क्या आपको सिर में कुछ जमा हुआ सा महसूस हो रहा है?
इसके चलते सांस लेने में तकलीफ हो रही हैं?
तो ये सभी लक्षण बलगम जमा होने के हैं। हालांकि बलगम खतरनाक नहीं होता है लेकिन लंबे समय तक इसके बने रहने से सांस लेने में कठिनाई होती है और यह सांस से संबंधित अन्य समस्याओं का कारण भी बन सकता है। कई बार साइनस के कारण सिर में बलगम जमा हो जाता है। 

मस्तिष्क में कई छेद होते हैं जो सांस लेने में हमारी मदद करते हैं। सिर में मौजूद इन छोटे छिद्रों को ही साइनस कहा जाता है। जब इन छिद्रों में बलगम जमा हो जाता है तो सांस लेने में परेशानियां आने लगती है। ऐसा अक्‍सर इंफेक्शन के कारण साइनस की झिल्ली में सूजन आने के कारण होता है। अगर आपको ऐसा लगता है कि आपके सिर और साइनस में बहुत सारा बलगम जमा हो गया है तो इस आर्टिकल में दिए दो नुस्‍खों को फॉलो करें।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Niti Sheth (@_nitisheth_)

इन नुस्‍खेां के बारे में हमें आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट नीति सेठ का इंस्‍टाग्राम अकाउंट देखने के बाद पता चला। नीति सेठ अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स के साथ समय-समय पर हेल्‍थ से जुड़े टिप्‍स शेयर करती रहती हैं। आइए इन नुस्‍खों के बारे में आर्टिकल के माध्‍यम से विस्‍तार में जानें।

इसे जरूर पढ़ें:साइनस को माइनस करने के लिए इसके बारे में जानना है बेहद जरूरी

पहला नुस्‍खा

mucus  remedy ginger inside

सामग्री 

  • ताजा अदरक का रस- 1 चम्‍मच
  • शहद- 1 चम्‍मच 

इस्‍तेमाल का तरीका

  • ताजा अदरक का रस और शहद लेकर इसे मिक्‍स कर लें। 
  • फिर इसे सुबह शाम लें। 

अदरक का रसबलगम को तोड़ने में मदद करेगा और शहद की स्क्रैपिंग कार्रवाई इसे साइनस से बाहर निकालने में मदद करेगा। जी हां आपकी किचन मौजूद अदरक सब्‍जी का स्‍वाद बढ़ाने के साथ हेल्‍थ से जुड़ी कई समस्‍याओं का रामबाण इलाज है। इसकी तासीर गर्म होती है। अदरक खाने से खांसी-जुकाम और बलगम जैसी परेशानियों से बचा जा सकता है। साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट भी होता है जो जमा टॉक्सिन को साफ करता है और बलगम दूर करता है।   

Recommended Video

 

दूसरा नुस्‍खा

mucus  remedies inside

सामग्री

  • नीलगिरी का तेल- कुछ बूंदें

इस्‍तेमाल का तरीका

  • नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदों को स्‍टीमर में डालकर इसकी स्टीम लें। 
  • स्‍टीम की गर्मी किसी भी अटके हुए बलगम को ढीला और चिकना करने में मदद करती है। 

नीलगिरी का तेल इसे तोड़ने के लिए एक decongestant के रूप में काम करता है। इसके अलावा नीलगिरी के तेल में एंटी-वायरस और एंटी-बैक्टीरियल हीलिंग गुण ब्लॉकेज में सुधार करते हैं।

इन दो नुस्‍खों को अपनाकर आप आसनी से साइनस में मौजूद बलगम को बाहर निकाल सकती हैं। हेल्‍थ से जुड़े ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।