कमर दर्द आज के समय में एक आम शिकायत बन गई है, जिसका कारण कमर में लचक, हेल्‍थ की स्थिति, बैठने का गलत तरीका और तनाव हो सकता है। कमर में मसल्‍स, लिगामेंट्स, टेंडन्स, डिस्क्स और हड्डियां होती है और इनमें से किसी में भी समस्या होने पर कमर दर्द हो सकता है। ग्‍लोबल लिडिग होलिस्टिक हेल्‍थ गुरू और कॉर्पोरेट लाइफ कोच डॉक्‍टर मिकी मेहता का कहना हैं कि कमर दर्द के प्रमुख कारणों में मसल्‍स में लचक, तनाव, क्षतिग्रस्त डिस्क, चीजों को गलत तरीके से उठाना, साइटिका और आर्थराइटिस/ओस्टियोपोरोसिस हो सकता है। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि कमर दर्द के लक्षणों को दूर करने के वाली कई एक्‍सरसाइज व्यायाम हैं जिन्हें अपनाकर आपको राहत मिल सकती है। आइए जानें कौन सी हैं ये एक्‍सरसाइज जो कमर दर्द को दूर करने में आपकी हेल्‍प करती हैं साथ ही इसे करने से आप अपना वजन भी कम कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: महिलाएं घर बैठे आसानी से कर सकती हैं ये 3 स्‍पेशल एक्‍सरसाइज, आज से ही करें

1.कैट एंड कैमल स्ट्रेच
cat and camel stretch inside

अपने हाथों और घुटनों पर आएं, कलाइयां कंधों के नीचे होनी चाहिए और घुटने हिप्‍स के नीचे। सांस लेते समय कमर को ऊपर उठाएं, सीने को आगे ले जाएं और नाभि को फर्श पर आने दें। सांस छोड़ते समय अपनी रीढ़ को बाहर घुमाएं और टेलबोन को सिकोड़ें। अपने सिर को फर्श की ओर लाएं और ठोढ़ी को चेस्‍ट की ओर। सांस के साथ अपनी गति का तालमेल बिठाएं और ऐसा 5-10 बार करें।

2.ब्रिज पोज
bridge pose for back pain inside

चटाई पर लेटते समय पैरों को चटाई पर रखें और घुटने उठाएं। अपनी भुजाओं को शरीर के पास रखें। सांस लेते समय अपने हिप्‍स को उठाएं और कमर को सिकोड़ें। इतना उठाएं कि चेस्‍ट ठोढ़ी का स्पर्श करे। सांस छोड़ते समय हिप्‍स को फिर से चटाई पर ले आएं।

इसे जरूर पढ़ें: Back pain ने कर दिया है जीना मुश्किल तो अब भगाइये इसे

3.सुपिन स्पाइनल ट्विस्ट
supine spine twist for back pain inside

इस एक्‍सरसाइज को करने के लिए कमर के बल लेटें, अपनी भुजाएं खोलकर कंधों की सीध में लाएं। दायें पैर को 90 डिग्री तक उठाएं और बाईं ओर रखें, इस समय दायां कंधा देखें। दूसरे पैर के साथ भी यही प्रक्रिया दोहरायें।

इसे जरूर पढ़ें: मीठे जहर पर लगाम कसने के लिए ladies को रोजाना करने चाहिए ये 5 योगासन

4.कोबरा पोज
cobra pose for back pain inside

पेट के बल लेटें और हाथों को चेस्‍ट के पास लाएं। कुहनियों को पसलियों की ओर सिकोड़ें और सांस लेते समय चेस्‍ट उठाएं, कंधे घुमाएं और सिर को पीछे ले जाएं। सांस छोड़ते समय चेस्‍ट को नीचे की ओर लाएं।

5.साइड बेंडिंग पोज

सीधे खड़े हों। अपने हाथों को सिर के ऊपर ले जाएं और उंगलियों को एक-दूसरे में गूंथें। सांस छोड़ते समय दायें हिप्‍स को दबाएं और बाईं ओर मुड़ें। उंगलियों को ऊपर नीचे करें। दूसरी ओर भी यही प्रक्रिया दोहरायें।

रोजाना सही एक्‍सरसाइज करें और खुश रहें!!!