एक महिला घर में एक पुरुष की तुलना में कहीं अधिक जिम्मेदारियां निभाती है। वह पूरे परिवार की गृहिणी, मां और पालन-पोषण करने वाली प्रमुख स्थिति रखती है। कई भूमिकाओं को ध्यान में रखते हुए और अधिक नाजुक होने के कारण, उसे देखभाल की ज्‍यादा जरूरत होती है। एक महिला के रूप में, आपको तनाव मुक्त और अच्छे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में रहना सुनिश्चित करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्‍योंकि महिलाओं में तनाव और चिंता के कारण वजन बढ़ने या मोटापा की समस्‍या होने लगती है। योग का समग्र अभ्यास इससे बचने का सबसे अच्‍छा तरीका है। योग शारीरिक फिटनेस के साथ-साथ मानसिक संतुलन का वादा करता है।

वजन कम करने के लिए महिलाओं को योगासन के लिए रोजाना अनिवार्य रूप से समय निकालना चाहिए। योग खुद को तनावमुक्त करने और वजन कम करने का अचूक साधन साबित हुआ है। अगर आप रोजाना ऐसी नहीं कर सकती हैं, तो आपको योग के अभ्यास के लिए हफ्ते में कम से कम 3 बार 30-45 मिनट के वर्कआउट के बीच कहीं भी प्रतिबद्ध होना चाहिए। यहां आपकी दिनचर्या के लिए कुछ जरूरी आसन दिए गए हैं। इन योगासन के बारे में हमें योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं।

नौकासन करता है कमाल 

naukasana for women health

  • इसे करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं।
  • पीठ पर संतुलन बनाने के लिए अपने शरीर के ऊपरी और निचले हिस्‍से को ऊपर उठाएं।
  • पैर की उंगलियां आपकी आंखों के साथ संरेखित होनी चाहिए।
  • इसे करते हुए अपने घुटनों और पीठ को सीधा रखें।
  • बाजुओं को जमीन के समानांतर और आगे की ओर इशारा करते हुए रखें।
  • अपने पेट की मांसपेशियों को टाइट करें और पीठ को सीधा करें।
  • सामान्य रूप से श्वास लें और छोड़ें।
  • फिर पहली मुद्रा में वापस आ जाएं। 

स्वस ध्यान गठन 

Swaas Dhyan

  • आरामदायक मुद्रा जैसे सुखासन, अर्ध पद्मासन या पद्मासन में बैठें। 
  • अपनी हथेलियों को घुटनों (प्राप्ति मुद्रा) पर ऊपर की ओर रखें।
  • अपनी पीठ को सीधा करें और अपनी आंखें बंद करें।
  • श्वास लेने और छोड़ने का समय 6:6 के अनुपात में होना चाहिए, यानी अगर आप छह बार श्वास लेते हैं, तो आपको छह बार श्वास छोड़ना होगा।
  • श्वास लेते और छोड़ते समय अपनी श्वास पर ध्यान दें और फिर अपने नासिका छिद्र को छोड़ दें।

उत्कटासन से कम होता है वजन 

Utkatasana

  • इसे करने के लिए पीठ के बल सीधी खड़ी हो जाएं।
  • फिर नमस्ते की मुद्रा बनाने के लिए हथेलियों को मिलाएं और बाजुओं को ऊपर उठाएं।
  • घुटनों को मोड़ें और धीरे-धीरे अपने पेल्विक को नीचे करें।
  • इस बात का ध्‍यान रखें कि पेल्विक फर्श के समानांतर और घुटने 90 डिग्री पर झुके हुए हों।
  • टखनों और घुटनों को एक सीधी रेखा में संरेखित करें।
  • अपनी आंखों को अपनी हथेलियों की ओर फोकस करें।
  • सुनिश्चित करें कि आपकी रीढ़ सीधी रहे और पीठ को झुकाने से बचें।
  • 10 सेकेंड के लिए इस मुद्रा में रहें। 

इन योग मुद्राओं को प्राणायाम या सांस लेने की तकनीक जैसे अनुलोम-विलोम, कपालभाति, खंड प्राणायाम आदि के साथ जोड़ा जा सकता है। योग विशेष रूप से महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि यह पीरियड्स की हेल्‍थ में सुधार करता है, हार्मोन को संतुलित करता है और पीसीओडी और थायरॉयड जैसी बीमारियों को कंट्रोल करके वेट लॉस में मदद करता है। 

वजन कम करने के लिए आप भी इस आर्टिकल में बताए योग जरूर करें। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। योग से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।