वर्तमान में, खांसी सबसे ज्यादा फैलने वाला लक्षण है। यह COVID-19 संक्रमण के सामान्य लक्षणों में से एक है। यह कारण हमें अपने गले और श्वसन प्रणाली की अतिरिक्त देखभाल करने पर मजबूर करता है। हालांकि हर बार खांसी खतरनाक नहीं होती है। कभी-कभी, यह कुछ अन्य कारणों के कारण उग्र रूप ले लेती है। हालांकि लगातार सूखी खांसी से ज्‍यादा तकलीफदेह कुछ भी नहीं होता है। यह न केवल आपके गले को परेशान करता है बल्कि आपकी दैनिक गतिविधि में भी बाधा डालती है। इसलिए आज हम आपको सर्दी और खांसी के लिए बेस्‍ट घरेलू नुस्‍खे बता रहे हैं। इन नुस्‍खों के बारे में हमें आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट अबरार मुल्‍तानी जी बता रहे हैं।

शहद

honey for cold and cough inside

शहद खांसी के इलाज के सबसे पुराने घरेलू उपचारों में से एक है। यह आपके गले को शांत करने और जलन को कम करने में मदद करता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो संभावित रूप से मामूली बैक्‍टीरियल या वायरल संक्रमण को प्रभावित करते हैं। आप एक गिलास गर्म पानी में 2 चम्मच शहद मिलाकर और इसे रोजाना एक बार पी सकती हैं। इसके अलावा, आप अपनी चाय में चीनी के विकल्प के रूप में शहद का इस्‍तेमाल कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें:कोल्‍ड और कफ से लड़ने के लिए ये 3 अद्भुत आयुर्वेदिक नुस्‍खे आजमाएं

हल्दी

हल्दी में करक्यूमिन होता है, यह एक ऐसा यौगिक है जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीवायरल और एंटी-बैक्‍टीरियल गुण होते हैं। यह ड्राई खांसी और जुकाम के लिए भी फायदेमंद होते हैं। काली मिर्च के साथ लेने पर करक्यूमिन ब्‍लड स्‍ट्रीम में सबसे अच्छी तरह से अवशोषित होता है। इसके लिए आप दूध में 2 चुटकी हल्दी और 1 चुटकी काली मिर्च मिलाकर लें। आप इसे गर्म चाय में भी ले सकती हैं। हल्दी का उपयोग सदियों से आयुर्वेदिक दवा में श्वसन समस्‍याओं, ब्रोंकाइटिस और अस्थमा के इलाज के लिए किया जा रहा है।

अदरक

ginger for cold and cough inside

अदरक में एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह इम्‍यून सिस्‍टम को बढ़ावा देने और दर्द और परेशानी से राहत देने में मदद करती है। अदरक का इस्‍तेमाल ज्‍यादातर लोग चाय में करते हैं। आप भी खांसी से बचने के लिए अदरक की चाय बनाकर ले सकती हैं। इसके लिए अदरक की जड़ को गर्म पानी में छीलकर या जड़ से काटकर डाल लें। शहद डालने से यह सूखी खांसी के लिए और भी फायदेमंद हो सकता है।

Recommended Video

पुदीना

पुदीना में मेन्थॉल होता है, जो गले में तंत्रिका अंत को सुन्न करने में मदद करता है जो खांसी से चिढ़ जाते हैं। इससे दर्द से राहत मिल सकती है और खांसी की इच्छा कम हो जाती है। पुदीना कंजेशन को कम करने में भी मदद करता है, साथ ही यह एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-वायरल गुणों से भरपूर होता है। पुदीना लेने के कई तरीके हैं, इनमें पेपरमिंट की चाय पीना या पेपरमिंट लोज़ेंग पर चूसना शामिल है। रात में खांसी को कम करने में मदद करने के लिए बिस्तर से ठीक पहले पेपरमिंट चाय पीने की कोशिश करें। आप पुदीना आवश्यक तेल का उपयोग अरोमाथेरेपी उपचार के रूप में भी कर सकती हैं।

नमक के पानी के गरारे

gagles for cold and cough inside

यह गले में खराश और खांसी के इलाज के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है। यह गले की सूजन और खांसी के दंश को कम करता है। एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच नमक घुलने तक हिलाएं। गरारे करने के लिए उपयोग करने से पहले इसे थोड़ा ठंडा होने दें। फिर इससे गरारे करें। आप दिन में दो बार ऐसा कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: सर्दी-जुकाम से बचाएंगी घर में ही मौजूद ये 5 चीजें, एक्‍सपर्ट से जानें

अन्य उपाय

  • नियमित रूप से प्रणायाम करें।
  • नाक में सुबह और शाम गाय के शुद्ध घी की 2 बूंदें डालें।
  • रीढ़ की हड्डी पर किसी पोशक तेल जैसेः बला या महानारायण तेल की मालिश करें।

अगर आप भी सर्दी और खांसी से परेशान हैं तो इससे बचने के लिए इन घरेलू नुस्‍खों को आजमा सकती हैं। हेल्‍थ से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com