इमली का नाम सुनते ही किसी के भी मुंह में पानी आ जाता है और कोई भी इसके खट्टे-मीठे स्‍वाद का पूरा मजा लेना चाहता है। यहां तक कई तरह की चटनियां और गोलगप्‍पे तो इमली के स्‍वाद के बिना अधूरे होते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि इमली सिर्फ टेस्टी ही नहीं है, बल्कि स्वाद के साथ सेहत से भरपूर होती है। इमली में कई औषधीय गुण होते है। जी हां इमली कई पोषक तत्वों जैसे विटामिन सी, ई, बी, कैल्शियम, आयरन, फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैगनीज और फाइबर होता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी हैं। लेकिन आजकल कोरोनावायरस के चलते लोगों को इमली खाने से बचना चाहिए क्‍योंकि इससे कई लोगों को गला बहुत ज्‍यादा खराब हो जाता है। इसलिए आज हम आपको इमली के बीज के बारे में बता रहे हैं। जी हां एक बहुत काम की चीज इमली में होती है जिसे हम यूं ही फेंक देते हैं और वह इसके बीज है। इमली के बीज बहुत फायदेमंद होते हैं जो आपकी कई हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स को दूर करने में आपकी मदद करते हैं। क्‍या इमली के बीज हमारी हेल्‍थ के लिए इतने फायदेमंद हो सकते हैं। यह जानने के लिए हर जिंदगी ने आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट अबरार मुल्‍तानी जी से बात की तब उन्‍होंने हमें इसके फायदों के बारे में विस्‍तार से बताया। आइए आप भी हमारे इमली के बीज के फायदों के बारे में जानें।  

अबरार मुल्‍तानी जी का कहना है कि ''अगर इमली के बीज के छिलके को हटा कर उसका पाउडर बना कर मिश्री के साथ मिलाकर रख लिया जाए और इसे रोज़ाना एक-एक चम्मच सुबह-शाम गर्म दूध के साथ लिया जाए तो यह कई बीमारियों को ठीक कर देता है।''

इसे जरूर पढ़ें: वेट लॉस से लेकर एनर्जी बढ़ाने तक ये 6 मसाले जरूर खाएं, थकान भी होती है दूर

imli seeds inside

कैल्शियम से भरपूर

यह कैल्शियम और मिनरल से भरपूर होता है इसलिए हड्डियों को मजबूत करता है और जोड़ों की समस्या को भी ठीक करता है। एक उम्र के बाद महिलाओं के शरीर में कैल्शियम कम होने लगता है। जिससे हड्डियां कमजोर होने लगती है। लेकिन इसके सेवन से महिलाओं की इस समस्‍या को दूर किया जा सकता है।

व्हाइट डिस्चार्ज में फायदेमंद

यह बीज महिलाओं की हेल्‍थ के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। जी हां यह महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज की समस्‍या में बहुत लाभदायक है। इसका सेवन करने से महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज के कारण आने वाली कमजोरी को भी दूर किया जा सकता है।

Recommended Video

एंटी बैक्टीरियल गुण

बैक्टीरिया के कारण कई प्रकार की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए इमली के बीज फायदेमंद हो सकते हैं। जी हां इमली के बीज में टैनिन नामक तत्‍व पाया जाता है। यह तत्‍व बैक्टीरिया को पैदा होने और उसे बढ़ने से रोकने में मदद करता है।

imli seeds inside

कमरदर्द में लाभकारी

अधिकतर महिलाओं को कमर दर्द की समस्या होती है और यह समस्या उनकी प्रेग्नेंसी के समय बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है इस समस्या को दूर करने के लिए इमली के बीज से बना पाउडर एक असरदार औषधि है। यह कमर के दर्द की बेहतरीन दवाई है।

सुडौल शरीर पाने के लिए

जिनका वज़न कम है और वह अपने बदन को सुंदर और सुडौल बनाना चाहते हैं उन्‍हें इसका रोज़ाना सेवन करना चाहिए। कुछ ही दिनों में उन्‍हें बदलाव महसूस होगा।

इम्‍यूनिटी मजबूत करें

छोटी-मोटी शारीरिक समस्या का लंबे समय तक बने रहना इम्‍यूनिटी के कमजोर होने का संकेत हो सकता है। इसके लिए भी आपको बीज का सेवन करना चाहिए। इमली के बीज इम्‍यूनिटी में सुधार का काम करते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: शेफ पंकज भदौरिया की चाट वाली 'गुड़ इमली चटनी' की ये रेसिपी आपके मुंह का स्वाद बदल देगी

imli seeds inside

इमली के बीज का पाउडर बनाने का तरीका

  • 200 ग्राम इमली के बीज को अच्‍छे से भून लीजिये। 
  • फिर इनको कूटकर छिलका उतार लें। 
  • इसमें 200 ग्राम मिश्री मिला लें और कांच के बर्तन में रख दें।
  • आप चाहे तो इसे दूसरे तरीके से यानि 200 ग्राम बीजो को चार दिन पानी में भिगोए। 
  • फिर छिलके उतार कर छाया में सुखाए। 
  • सूखने पर पीसकर 200 ग्राम मिश्री मिलाकर रख लें।
  • इस पाउडर में से 1 चम्मच रोज़ाना गर्म दूध के साथ लें। 
  • इसे लगभग 1 महीने तक आपको लेना है लेकिन कमज़ोरी, दुर्बलता या रोग पुराना होने पर इसे आपको 2 महीने तक लेना होगा। 

तो देर किस बात की इमली के बीज के फायदे पाने के लिए आप भी इसे अपनी डाइट में शामिल करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हर जिंदगी से जुड़ेे रहें। 

Image Credit: Freepik.com