासन हमारे लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है यह जानने के लिए हमने योग गुरू नेहा से बात कि तब उन्‍होंने हमें बताया कि ''यह स्‍पाइनल कोड के लिए बहुत अच्‍छा होता है। जिन महिलाओं को कमर में दर्द की शिकायत होती है वह इस योगासन को हमेशा पैरों में दूरी बनाकर करें। इसे करने के दो तरीके होते हैं। इसे आप पेट के बल या कमर के बल कर सकती हैं। अगर आप पेट के बल इस योगासन को करती हैं तो यह सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस में बहुत फायदा पहुंचाता है। कमर के बल इसे करने से पीरियड्स या रिप्रोडक्‍शन से संबंधी समस्‍याओं में फायदा होता है क्‍योंकि ब्‍लड का फ्लो रिप्रोडक्टिव सिस्‍टम की तरफ बढ़ता है। जिससे वह उसकी ब्‍लॉकेज खोलने में मदद करता है। साथ ही साथ यह वेरिकोज वेन्‍स से परेशान महिलाओं के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है।

इसे जरूर पढ़ें:बढ़ती उम्र में भी जवां बने रहने के लिए मलाइका अरोड़ा की तरह ये योग करें

 

अन्‍य एक्‍सपर्ट की राय

नौकासन के फायदे बताते हुए फिटनेस एक्‍सपर्ट टीना चौधरी ने बताया, ''इसका जबरदस्‍त फायदा यह है कि यह एक कोर वर्कआउट है। आपकी बॉडी का कोर एरिया वह है जहां हमारे सारे अंग होते हैं। जितना हमारा कोर मजबूत होगा तभी हम इस पोज को कर सकती हैं। अगर हम इसे चक्रासन के बाद करते हैं तो यह हमें बेहतर तरीके से हो पाता है। इससे आपकी पीठ, कोर और स्टेबिलिटी चैलेंज होती है। अगर लंबे समय में आपका कोर और पीठ मजबूत है तो आपकी एजिंग भी बढि़या होती है। इसके अलावा लगातार इसे करने से बैली फैट कम करने में मदद मिलती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि जब हम पोज को होल्‍ड करते हैं तो हमें बहुत ज्‍यादा एनर्जी लगानी पड़़ती है जिससे कैलोरी बर्न होती है।'' 

म‍लाइका अरोड़ा जैसी कर्वी फिगर पाने के अलावा बहुत सारे फायदे पाने के लिए रोजाना इस योगासन को करें। फिटनेस से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com