अपनी सुंदरता को निखारने के लिए नींबू, हल्‍दी, दूध, एलोवेरा और दही जैसी चीजों का इस्‍तेमाल ज्‍यादातर महिलाएं करती हैं। हम में से ज्यादातर महिलाएं बिना किसी स्किन एक्सपर्ट की सलाह के ऐसे घरेलू नुस्खे अपनाने लगती हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि हमें लगता है कि नेचुरल चीजें स्किन के लिए हानिकारक नहीं हो सकती हैं। क्या कभी त्वचा पर इन सभी प्रोडक्‍ट के फायदों के बारे में सोचा है? क्या ये टिप्स सभी के लिए उपयोगी हो सकते हैं? क्या यह मानना तर्कसंगत है कि जो चीज दूसरों की त्‍वचा के लिए फायदेमंद है वह आपकी त्‍वचा के लिए भी उतनी ही फायदेमंद होगी। जबकि हम इस बात को भी अच्‍छी तरह से जानते हैं कि हर किसी की त्‍वचा एक जैसी नहीं होती है। आइए जानते हैं त्वचा के लिए घरेलू उपचारों को अपनाते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है।

इस जरूर पढ़ें: हेल्दी स्किन के लिए जानिए हल्दी के 5 फायदे, स्किन हो जाएगी ग्लोइंग

नींबू ड्राई त्‍वचा पर जलन पैदा कर सकता है...

lemon for skin health inside

स्किन स्‍पेशलिस्‍ट का कहना है कि घरेलू उपायों में नींबू का इस्‍तेमाल बहुत अधिक मात्रा में होता है। कई महिलाएं टैनिंग से छुटकारा पाने के लिए नींबू लगाते हैं क्योंकि टैनिंग को साफ करने के लिए नींबू एक नेचुरल एजेंट है। हालांकि, इसमें कुछ केमिकल संरचना भी होती है क्योंकि नींबू अम्लीय होता है। इसमें एक केमिकल होता है, जो त्वचा को काला कर सकता है। नींबू ऑयली और नॉर्मल त्वचा वाली महिलाओं के लिए अच्‍छी हो सकती हैं लेकिन अगर आपकी त्वचा ड्राई है, तो सावधानी के साथ नींबू का उपयोग करें क्योंकि यह त्वचा में जलन पैदा कर सकता है। इसके अलावा, एक्जिमा से परेशान महिलाओं को त्वचा के घरेलू उपचार के रूप में नींबू का उपयोग करने से बचना चाहिए।

हल्दी लगाना अच्छा है, लेकिन ...

ज्‍यादातर महिलाएं हल्‍दी को सुंदरता निखारने के लिए इस्‍तेमाल करती हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि कई महिलाओं की स्किन हल्‍दी के इस्‍तेमाल से काली हो जाती है। इसके अलावा जहां हल्दी का इस्‍तेमाल किया जाता है। उस भाग के चारों ओर लालिमा और खुजली जैसे लक्षण भी हो सकते हैं। हल्दी लगाना ऑयली या नॉर्मल त्वचा वाली महिलाओं के लिए उपयुक्त हो सकता है, लेकिन ड्राई स्किन और सेंसिटीव त्वचा वाले महिलाओं को इसे लगाने से त्‍वचा की कई तरह की समस्‍याएं हो सकती हैं।

एलोवेरा को सीधा पौधे से लगाना?

aloe vera skin beauty INSIDE

एलोवेरा आपकी त्‍वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है, यह बात तो लगभग सभी जानते हैं। लेकिन कुछ महिलाएं एलोवेरा को सीधे पौधे से तोड़कर लगा लेती हैं। अगर आप भी ऐसा करती हैं तो यह आपको सावधान होने की जरूरत है। आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि एलोवेरा की कई किस्‍में होती हैं, जिनमें से कुछ ही त्‍वचा के लिए अच्‍छी होती है। यह बताना मुश्किल है कि घर पर लगाया गया एलोवेरा का पौधा त्वचा के लिए अच्छा है या नहीं। त्वचा पर सीधा एलोवेरा लगाने से एलर्जी हो सकती है क्‍योंकि इस पौधे में एसिडिक गुण मौजूद होते हैं। एलोवेरा सेंसिटिव या सूजन वाली त्वचा के लिए परेशानी का सबस बन सकता है।

बेसन, दही या मुल्तानी मिट्टी?

curd for skin beauty inside

यह निर्णय पूरी तरह से आपकी त्वचा की टाइप पर निर्भर करता है। मुल्तानी मिट्टी ऑयल त्वचा वालों के लिए अच्‍छी है। लेकिन अगर इसका इस्‍तेमाल ड्राई स्किन पर किया जाए तो यह त्‍वचा को और भी ज्‍यादा ड्राई और बेजान बना सकता है। इसके अलावा, बेसन हर तरह की त्वचा के अच्‍छा नहीं होता है। अगर आपकी त्वचा डिहाइड्रेटेड है और आपको एलर्जी या सांस लेने में तकलीफ है, तो बेसन से परहेज करना चाहिए।

इस जरूर पढ़ें: Beauty Tips: इस तेल की 5 बूंदें ही आपके चेहरे पर ले आएंगी चमक

ग्‍लोइंग स्किन के लिए दही या हल्दी मास्क जैसे घरेलू उपचार ज्यादातर महिलाओं को पसंद आते हैं, लेकिन आमतौर पर दूसरों द्वारा सुझाए गए घरेलू उपचारों में से किसी का भी इस्‍तेमाल करने से पहले त्वचा पर पैच टेस्‍ट जरूर कर लें।