मखाने का सेवन अक्सर भारतीय किचन में किया जाता है। कभी इसे यूं ही रोस्ट करके खाया जाता है तो कभी लोग इसे खीर या अन्य कई तरह की रेसिपी में शामिल करते हैं। इतना ही नहीं, मखाने की सब्जी भी कुछ घरों में बनाई जाती है। मखाने की खासियत यह होती है कि इसे चाहे किसी भी रूप में खाया जाए, यह उतना ही डिलिशियस लगता है। इतना ही नहीं, इसमें कई तरह के पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जैसे आपको इसके सेवन से फाइबर सहित कैल्शियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन आदि मिलता है।

विभिन्न नट्स की तरह मखाने को भी अक्सर डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन क्या आपको पता है कि मखाने का सेवन करना हर किसी के लिए लाभदायक नहीं है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें मखाने खाने से विपरीत प्रभावों का सामना करना पड़ता है। ऐसा उनके हेल्थ कंडीशन के कारण होता है। दरअसल, कुछ हेल्थ प्रॉब्लम्स में मखाने खाने से परहेज करना चाहिए।  तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको बता रही हैं कि आपको किन हेल्थ कंडीशन्स में मखाने नहीं खाने चाहिए-

फाइबर की वजह से गैस्ट्रिक समस्याओं में अच्छा नहीं माना जाता मखाना

fiber

  • चूंकि मखाने में फाइबर और प्रोटीन की उच्च मात्रा पाई जाती है, जिसके कारण इसे पचाने में शरीर को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है। 
  • ऐसे में अगर आपको गैस्ट्रिक समस्याएं या फिर ब्लोटिंग या पेट से जुड़ी समस्याएं हो रही हैं तो आपको मखाने का सेवन तुरंत बंद कर देना चाहिए। 
  • अगर आप इस स्थिति में भी आवश्यकता से अधिक मखाने का सेवन करेंगी तो ऐसे में आपकी पाचन संबंधी समस्याएं और भी अधिक बढ़ जाएगी।

कैल्शियम की वजह से किडनी स्टोन की समस्या में अच्छा नहीं माना जाता मखाना

kidney

  • अगर आपको किडनी स्टोन की समस्या है तो भी आपको मखाने का सेवन बेहद सीमित मात्रा में करना चाहिए या फिर उसे अवॉयड करना चाहिए।
  • दरअसल, मखाने में कैल्शियम काफी अच्छी मात्रा में होता है और ऐसे में इसका अधिक सेवन शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाएगी, जिससे आपके स्टोन का साइज बढ़ सकता है या फिर आपको किडनी से संबंधित अन्य प्रॉब्लम्स हो सकती हैं।

फाइबर की वजह से दस्त की समस्या में अच्छा नहीं माना जाता मखाना

dt ritu puri

  • अगर आपको इस समय दस्त या डायरिया की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसे में भी आपको मखाने का सेवन करने से बचना चाहिए। 
  • दरअसल, मखाने में फाइबर कंटेंट बहुत अधिक होता है और फाइबर का एक मुख्य काम बाउल मूवमेंट को बेहतर बनाना है। 
  • इसलिए, जब किसी को कब्ज की समस्या होती है तो उसे फाइबर रिच फूड खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन अगर आपको दस्त हो रहे हैं तो ऐसे में मखाने खाने से आपकी समस्या बद से बदतर हो सकती है।

    Recommended Video

पोटेशियम की वजह से किडनी के लिए अच्छा नहीं माना जाता मखाना

lose motion

  • अगर आपको किडनी से जुड़ी किसी भी तरह समस्या है, मसलन, किडनी फेलियर से लेकर आप किडनी से जुड़ी अन्य हेल्थ प्रॉब्लम्स का सामना कर रही हैं तो ऐसे में भी मखाने को अवॉयड करना आपके लिए अच्छा रहेगा। 
  • दरअसल, मखाना एक पोटेशियम रिच फूड है और ऐसे में मखाने का अतिरिक्त सेवन करने से आपकी किडनी पर प्रभाव पड़ सकता है। 
  • आपको शायद पता ना हो लेकिन पोटेशियम किडनी की हेल्थ को इफेक्ट करता है और इसलिए अधिक मात्रा में पोटेशियम आपके लिए समस्या खड़ी कर सकता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik)