• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Thyroid Control: थायरॉयड को कंट्रोल करता है ये पौधा, जानें इसके जादुई 5 फायदे

हार्मोनल असंतुलन को ठीक करके महिलाओं की कई समस्‍याओं को दूर करने में कचनार गुग्गुल काफी मदद करता है।  
author-profile
Published -31 Aug 2022, 15:03 ISTUpdated -01 Sep 2022, 10:09 IST
Next
Article
kanchanar benefits for health

क्‍या आप जानती हैं कि कचनार गुग्गुल हार्मोनल असंतुलन को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक चमत्कार है?

कचनार गुग्गुल हाइपोथायरायडिज्म, हार्मोनल असंतुलन, पीसीओएस, वेट लॉस और जोड़ों के दर्द के इलाज के लिए एक प्रभावी आयुर्वेदिक उपचार है। गुग्गुल शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द गुग्गुल से हुई है जिसका अर्थ है 'बीमारी से सुरक्षा'। यह लिम्फेटिक सिस्‍टम के कामकाज को भी बढ़ावा देता है और विषाक्त पदार्थों से छुटकारा दिलाता है।

कचनार की छाल को काढ़े में बनाया जाता है और इसे गुग्गुल और अन्य वस्तुओं के साथ मिलाकर एक गोली बनाई जाती है।

करनार में पोषण सामग्री और औषधीय यौगिक

कचनार एक मूल्यवान जड़ी बूटी है जो असंख्य लाभकारी तत्वों से भरपूर है। इसमें विटामिन-सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन-बी, साथ ही आहार फाइबर, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट के विशाल भंडार शामिल हैं। 

बायोएक्टिव केमिकल्‍स से युक्त होने के कारण यह मजबूत एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-ट्यूमर, एनाल्जेसिक या दर्द निवारक और डिटॉक्सिफाइंग गुणों का प्रदर्शन करते हैं।

इसके फायदों की जानकारी आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट डॉक्‍टर चेताली जी ने अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से शेयर की है। उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, 'आयुर्वेद में कचनार गुग्गुल बहुत ही अद्भुत, अविश्वसनीय और प्रभावी जड़ी बूटी (औषधि) है।'

एक्‍सपर्ट की राय 

  • कचनार को गंडमाला नाशन कहा जाता है जो थायरॉयड, फाइब्रॉएड, लिम्फोमा, लिपोमा के खिलाफ लड़ता है।
  • वृनशोधन होने के कारण घावों को ठीक करता है।
  • शोथहर (एंटी-इंफ्लेमेटरी) गुण होते हैं।

आयुर्वेदिक आचार्यों के अनुसार गुण

विशेष रूप से इसकी गुणवत्ता और केमिकल संरचना के कारण यह थायरॉयड, पीसीओडी, एंडोमेट्रियोसिस, फाइब्रॉएड, लिम्फोमा, लिपोमा, बवासीर, कृमि संक्रमण, पेचिश में शानदार परिणाम देता है।

कचनार गुग्गुल के गुण

  • कफ और पित्त दोष को दूर करता है । 
  • लघु (पचाने में हल्का) और रूक्ष (सूखा) होता है। 
  • स्वाद: कसैला (कषाय)
  • शक्ति: ठंडी (शीत)
  • प्रभाव: गंडमाला नाशन

आयुर्वेदिक सूत्रीकरण का एक महत्वपूर्ण घटक होने के कारण कचनार गुग्गुल काफी फेमस है। लेकिन खुद से इसका सेवन शुरू न करें, हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करने के बाद ही इसे लें।

सामग्री और विधि

हर्बल सामग्री की एक सरणी - कंचनर की छाल, अदरक, काली मिर्च, लंबी मिर्च, इलायची, दालचीनी, हरीतकी, बिभीतकी, आमलकी, वरुण को अच्छी तरह से साफ किया जाता है, पूरी तरह से सुखाया जाता है और अलग से बारीक पाउडर बनाया जाता है। फिर उन्हें गुग्गुल राल के साथ मिलाकर एक अर्ध-ठोस बनावट वाला पेस्ट बनाया जाता है और साथ ही गोलियों में भी बनाया जाता है।

कंचनर गुग्गुलु के हीलिंग लाभ

Kanchanar Guggulu For Thyriod

सिस्टम को डिटॉक्सीफाई करता है

कंचनर गुग्गुल प्रणाली में ऊतकों और अन्य चैनलों से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में शक्तिशाली है, जिससे शरीर को अपने आप पुनर्जीवित और पोषण करने की अनुमति मिलती है। यह बेहतर पाचन और भोजन के अवशोषण को बढ़ाकर आंत के कार्य को भी सुधारता है।

वेट लॉस

कचनर गुग्गुल कफ को संतुलित करने में कारगर है। गुग्गुल का कड़वा, कसैला और तीखा स्वाद पेट की चर्बी और शरीर के अन्य हिस्सों को जलाने में मदद करता है और पाचन की प्रक्रिया को भी बढ़ाता है। इसके अलावा, यह आयुर्वेदिक दवा मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ावा देती है और वजन कम करने में मदद करती है।

लिपोमा का इलाज

कचनर गुग्गुल लिपोमा के लिए अच्‍छा उपाय है। इस जड़ी बूटी को जब आरोग्यवर्धिनी वटी के साथ लिया जाता है तो यह फैट युक्त ट्यूमर टिशू के आकार को कम करने में मदद करता है।

Recommended Video

लिम्फ नोड्स को करता है ठीक

बढ़े हुए लिम्फ नोड के इलाज के लिए कचनर गुग्गुल एक अत्यधिक अनुशंसित आयुर्वेदिक औषधि है। यह ज्यादातर बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण के कारण होता है, गर्दन, बगल और कमर में बढ़े हुए लिम्फ नोड्स विकसित होते हैं। इसके अलावा, कचनर गुग्गुल के एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल गुण इसे सूजन लिम्फ नोड के इलाज के लिए एक मूल्यवान आयुर्वेदिक जड़ी बूटी बनाते हैं।

थायरॉयड स्वास्थ्य

यह थायरॉयड हार्मोन के स्राव को बनाए रखने में मदद करता है। यह थायरॉयड ग्‍लैंड के कामकाज को भी नियंत्रित करता है और स्थितियों में सुधार करता है। इसके अलावा, यह गोइटर के कारण होने वाली सूजन को कम करने के लिए ग्‍लैंड्स की कार्यप्रणाली को बढ़ाता है।

health benefits of kanchanar

पीसीओएस का इलाज

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम इन दिनों महिलाओं में बहुत आम है, जो हार्मोनल असंतुलन के कारण अनियमित पीरियड्स का कारण होता है। यह आयुर्वेदिक चमत्कार हार्मोनल संतुलन को उत्तेजित करने और पीरियड्स को विनियमित करने में शक्तिशाली है।

इसे जरूर पढ़ें: सिर्फ 2 पत्तों को पैरों के तलवे में लगाने से कंट्रोल होगा शुगर, जानें कौन सा है ये जादुई पौधा

आप भी कचनार गुग्गुल की मदद से अपनी कई समस्‍याओं को दूर कर सकती हैं। उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही कमेंट भी करें। वजन बढ़ाने से जुड़े ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Shutterstock & Freepik

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।