आजकल महिलाओं के अंदर गलत खान-पान की आदत तो देखने को मिलती ही हैं साथ ही महिलाओं को कम पानी पीने की आदत भी है। लेकिन आपको शायद यह महसूस नहीं होता कि इस आदत के चलते ज्‍यादातर महिलाएं किडनी की समस्‍या से परेशान रहती है। जी हां गलत खान-पान के कारण होने वाली स्‍टोन की समस्‍या के कारण किडनी में छोटे-छोटे पत्‍थर जैसे कठोर स्‍टोन बन जाते है। स्‍टोन एक दर्दनाक समस्‍या है जिसमें रोगी को अचानक से बहुत तेज दर्द होता है और स्‍टोन जब यूरीन पाइप में आ जाता है तब तो दर्द इतना ज्‍यादा होता है कि उनसे सहन ही नहीं होता है।

इतना ही दर्द होने पर उल्टी आना, यूरीन का रुक-रुक कर आना, यूरीन में ब्‍लड आना, यूरीन के रास्‍ते में तेज दर्द होना आदि लक्षण भी देखने को मिलते हैं। पथरी ऐसी समस्या है जो बहुत ही दर्दनाक होती है इसलिए इससे निजात पाने के लिए महिलाएं सर्जरी भी करवाती हैं। लेकिन कुछ ऐसे आयुर्वेदिक तरीके भी जिनकी मदद से सर्जरी के बिना किडनी से स्‍टोन निकाला जा सकता है। शायद आपको यकीन नहीं हो रहा है लेकिन यह सच हैं और इस बारे में जानने के लिए हमने स्‍वामी परमानंद प्राकृतिक चिकित्‍सालय योग एवं अनुसंधान केन्‍द्र की Ayurveda Expert Dr. Divya से तब उन्‍होंने हमें किडनी स्‍टोन को दूर करने वाले हर्ब्‍स के बारे में बताया। उनके अनुसार पत्‍थरचट्टा के पत्‍ते और भुट्टे के बाल जैसे हर्ब्‍स लेने से किडनी स्‍टोन को आसानी से यूरीन के जरिये निकाला जा सकता है।

पत्थरचट्ठा के पत्‍ते

kidney stone patherchatta

Image Courtesy: Pxhere.com

आयुर्वेद में पत्थरचट्टे के पौधे को किडनी स्टोन से जुड़े रोगों के इलाज में उपयोगी माना गया है। पत्थरचट्टा के प्रयोग से पथरी आसानी से बाहर आ जाती है। इसके अलावा यह महिलाओं में होने वाली आम समस्‍याएं जैसे वाइट डिस्चार्ज और यूरीन में जलन में भी बेहद लाभकारी है। इसके सेवन से 10-15 एमएम तक का स्‍टोन यूरीन के रास्‍ते बाहर निकल जाता है।

Read more: Menstrual cycle में आपको भी होता है दर्द? तो कीजिये अदरक का इस्तेमाल

कैसे करें इस्‍तेमाल
पत्थरचट्ठा के 4-5 पत्तों को एक गिलास पानी में पीसकर सुबह-शाम जूस के रूप में लगभग 1-2 माह तक पिएं। जूस के अलावा पत्तों को चबाकर व पकौड़े बनाकर भी खाया जा सकता है। एक हेल्‍दी महिला अगर इसके पत्तों का सेवन नियमित रूप से करती हैं वह कई परेशानियों से बच सकती है।

भुट्टे के बाल

kidney stone cornsilk

Ayurveda Expert Dr. Divya का कहना है कि भुट्टे के बाल का सेवन करने से भी किडनी से स्‍टोन को आसानी से निकाला जा सकता है। भुट्टा तो सभी को बहुत पसंद होता है। लेकिन क्या कभी आपने उसके बालों के फायदे के बारे में सोचा है, नहीं ना। आमतौर पर हम भुट्टे के बालों को फेंक देते है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि इसमें भी विटामिन ए, बी और ई, मिनरल्स और कैल्शियम काफी मात्रा में पाया जाता है। जो महिलाएं किडनी स्टोन से परेशान रहती है उनके लिए इससे अच्‍छा इलाज कोई और हो ही नहीं सकता है। यह किडनी में जमा हुए टॉक्सिन्स और नाइट्रेट को बाहर निकाल किडनी स्टोन होने के खतरा कम करता है। और जिन्हें स्‍टोन की समस्‍या होती है उसका स्‍टोन भी धीरे-धीरे गलाकर किडनी से बाहर कर देता है।

कैसे करें इस्‍तेमाल
इसे लेने के लिए सबसे पहले आप भुट्टे के बालों को पानी में उबाल लें फिर ठंडा होने पर छानकर इसे पीएं।

