हमारी डाइट में रोज़ाना शामिल होने वाले कई ऐसे फल हैं जो पोषण से भरपूर होते हैं। उन्हीं में से सबसे महत्वपूर्ण फल है केला, जिसके फूलों का भी इस्तेमाल पकवान बनाने के लिए किया जाता है, लेकिन बहुत कम लोगों को पता होगा, कि फल और फूल की तरह ही केले का तना भी सेहत के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद होता है। बता दें कि केला पोटैशियम का प्रमुख सोर्स है और उसके फूल एंटी-एजिंग और डायबिटीज के लिए अच्छे माने जाते हैं। हालांकि केले के तने में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं, जिसे डाइट में शामिल करने से शारीरिक परेशानियों को दूर किया जा सकता है।

आपको बता दें कि केले के तने को आप पकवान या फिर जूस किसी भी तरीक़े से अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। अगर आप जूस बनाना चाहती हैं तो इसके लिए सबसे पहले तने को बारीक कट कर लें और एक कप पानी मिक्स कर के ग्राइंड करें और उसे छान लें। अब इस मिश्रण में एक चम्मच नींबू का रस स्वादानुसार नमक या फिर चीनी मिक्स कर दें। इस तरह केले के तने का जूस बनकर तैयार हो जाएगा। वहीं डायटीशियन स्वाति बथवाल के अनुसार जूस या फिर अन्य तरह से केले के तने को डाइट में शामिल करने के कई सारे हेल्थ बेनिफिट्स हैं। यह ब्लड प्रेशर को मैनेज करने के अलावा डायबीटिज के मरीजों के लिए भी काफ़ी फ़ायदेमंद है।

वज़न कम करने के लिए रोज़ाना पिएं जूस

the banana stem juice

केले का तना बॉडी की कोशिकाओं में मौजूद शुगर और फ़ैट को रिलीज़ करता है। इसमें फ़ाइबर अधिक होता है और कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है, इसके अलावा यह मेटाबॉलिज्म को भी बूस्ट करने का काम करता है। वहीं केले के तने का जूस लंबे वक़्त तक आपका पेट भरा रखता है जो वेट लॉस के लिए बहुत ज़रूरी है। अहम बात है कि इसमें एक ख़ास प्रकार का फ़ाइबर होता है जो शरीर में मौजूद फ़ैट को ख़त्म करने में मदद करता है।

पेट से जुड़ी समस्याओं को करता है दूर

picture of a banana stem

केले के तने का जूस शरीर में मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके अलावा यह पेट के लिए काफ़ी अच्छा होता है। पाचन से जुड़ी समस्या, कब्ज, या फिर एसिडिटी जैसी समस्याओं से निपटने के लिए यह एक घरेलू तरीक़ा है। एसिडिटी की वजह से पेट या फिर सीने में होने वाली जलन से निपटने के लिए यह एक कारगर उपाय है। केले के तने में मौजूद उच्च फ़ाइबर सामग्री पाचन में सुधार करती है।

इसे भी पढ़ें: पेट की समस्याओं के लिए पिएं एक्सपर्ट का बताया ये सौंफ का शर्बत

ब्लड प्रेशर को मैनेज करने में करता है मदद

banana stem images

केले का तना विटामिन B6 से समृद्ध होता है, इसके अलावा इसमें आयरन भी भरपूर मात्रा में होता है। ऐसे में यह हीमोग्लोबिन की संख्या को बढ़ाता है। वहीं इसमें पोटैशियम भी पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर करने के लिए काफ़ी प्रभावी तरीक़ा है। यह शरीर की मांसपेशियों के साथ-साथ हृदय की मांसपेशियों को भी मजबूत बनाने का काम करता है।

Recommended Video

किडनी स्टोन की समस्या का देसी इलाज

about banana stem

अगर आपको किडनी स्टोन की समस्या है तो केले के तने के जूस में इलायची भी मिक्स कर दें। इससे आपके ब्लैडर को रिलैक्स मिलेगा और किडनी की पथरी से बचाव में यह मददगार साबित होगा। बता दें कि रोज़ाना एक ग्लास केले के तने के रस में कुछ बूंद नींबू का रस मिक्स कर पीने से किडनी की पथरी का बनना रुक जाता है। यह किडनी की पथरी के लिए एक देसी तरीक़ा माना जाता है। इसके अलावा यह यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) से प्रभावी रूप से होने वाले दर्द और परेशानी को भी दूर करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें: मामूली घास की तरह दिखने वाला जिनसेंग सेहत के लिए है बेहद फायदेमंद

डायबिटीज के इलाज का घरेलू उपाय

banana stem cutting

केले के तने का रस शरीर में इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित करने का काम करता है। इसलिए यह डायबिटीज के इलाज के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद माना जाता है। बिना छान कर जूस पीने से फ़ाइबर बरकरार रहता है, जो ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ने से रोकता है। जामुन के पत्ते और इसी तरह के अन्य देसी तरीक़ों की तरह ही केले के तने के रस को डाइट में ज़रूर शामिल करें।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।