ऑफिस के काम की डेड लाइन, घर का काम, बच्चों की जिम्‍मेदारियां, पैसों की चिंता, किराने का सामान आदि महिलाओं को अंतहीन चिंताएं होती हैं। यह महिलाओं के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकती हैं। ये जीवन में आने वाला तनाव थकाऊ है और आपको उम्र से पहले बूढ़ा बना सकता है। इसके अलावा, 45 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को कई तरह की शारीरिक बीमारियों से जूझना पड़ता है, जैसे कि मेनोपॉज के लक्षण, अर्थराइटिस, थायरॉयड, वजन बढ़ना और थकान।

हालांकि, 40 से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए स्वास्थ्य प्राथमिकता होनी चाहिए, लेकिन यह अन्य प्राथमिकताओं से पीछे हट जाती है। विडंबना यह है कि, आत्म-देखभाल की कमी अधिक तनाव के मुख्य कारणों में से एक बन सकती है। लेकिन यदि आप योग का अभ्यास करती हैं और अपने 20वें और 30वें दशक में शारीरिक रूप से एक्टिव हैं, तो निश्चित रूप से आपको उम्र की परवाह नहीं होगी, चाहे वह 40 हो या 60।

अगर किसी कारण से आप पिछले कुछ सालों में खुद के लिए कुछ समय नहीं निकाल पाई हैं, तो 45 से शुरू करना भी सही है। आप किसी भी उम्र में योग शुरू कर सकती हैं। शोध से पता चलता है कि आपके 45वें बथडे के बाद हर गुजरते साल में आपका मेटाबॉलिज्‍म 5% तक धीमा हो सकता है। कार्टिलेज, टेंडन और लिगामेंट कम लोचदार हो जाते हैं और मसल्‍स टाइट हो जाती हैं, जिससे चोट या जोड़ों / शरीर में दर्द की संभावना बढ़ जाती है। इस प्रकार उम्र के साथ लचीलेपन और खिंचाव को बढ़ाने की आवश्यकता बढ़ती जाती है। 

लेकिन ज्यादातर महिलाएं अपने स्वास्थ्य, खान-पान और दवाओं के प्रति लापरवाह हो जाती हैं। प्रेग्‍नेंसी के दौरान महिलाओं को आमतौर पर कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियों की कमजोरी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। खैर, अभी देर नहीं हुई है.... आप 45 साल के बाद भी खुद को फिट रख सकती हैं और अपने बारे में अच्छा महसूस कर सकती हैं। 

45 की उम्र के बाद अच्छे भोजन विकल्प और एक्‍सरसाइज आपके स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकते हैं। शुरू करने में कभी देर नहीं होती। आज हम आपको 2 ऐसे योगासन के बारे में बता रहे हैं जिन्‍हें महिलाएं महिलाएं रोजाना करके खुद को फिट और लंबे समय तक जवां बनाए रख सकती हैं। इन योगासन की जानकारी हमें शिल्‍पा शेट्टी के इंस्‍टाग्राम अकाउंट को देखने के बाद मिली है। आइए इन योगासन के बारे में विस्‍तार से जानें। 

इसे जरूर पढ़े:शिल्पा शेट्टी बता रही हैं स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज की Importance,जानें 'उत्तान पृष्ठासन' करने का तरीका

गत्यत्मक उत्थिता पादहस्तासन

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty)

इस योगासन को शेयर करते हुए शिल्‍पा ने कैप्‍शन में लिखा, ''बढ़ते मामलों के कारण लॉकडाउन और अन्य प्रतिबंध काफी तनाव पैदा कर सकते हैं। लेकिन, हमें एकजुट होकर खड़ा होना होगा और वह करना होगा जो हमें करने की जरूरत है। सबसे पहले, हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हमारे अपने शरीर प्रतिबंधित गतिविधियों के प्रभावों का शिकार न हों। हमारी इम्‍यूनिटी को बनाए रखते हुए, मसल्‍स और जोड़ों को लचीला और चुस्त रखना महत्वपूर्ण है।'' 

आगे उन्‍होंने लिखा, ''इसलिए, आज सुबह, मैंने अपने लिए दिनचर्या को थोड़ा कठिन बनाने का फैसला किया। मैंने नौकासन की ओर ले जाने वाले गत्यत्मक उत्थिता पादहस्तासन को चुना। यह प्रवाह कोर ताकत बनाने में मदद करता है, हैमस्ट्रिंग को फैलाता है, एब्स की मसल्‍स को टोन करता है और बाहों, कंधों और जांघों की मसल्‍स को मजबूत करता है। इस प्रवाह को आजमाएं, लेकिन याद रखें कि केवल उतना ही खिंचाव करें जितना आपका शरीर अनुमति देता है। कुछ भी जबरदस्ती न करें। सुरक्षित रहें, सामाजिक दूरी बनाए रखें, और जब आप बाहर निकलें तो कृपया मास्क लगाएं।''

Recommended Video

सेतुआसन

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty)

शिल्‍पा शेट्टी ने कुछ दिनों पहले सेतुआसन करते हुए एक वीडियो शेयर किया था जिसके कैप्‍शन में लिखा, ''कभी-कभी ऐसा समय होता है जब कोई भी दो दिन समान नहीं होते हैं। एक को शिथिल और संतुलित किया जा सकता है, और दूसरा बिल्कुल बिजी। ताकत बनाने और उन सभी को संतुलित करने के बीच की खाई को भरने के लिए, मैं अभी भी योग के माध्यम से इसे समग्र रूप से करना चुनती हूं।'' 

''आज एक ऐसी ही सुबह थी, एक बिजी दिन से ठीक पहले, मैंने सेतुआसन को चुना। यह लाभों से भरपूर है। यह बाजुओं को टोन और मजबूत करता है, रीढ़ की काठ का क्षेत्र और अकिलीज़ टेंडन और स्त्री रोग संबंधी विकारों को दूर करने में भी मदद करता है। इसके अलावा, यह तंत्रिका, पाचन, श्वसन, हृदय और ग्रंथि प्रणाली को बनाए रखने में मदद करता है।'' 

इसे जरूर पढ़े:तन और मन दोनों के लिए अच्‍छा है ये योग, शिल्‍पा शेट्टी की तरह आप भी करें

''हालांकि, यदि आपको किसी प्रकार की कोहनी या कलाई में दर्द है, या यदि आप हाई ब्‍लड प्रेशर या चक्कर से पीड़ित हैं तो कृपया इस आसन को करने से बचें। कभी भी अपना ध्यान न खोएं।''

आप भी शिल्‍पा शेट्टी की तरह इन 2 योग को करके खुद को 45 की उम्र के बाद भी फिट और जवां बनाए रख सकती हैं। आप शिल्‍पा शेट्टी के इंस्‍टाग्राम के वीडियो को देखकर आसानी से इन योगासन को कर सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Article & Image Credit: Instagram (Shilpa Shetty)