किडनी स्‍टोन को दूर करने में और कौन से हर्ब्‍स फायदेमंद है इस बारे में जानने के लिए हमने त्यागी पंचकर्मा आयुर्वेदिक हॉस्पिटल की आयुर्वेद डॉक्‍टर शिल्पी शंकर से बात की। तब उन्‍होंने हमें तीन और ऐसे हर्ब्‍स के बारे में बताया जिसकी जानकारी हमें बिल्‍कुल भी नहीं थी। 

बालम खीरा

kidney stone keera

आपने खीरे के फायदों के बारे में तो सुना होगा लेकिन बालम खीरा भी आपकी हेल्‍थ के लिए बहुत अच्‍छा होता है। इसका इस्‍तेमाल किडनी स्‍टोन को निकालने के किया जाता है। क्‍योंकि इसे खाने या पीने से आपको यूरीन ज्‍यादा मात्रा में आता है जिससे आपकी किडनी से विषाक्‍त पदार्थ आसानी से निकल जाते हैं।

कैसे करें इस्‍तेमाल 
बालम खीरा का सुबह-शाम आधा गिलास जूस निकालकर पीने से कुछ ही दिनों में ही पथरी की समस्या खत्म हो जाती है। इसके अलावा अगर आपको पथरी की बीमारी हैं और पथरी बार-बार बनती है तो आप इसके चूर्ण का इस्‍तेमाल भी कर सकती हैं। इसके लिए आप इसके फल को सूखाकर इसका चूर्ण तैयार कर लें। फिर इस चूर्ण को 3 से 5 ग्राम की मात्रा में दिन में दो बार खाएं।

कुल्‍थी की दाल

kulthi daal health

कुलथी की दाल से भी स्‍टोन से बचा जा सकता है। आयुर्वेद के अनुसार कुलथी की दाल में विटामिन 'ए' पाया जाता है, यह शरीर में विटामिन 'ए' की पूर्ति कर पथरी को रोकने में मदद करता है। कुलथी की दाल खाने से पथरी टूटकर या धुलकर छोटी हो जाती है, जिससे पथरी आसानी से यूरिन के रास्ते से बाहर आ जाती है। Diuretic गुण होने के कारण इसके सेवन से यूरिन ज्‍यादा और तेजी से आता है, जिससे रुके हुए पथरी के कण पर प्रेशर पड़ने के कारण वह नीचे की तरफ खिसक कर बाहर आ जाती है। यह 1 सेंटीमीटर से छोटी पथरी के लिए सफल हर्ब है।

कैसे करें इस्‍तेमाल 
कुथली की दाल को 250 ग्राम मात्रा में लें और इसे अच्छे से साफ कर लें। और रात को 3 लीटर पानी में भिगोकर रख दें। सुबह होते ही इस भीगी हुई दाल को पानी सहित हल्की आंच में 4 घंटे तक पकाएं। और जब पानी 1 लीटर रह जाए तब उसमें देशी घी का छौंक लगा दें। आप उसमें काली मिर्च, सेंधा नमक, जीरा और हल्दी डाल सकते हैं।

हरा धनिया

green coriander health

Image Courtesy: Pxhere.com

आयुर्वेद डॉक्‍टर शिल्पी शंकर के अनुसार किडनी बॉडी के ब्‍लड को फिल्टर करती है। इसलिए इस फिल्टर को सही रखने के लिए इसकी साफ सफाई का भी ध्यान रखना चाहिए। और आप सस्‍ते और आसानी से मिलने वाले हरा धनिया की मदद से किडनी को साफ कर सकती हैं। अगर पथरी हो गई है और आपको दर्द भी महसूस हो रहा है तो दर्द को दूर करने के लिए हम हरे धनिये का रस पी सकती हैं।

कैसे करें इस्‍तेमाल 
इसके लिए हरे धनिये का रस निकालकर एक-एक चम्‍मच सुबह शाम लेना चाहिए। इससे दर्द तो दूर होता ही है साथ ही पथरी भी छोटी होती है। धनिया और जीरा एक साथ भिगोकर लेने से यूरीन से संबंधी समस्‍या ठीक हो जाती है। इसके अलावा धनिया का इस्‍तेमाल महिला संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए भी किया जा
सकता है।

तो देर किस बात की इनमें से अपनी पंसद का एक हर्ब लें और पथरी की समस्‍या को दूर भगाएं।

इन सभी चीजों के अलावा नारियल पानी पीने से भी किडनी स्‍टोन को दूर किया जा सकता है। ज्‍यादा जानकारी के लिए देखिए हमारा ये वीडियो।

Read more: क्‍या सच में kidney stone की दवा है बीयर?