चाहे गर्मी से बरसात आ रही हो या फिर बरसात खत्म होने के बाद ठंड की दस्तक हो रही है, बदलते मौसम में तबीयत खराब होने की समस्या कई लोगों के साथ होती है। इसमें सर्दी-खांसी, गले में दर्द, बुखार जैसी समस्याएं परेशान कर सकती हैं। इसे ज्यादा बड़ी बात नहीं माना जाता है, लेकिन अगर देखा जाए तो इस समस्या से शरीर काफी थका-थका रहता है और हम चिड़चिड़े भी हो जाते हैं। 

पर ये परेशानी कुछ छोटे-छोटे तरीकों से ठीक भी की जा सकती है। आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर कुछ समय पहले एक पोस्ट शेयर की थी जिसमें मौसम के बदलाव से होने वाली गले में खराश और दर्द को ठीक करने के लिए कुछ आयुर्वेदिक तरीके बताए गए थे। 

ये तरीके पुरानी नेचुरल रेमेडीज से जुड़े हुए हैं जो हर इंसान के शरीर में अलग तरह से असर कर सकते हैं। आप उन्हीं रेमेडीज को चुनें जो आपको सूट करती हों। 

1. हल्दी और नमक के गरारे-

ये बहुत पुरानी रेमेडी है जो गले की खराश को दूर करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। 300 मिली पानी में 1 छोटा चम्मच हल्दी और आधा छोटा चम्मच नमक मिलाकर उसे उबालें और फिर इसे थोड़ा ठंडा करें और जब ये गुनगुना रह जाए तो इससे गरारे करें। ध्यान रहे कि इस पानी को पीना नहीं है सिर्फ गरारे करने हैं और आप इसे दिन में 3-4 बार दोहरा सकते हैं। 

ये आपके गले में मौजूद कफ को थोड़ा कम करेगा और कंजेशन हटाएगा। ये गले को स्मूथ भी बनाएगा। कई लोग सिर्फ नमक का ही इस्तेमाल करते हैं और हल्दी नहीं डालते। 

sore throat and headache

इसे जरूर पढ़ें- अगर विटामिन-डी लेवल हो रहा है कम तो इन चीज़ों को बिल्कुल ना करें इग्नोर

2. मुलेठी करेगी मदद-

यष्टिमधु (मुलेठी) को भी गले की समस्याओं को कम करने के लिए एक बहुत ही अच्छा तरीका माना जाता है और इसे चाय में डालने के साथ-साथ कई लोग सिर्फ इसे शहद में डुबोकर चूसते हैं जिससे गले की समस्या से निजात मिले। आप गुनगुने पानी में थोड़ी सी मुलेठी डालकर रोज़ाना गार्गल भी कर सकते हैं। ये भी आपके गले की समस्या को कम करेगी। 

3. आंवला जूस-

विटामिन-सी आपके गले को हमेशा राहत देता है, लेकिन कई लोगों को ये सूट नहीं करता इसलिए इसे तभी लें जब ये सूट करता हो। 1 छोटा चम्मच शहद के साथ 15-20 मिली आंवला जूस लें और इसका सेवन करें। पर पहले एक दिन ट्राई करके देख लें अगर कोई समस्या नहीं हो रही है तो आगे इसे लें। 

4. मेथी का इस्तेमाल-

गले की खराश के लिए मेथी दाने भी बहुत काम के साबित हो सकते हैं। 1 छोटा चम्मच मेथी दाने को 250 मिली पानी में 5 मिनट तक उबालें और फिर इसे छानकर पी लें। 

5. दालचीनी करेगी मदद- 

जिस तरह से मेथी और मुलेठी काम आ सकती है वैसे ही दालचीनी भी आपके लिए मददगार साबित हो सकती है। 250 मिली पानी में आधा छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर या छोटी दालचीनी की स्टिक डालकर उबालें और फिर उसे छानकर तब पिएं जब इसका तापमान गुनगुना रह जाए। आप इसमें शहद और नींबू भी मिला सकते हैं।  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar (@drdixa_healingsouls)

 

6. तुलसी से होगा गला ठीक- 

गले की समस्या को ठीक करने में तुलसी भी मददगार साबित हो सकती है और बस पानी में 4-5 तुलसी की पत्तियां उबालें और आप चाहें तो इसमें अदरक डाल सकते हैं। इसे गैस पर से हटाएं और थोड़ा ठंडा होने पर शहद के साथ भी पी सकते हैं। ये आपके गले में हो रही खराश से आपको राहत देगी।  

इसे जरूर पढ़ें-  एसिडिटी का रामबाण इलाज हो सकते हैं ये 3 घरेलू नुस्‍खे, मिलती है कुछ राहत 

7.  हल्दी वाला दूध- 

रात में सोते समय हल्दी वाले दूध में थोड़ी सी काली मिर्च मिलाकर पिएं। ये सुबह तक आपके गले के लिए काफी मददगार साबित होगा।  

8. हर्बल टी पिएं- 

आप कई घरेलू मसालों से युक्त हर्बल टी पी सकते हैं जो आपके गले को आराम दिलाएगी।  

9. नींबू पानी- 

गुनगुना नींबू पानी पीना भी खराब गले के लिए अच्छा साबित हो सकता है। आप गुनगुने पानी में आधा नींबू निचोड़ें और थोड़ा सा शहद मिलाकर इसे पिएं।  

Recommended Video

10. पूरे दिन गुनगुना पानी पीना आपके लिए अच्छा साबित हो सकता है।  

ये सारी घरेलू रेमेडीज आपकी समस्या को काफी कम कर सकती हैं और साथ ही साथ आपको मौसम की बीमारियों से बचा सकती हैं, लेकिन यहां भी ध्यान इस बात का रखें कि आपकी समस्या किसी अन्य कारण से हो सकती है और एक बार अपने डॉक्टर से अपनी समस्या के बारे में डिस्कस जरूर कर लें।  

हर किसी पर आयुर्वेदिक रेमेडी अलग तरह से असर करती है और ऐसे में आपके लिए बेहतर ये होगा कि आप पहले रेमेडीज को ट्राई करके देखें और फिर रेगुलर इस्तेमाल करें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।