चिचिंडा एक ऐसी हरी सब्जी है जिसमें पानी की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है। यह पोषक तत्वों, विटामिन्‍स और मिनरल्‍स का पावरहाउस है। अधिकांश हरी सब्जियों की तरह यह भी विशिष्ट विटामिन्‍स और मिनरल्‍स के साथ-साथ बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर है। यह एक प्राकृतिक एंटी-बायोटिक, expectorant के साथ ही साथ एक हेल्‍दी रेचक है। यह आपके पेट को खुश रखने के लिए एकदम सही है और हेल्‍दी डाइजेशन को बढ़ावा देकर आंतों की सफाई करता है। इसमें मौजूद पानी की भरपूर मात्रा के कारण, चिचिंडा शरीर के लिए प्राकृतिक शीतलक के रूप में काम करता है। साथ ही चिचिंडा में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जिनमें मुख्य रूप से फ्लेवोनोइड्स, फेनोलिक एसिड, डाइटरी फाइबर, मिनरल, प्रोटीन, फैट, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ए और ई, पोटैशियम, फास्फोरस, सोडियम, मैग्नीशियम और जिंक पाए जाते हैं। 

चिचिंडा अन्य मसालेदार फूड्स और करी के साथ मेल खाने के लिए एकदम सही है क्योंकि यह गर्मी को कम करता है। यह फैट रहित भोजन है, लेकिन बहुत ही टेस्‍टी है जोकि बहुत ही बढ़िया है। यह फाइबर का एक सुपर समृद्ध स्रोत है जो वजन कम करने में बहुत मदद करता है और पाचन तंत्र को हेल्‍दी रखने और मन को खुश रखने के लिए भी अच्‍छा है। यह हरी सब्जी हमारे लिए कैसे फायदेमंद हो सकती है, इस बारे में हमें MY22BMI की न्‍यूट्रिशनिस्‍ट और फाउंडर Ms.Preety Tyagi जी बता रही हैं।

वेट लॉस में मददगार

snake gourd for weight loss inside

जो महिलाएं वेट लॉस की कोशिश कर रही हैं उन्‍हें अपनी डाइट में चिचिंडा को शामिल करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्‍योंकि यह एक लो कैलोरी फूड है, जिसके सेवन से शरीर में फैट नहीं बढ़ता है। कम कैलोरी होने से यह वजन को कंट्रोल रखने में भी मदद करता है। इसलिए, अगर कोई चाहता है कि उनका फैट न बढ़े, तो चिचिंडा का सेवन जरूर करें।

इसे जरूर पढ़ें: महिलाओं के लिए सुपरफूड है मेथी का पराठा, सर्दियों में खाने से मिलते हैं कई फायदे

डाइजेशन के लिए अच्‍छा

चिचिंडा खाने से आपका डाइजेस्टिव सिस्‍टम भी बेहतर होता है। चिचिंडा में डाइटरी फाइबर पाए जाते हैं जो फूड्स को पचाकर मल के जरिए बाहर करने का काम करते हैं। इससे डाइजेस्टिव सिस्‍टम हेल्‍दी रहता है और डाइजेस्टिव सिस्‍टम में आसानी हो सकती है। जिन लोगों को अधिक अपच की समस्या होती है, वह चिचिंडा को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

कब्ज के लिए अच्‍छा

snake gourd constipation inside

कब्ज की समस्या से निजात दिलाने में भी चिचिंडा बहुत अच्‍छा होता है। कब्ज की स्थिति में पेट अच्‍छी तरह से साफ नहीं हो पाता है लेकिन इस सब्‍जी के सेवन से फायदा मिलता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इसमें लैक्सेटिव प्रभाव होता है। यह कब्ज की स्थिति में पेट को साफ करने में मदद करता है।

डायबिटीज में फायदेमंद

डायबिटीज रोगियों के लिए भी चिचिंडा दवाई की तरह काम करता है। इसमें एंटी-डायबिटीक गुण पाए जाते हैं जो ब्लड ग्लूकोज लेवल को कम करते हैं। अगर आप डायबिटीज को कंट्रोल में रखना चाहती हैं तो अपनी डाइट में इसे जरूर शामिल करें।

Recommended Video

मिनरल्‍स से भरपूर

इससे कई शारीरिक समस्याओं को दूर रखने में मदद मिलती है। जी हां चिचिंडा हेल्‍दी सब्जियों में से एक है क्योंकि यह मैग्नीशियम, कैल्शियम और फास्फोरस जैसे जरूरी मिनरल्‍स से भरपूर होती है। ये मिनरल्स हड्डियों, मसल्‍स, हार्ट और ब्रेन को ठीक तरह से काम करने में मदद करते हैं।

दिल के लिए अच्‍छा

snake gourd for heart health inside

ऑक्सीडेटिव डैमेज के कारण दिल के रोग पनप सकते हैं। लेकिन चिचिंडा सब्जी हार्ट हेल्‍थ के लिए बहुत अच्‍छी होती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, फ्री रेडिकल्स द्वारा किए गए ऑक्सीडेटिव चैन रिएक्शन को रोकने का काम कर सकतेे हैंं। इससे ऑक्सीडेटिव डैमेज को कम किया जा सकता है।

अनिद्रा को करता है दूर

चिचिंडा में प्रमुख विटामिन बी 6 या पाइरिडोक्सिन सामग्री ब्रेन के कार्यों की निगरानी के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसलिए अनिद्रा या नींद की गंभीर कमी के मामलों के दौरान चिचिंडा का पानी न्यूरोट्रांसमीटर की गतिविधि को कम करता है और नींद को बढ़ावा देता है।

इसे जरूर पढ़ें: बीमारियों का काल है जिमीकंद की सब्‍जी, जानिए किन दिक्कतों का करती है सफाया

त्‍वचा को ग्‍लोइंग बनाएं

snake gourd benefits inside

चिचिंडा हेल्‍थ के लिए ही नहीं बल्कि आपकी त्‍वचा के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। इसमें स्‍मूदनिंग गुण और विटामिन ई मौजूद होतेे हैंं। इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। इससे त्‍वचा सॉफ्ट और मॉइश्चराइज हो जाती है।

अगर आप भी इन समस्‍याओं को दूर और त्‍वचा को ग्‍लोइंग बनाना चाहती हैं तो अपनी डाइट में इसे जरूर शामिल करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com