भारतीय घरों में हमारी दादी, नानी, अम्मा ने हमेशा से आंवले के फायदों के बारे में हमें बताया है, लेकिन फिर भी आज के समय में ज्‍यादातर लोग इसके फायदों के बारे भूल गए है। इसका एक कारण यह है कि किसान बिल बोर्ड खरीद नहीं सकता है और ऑर्रेंज जूस मेंकर्स या कीवी सेलर्स की तरह टीवी शो स्पॉन्सर नहीं कर पाता है। दूसरा कारण हमारी दादी विदेशी लोकल को इसके फायदों के बारे में नहीं बताती है। कोई नहीं आज हम आपको समझेंगे कि आपने अपना सामान्य ज्ञान कहां खो दिया है और इसे पुनर्जीवित करने का समय आ गया है और यह भी बताएंगे कि आप इस सर्दी में आंवले का इस्‍तेमाल कैसे कर सकती हैं। और इस बात की जानकारी हमें न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर के इंस्‍टाग्राम अकाउंट को देखने के बाद मिली है जिन्‍होंने आंवले के फायदे अपने फैंस के साथ शेयर किए है। तो देर किस बात की आइए जानें कि आप इस सर्दी में आंवला को रोजाना कैसे शामिल कर सकते हैं और इसे अपनी डाइट में शामिल क्‍यों करना चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें: 100 बीमारियों की 1 दवा है आंवला, एक्‍सपर्ट से जानिए इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका

  • 1 आंवला, काले नमक के साथ।
  • जूस के रूप में, ताजा और घर का बना।
  • मुरब्बा या आंवला जैम के रूप में, जो घर पर बना हो और लंबे समय से स्‍टोर किया हुआ है (पुराना बेहतर होता है)। इसे भोजन के साथ लें।
  • आंवला अचार - इसे लंच या डिनर के साथ लें।
  • च्यवनप्राश - जिसका मुख्य घटक आंवला है और इसे आप दूध, पानी या ऐसे ही ले सकते हैं।
  • आंवला सुपारी - सूखे और नमकीन आंवले का उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में और पाचन और एंटासिड के रूप में किया जाता है।

amla benefits by rujuta inside  

सर्दियों में 1 आंवला ही क्यों?

  • सर्दियों में रोजाना एक आंवला खाना (क्योंकि वह इसका मौसम है) - - 
  • सर्दी, खांसी और फ्लू को रोकने और यहां तक कि आपको उनसे उबरने में हेल्‍प करता है।
  • फैट को जलाने और पतली कमर पाने में हेल्‍प करता है। 
  • इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार और ब्‍लड सर्कुलेशन को रेगुलेट करता है। 
  • कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन को रेगुलेट करता है और इसमें कार्डियो-सुरक्षात्मक क्षमताएं होती हैं।
  • आंवले में संतरे के मुकाबले 20 गुणा ज्‍यादा विटामिन सी मौजूद होता है। इसलिए जब आप थका हुआ, सुस्‍त या चिड़चिड़ा महसूस करते हैं तो यह आपकी हेल्‍प करता है। साथ ही यह आयरन को अब्जॉर्ब करने के लिए सह-कारक के रूप में काम करता है। अगर आपका हीमोग्‍लोबीन कम हैं तो आप इसका इस्‍तेमाल जरूर  करें। विशेष रूप से उन सभी के लिए उपयोगी है, जो यौवन के आसपास हैं, खराब पीएमएस या एंडोमेट्रियोसिस हैं। 
  • बालों की सफेदी और चेहरे की झुर्रियों को रोकता है। (यहां तक कि हेयर डाई के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है)।
  • आंखों की रोशनी में सुधार, ओरल हेल्‍थ और तेजी से घाव भरने में मददगार। 
  • विटामिन सी के अलावा विटामिन बी 1 और बी 2 से भरपूर होने के कारण आंवला, पीरियड्स के दूसरे दिन हैवी फ्लो होने पर आपकी मदद करता है।
amla benefits by rujuta inside

आंवला से जुड़े कुछ सवालों के जवाब रुजुता से जानें

न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर, जो एक्‍ट्रेस करीना कपूर को फिट रखने में हेल्‍प करती हैं, आंवला के बारे में कुछ महत्वपूर्ण FAQ शेयर किए हैं। आंवला शर्बत अचार या मुरब्बा लेने का सबसे अच्‍छा समय कौन सा है और इन तीनों का उपयोग किन सामग्रियों से किया जाना चाहिए, आंवला से जुुुुुड़े अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न, यह सब कुछ जानने के लिए आगे पढ़ें।

इसे जरूर पढ़ें: रोजाना सुबह 2 चम्‍मच आंवला जूस पीएं और फिर देखें इसका कमाल!

आंवला शर्बत, आंवला अचार और आंवला मुरब्बा के लिए सबसे अच्छा समय क्या है?

आंवले का जूस सुबह के भोजन के रूप में या नाश्ते के साथ पीया जा सकता है। मुरब्बा और अचार मुख्य भोजन के साथ ले सकते हैं, इसलिए या तो नाश्ते में पराठे के साथ, दोपहर के भोजन में भाकरी या रोटलो या रात के खाने के साथ दाल चावल के साथ इसे लिया जा सकता है।

 

आंवला मुरब्बा बनाने के लिए, हमें चीनी या गुड़ का इस्‍तेमाल करना चाहिए?

यह आपकी पारिवारिक परंपराओं पर निर्भर करता है। अगर एंटासिड के रूप में विशिष्ट उपयोग के लिए बनाया जाता है, तो चीनी के साथ बनाया जा सकता है। इसके अलावा, मुरब्बे में चीनी या अचार में नमक का उपयोग आंवला के जैव-सक्रिय अणुओं की प्रभावकारिता को संरक्षित करने के लिए किया जाता है।

amla benefits by rujuta inside

अगर सर्दियों का मौसम हमारा यहां नहीं होता है और हम भारत से बाहर रहते हैं और ताजा आंवला हम तक नहीं पहुंच रहा है। क्‍या हमारे पास आंवला पहुंच सकता है और कैसे? जी हां आपके पास आंवला पहुंच सकता है, मुरब्बे या भोजन के साथ अचार के रूप में या फिर आंवला सुपारी के रूप में। आप इसे च्यवनप्राश के रूप में भी ले सकते हैं।

क्या किसी को आंवला खाने से बचना चाहिए?

हर कोई आंवला खा सकता है। हां, हर चीज की तरह अति इसकी भी नुकसानदेय हो सकती है। जैसे सुबह के समय आंवला का शॉट या अगर आप हर चीज में आंवला मिलाते हैं तो आपको इसके चिकित्सीय गुणों से अवगत होना चाहिए। पारंपरिक रूप में अपने जीवन में आंवला को पुनर्जीवित और पुनर्जीवित करना महत्वपूर्ण है, लेकिन बहुत ज्‍यादा नहीं।

याद रखें - एक आंवला की खुराक, हर रोज।