जहां एक ओर टेक्नोलॉजी ने जीवन को कहीं अधिक सुविधाजनक और आरामदायक बना दिया है और यहां तक कि दुनिया को भी करीब ला दिया है, वहीं दूसरी ओर इससे जुड़ी कई  स्वास्थ्य संबंधी कमियां भी हैं। लैपटॉप और फोन स्क्रीन से निकलने वाली ब्‍लू लाइट के कारण हमारी आंखों पर प्रेशर पड़ने से लेकर लगातार ईयरफोन पर तेज म्‍यूजिक सुनने से हमारे कानों को नुकसान पहुंचने तक - गैजेट्स के ज्‍यादा इस्‍तेमाल से होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं काफी प्रचलित होती जा रही हैं, खासकर युवा पीढ़ी के बीच। 

टेक्नोलॉजी के कारण होने वाली नवीनतम स्वास्थ्य संबंधी समस्या को 'टेक्स्ट नेक' कहा जाता है। इसे कुछ लोग 'फॉरवर्ड हेड सिंड्रोम' के नाम से भी जानते हैं। यह मोबाइल फोन या लैपटॉप का उपयोग करते समय अपने सिर को लंबे समय तक नीचे झुकाने के कारण होती है। अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान हैं, तो इस आर्टिकल में बताई इन 3 एक्‍सरसाइज को जरूर करें। इन एक्‍सरसाइजेज की जानकारी हमें यास्‍मीन कराचीवाला के इंस्‍टाग्राम को देखने के बाद मिली है।  

सेलिब्रिटी फ़िटनेस एक्‍सपर्ट यास्मीन कराचीवाला ने फ़िजियोथेरेपिस्ट डॉक्‍टर हेमाक्षी बसु के साथ मिलकर वीडियो की एक सीरिज अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से शेयर की है, जिसमें उन्‍हें आसान एक्‍सरसाइज करते हुए दिखाया गया है। यह 3 एक्‍सरसाइज आपकी गर्दन पर स्‍ट्रेस को कम करने और रीढ़ की हड्डी के संरेखण को सही करने में मदद करने के लिए घर पर ही की जा सकती हैं।

यास्‍मीन कराचीवाला की राय

एक्‍सरसाइज का वीडियो शेयर करते हुए यास्‍मीन ने कैप्‍शन में लिखा, ''क्या आप जानते हैं कि टेक्स्ट नेक आपके सिर के वजन को 12 किलो से 48 किलो तक बढ़ा सकता है। डरावना, लेकिन सच है। हम ऐसी 'तकनीकी' दुनिया में रहते हैं, जहां हर कोई हमेशा अपने फोन या कंप्यूटर पर होता है। टेक्स्ट नेक (फॉरवर्ड हेड सिंड्रोम) लगातार नीचे देखने या बहुत देर तक झुके रहने के कारण होता है, जिससे जोड़ों और लिगामेंट्स पर भार पड़ता है, मसल्‍स लंबी और कमजोर होती हैं और डिस्क पर (सर्वाइकल स्लिप डिस्क का एक और बड़ा कारण) लोड पड़ता है।''

आगे उन्‍होंने लिखा, ''हम यह नहीं कह रहे हैं कि आपको निश्चित रूप से अत्यधिक सेल फोन के उपयोग से समस्याएं होंगी। हम यह भी नहीं कह रहे हैं कि इसके लिए कोई सही पोश्चर है, क्योंकि ऐसा नहीं है। लेकिन यहां कुछ एक्‍सरसाइज हैं, जो आपको 'रीसेट' करने और सिर के बेहतर संरेखण के लिए गर्दन और ऊपरी पीठ की मसल्‍स को एक्टिव करने में मदद कर सकती हैं।'' आइए टेक्स्ट नेक से बचाव और पोश्चर में सुधार करने वाली बेस्‍ट एक्‍सरसाइज के बारे में जानें।

इसे जरूर पढ़ें: Health पर भारी पड़ते gadgets, हो सकता है text neck syndrome

एक्‍सरसाइज नंबर-1: चिन ग्लाइड्स

Chin glides

  • इसे करने के लिए दो उंगलियों को अपनी चिन पर रखें। 
  • आंखों से समानांतर रूप से आगे की ओर देखते हुए चिन को उंगलियों से पीछे की ओर हॉरिजॉन्टल रूप से खिसकाएं। 
  • यह एक गतिशील एक्‍सरसाइज है, जो आपको इस बात से अवगत कराती है कि आपके कान आपके कंधों के ऊपर हैं। 
  • बहुत ज्‍यादा आगे की ओर न करें, क्योंकि यह आपकी गर्दन की संरचनाओं को स्‍ट्रेच देती है। 
  • इस एक्‍सरसाइज को अपनी नाक ऊपर करके न करें, क्योंकि इससे आपका जोड़ जाम हो सकते हैं। 
  • चिन को नीचे की ओर करके इस एक्‍सरसाइज को न करें, क्योंकि यह आपके जोड़ को लॉक कर सकती है।

एक्‍सरसाइज नंबर-2: एक्टिव चिन ग्लाइड्स

active chin glides

  • इसे करने के लिए अपनी दो उंगलियों को चिन पर रखें। 
  • फिर अपनी उंगलियों को बिना हिलाए, सिर्फ अपनी गर्दन को पीछे ले जाएं। 
  • इस पोजीशन में 5 से 10 सेकेंड के लिए होल्‍ड करें, ताकि आपके सिर को सीधा रखने के लिए मसल्‍स को एक्टिव किया जा सके। 
  • अपने कानों को अपने कंधों के ऊपर रखें और अपनी गर्दन को आगे की ओर ले आएं। 
  • फिर आगे वापस उंगलियों के पास आकर रिलैक्‍स करें।

एक्‍सरसाइज नंबर-3: स्टर्नम लिफ्ट विद हेड रोटेशन्‍स

sternum lift with head rotations

  • हाथों और पैरों के बल झुककर शुरुआत करें। 
  • चेस्‍ट को फर्श से दूर उठाएं और सिर को ऊपरी पीठ के अनुरूप बनाएं। 
  • अपनी नाक के ठीक सामने एक पेंसिल का चित्र बनाएं।
  • सिर को पहले बाईं ओर और फिर दाईं ओर छोटे-छोटे रोटेशन में घुमाकर अपनी नाक से खींचने का नाटक करें। 
  • सेंटर में वापस आएं और आराम करें। 
  • इस एक्‍सरसाइज को कई बार दो रोटेशन्‍स में करें।

खुद को थोड़ा टाइम दें और दिनभर अपनी मसल्‍स को एक्टिव रखने के लिए थोड़ा और समय बिताएं। इन एक्‍सरसाइज को आजमाएं और हमें फेसबुक पर कमेंट करके बताएं, आप कैसा महसूस करते हैं? अगर आपको किसी तरह का दर्द है, तो इन एक्‍सरसाइज को करने से पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Story Inputs and Image Credit- Yasmin Karachiwala/ Instagram