बदलते मौसम का असर सेहत पर भी पड़ता है। अमूमन सर्दी-गर्मी के कारण गले में तकलीफ हो जाती है और फिर खांसी-जुकाम हो जाता है। गले में खराश होना वैसे तो बेहद आम समस्‍या है, मगर यह कंडीशन काफी पेनफुल और इरिटेटिंग होती है। 

गले में खराश होने पर न तो बोलने का मन करता है और न ही कुछ खाने का दिल होता है। इस तकलीफ से छुटकारा पाने के कई उपाय हैं। आप डॉक्‍टर की सलाह पर कोई अच्‍छा दवा लेकर इस तकलीफ को दूर कर सकते हैं। मगर इस तकलीफ का एक देसी उपाय भी है और वह है गरारे करना। 

कई बार तो डॉक्‍टर भी गरारे करने की सलाह देते हैं क्‍योंकि गले की सिकाई करने का यह सबसे आसान और असरदार रास्‍ता है। गरारा करने से गले की खराश तो दूर होती ही है साथ ही इसके अन्‍य कई फायदे हैं। 

 न्‍यूट्रिशनिस्‍ट डॉक्‍टर शिखा शर्मा ने अपने इंस्‍टाग्राम पर इससे जुड़ी एक पोस्‍ट शेयर की है। इस पोस्‍ट में उन्‍होंने बताया है कि गरारे करने का तरीका क्‍या है और इसके फायदे क्‍या हैं। वह कहती हैं, ' कोविड-19 संक्रमण की वजह से ढेरों लोग गले में खराश का अनुभव कर रहे हैं। साधारण खांसी-जुकाम में भी गले की खराश बहुत तकलीफ देती है। यदि गरारे किए जाएं तो इस समस्‍या से कम समय में ही छुटकारा पाया जा सकता है।'

इसे जरूर पढ़ें: नाक की ड्राईनेस को दूर करेंगे ये 5 घरेलू नुस्‍खे

salt water gargle benefits

किस चीज से करें गरारे- 

तुलसी के पानी से करें गरारे-  सर्दी-खांसी की समस्‍या को दूर करने के लिए आप तुलसी के पानी से गरारे कर सकते हैं। इससे गले की खराश, सूजन और दर्द तीनों में आराम मिलता है। तुलसी एंटी बैक्‍टीरियल और एंटी फंगल प्रॉपर्टीज से भरपूर होती है। तुलसी के पानी से गरारे करने से माउथवॉश का कार्य भी हो जाता है। 

 

हल्‍दी और नमक के पानी से करें गरारे- नमक एंटी बैक्‍टीरियल होता है और मुंह के अंदर मौजूद बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करता है। यह एंटी इंफ्लेमेटरी भी होता है और इससे गले की सूजन कम हो जाती है। वहीं हल्‍दी गले के दर्द को कम करती है। इससे भी खराश की समस्‍या को कम किया जा सकता है। 

त्रिफला के पानी से करें गरारे- त्रिफला में भी एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। गले में यदि सूजन आ गई है तो त्रिफला के पानी से आप गरारे कर सकते हैं। आपको बता दें कि त्रिफला के पानी से गरारे करने पर टॉन्सिल्‍स के दर्द में भी राहत मिलती है। 

इसे जरूर पढ़ें: पैर के तलवों की जलन दूर करेंगे ये घरेलू नुस्खे

sore throat remedies

कैसे करें गरारे- 

  • सबसे पहले अपनी समस्‍या को समझें और फिर उसके हिसाब से यह तय करें कि आपको किस चीज से गरारे करने है। 
  • आप गरारे गरम और साधारण किसी भी तरह के पानी से कर सकते हैं। आमतौर पर गले से जुड़ी समस्‍या के लिए गरम पानी के गरारे करना ही उचित होता है। 
  • अब मिश्रण तैयार करें और एक ग्‍लास में उसे डालें। 
  • इस मिश्रण को मुंह में लेकर अच्‍छी तरह से मुंह के अंदर घुमाऐं। इसके बाद मिश्रण को जितना हो सके गले के अंदर लें। 
  • सिर को पीछे की ओर झुकाएं और जीभ को भी पीछे की ओर खीचें और मुंह से हवा को बाहर की ओर छोड़ें। 
  • कम से कम 2 सैकेंड तक ऐसा करें और फिर पानी को बाहर उगल दें। 
  • इस प्रक्रिया को कम से कम 5-10 बार दोहराएं। 

नोट- डॉक्‍टर शिखा कहती हैं, ' अगर आपको गले में खराश है या खांसी जुकाम है तो आपको दिन में 2 से 3 बाद गरारे जरूर करने चाहिए।'

best sore throat remedies new

गरारे करने के लाभ- 

  1. गले में मौजूद बैक्‍टीरिया जो आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है, उसे नष्‍ट करने के लिए गरारे करने चाहिए। 
  2. यदि आप नियमित रूप से गरारे करती हैं तो इससे आपकी जीभ साफ रहती हैं और मुंह से बदबू आने की समस्‍या भी दूर हो जाती है। 
  3. गरारे करने से गले और दातों में फंसा खाना भी निकल जाता है। 
  4. अगर गले या मुंह में छाले हो गए हैं तो गरारे करने से उनमें राहत मिलती है। 
  5. अगर कैविटी के कारण दांतों में दर्द हो रहा है तो लौंग के पानी से गरारे करने पर लाभ मिलेगा। 
  6. मसूड़ों में सूजन या खून निकलने की दिक्‍कत है तो आपको गरारे करने चाहिए, इससे आपको लाभ मिलेगा। 
  7. सूखी खांसी आ रही है तो आप इस समस्‍या को भी गरारे करके दूर कर सकते हैं। 
  8. अगर आपके गले और सांस नली में बलगम जमा हुआ है, जिससे सांस लेने में आपको दिक्‍कत हो रही है तो आपको गरारे करने से राहत मिलेगी। 

Recommended Video

गरारे करते वक्‍त ध्‍यान रखें ये बातें- 

  • गरारे करते वक्‍त सबसे जरूरी बात, जिसका ध्‍यान रखना चाहिए वह है पानी का तापमान। गरम पानी से गरारे कर रहे हैं तो पानी गुनगुना होना चाहिए। बहुत अधिक गरम पानी से मुंह जल सकता है। 
  • गरारे करते वक्‍त आप अपने सिर को जितना पीछे की ओर झुकाएंगे उतनी अच्‍छी तरह से गरारे कर पाएंगे। 
  • आप यदि गरारे के पानी में कुछ नहीं मिलाना चाहते हैं तो केवल सादे पानी को गरम करके भी गरारे कर सकते हैं। 
  • गरारे करने के तुरंत बाद कोई भी ठंडी वस्‍तु न खाएं न पिएं। 
  • हो सके तो गरारे करने के बाद गले को कुछ देर के लिए गरम कपड़े से लपेट लें। 

नोट- गले में तकलीफ है तो गरारे आप दिन में 2-3 बार करें, मगर रात में सोने से पहले और सुबह उठते ही गरारे करने से अधिक फायदा मिलता है। 


यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और साथ ही इसी तरह सेहत से जुड़े और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए देखती रहें हरजिंदगी।