हम पिछले 2 महीनों में बालों के झड़ने से संबंधित मामलों में वृद्धि देख रहे हैं। मुख्य रूप से पोस्ट COVID प्रभाव, तनाव और मौसम के कारण। बालों का झड़ना एक बहुत ही आम समस्या है, जो पुरुषों और महिलाओं दोनों को होती है। पुरुषों को हेयरलाइन पर और महिलाओं के क्राउन पर बालों के पतले होने का अनुभव होता है।

पोषक तत्वों की कमी बालों के झड़ने का कारण बन सकती है, क्योंकि विटामिन्‍स और मिनरल्‍स सेल ग्रोथ और उसके कार्य में मदद करते हैं। झड़ते बालों के क्‍या कारण हैं और किन उपायों की मदद से इस समस्‍या से बचा जा सकता है? यह जानने के लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट मेघा मुखीजा से बात की। मेघा मुखीजा 2016 से Health Mania में चीफ डा‍इटीशियन और फाउंडर हैं।

बालों के झड़ने के क्‍या कारण हैं? 

how to stop hair fall after covid

  • पराबैंगनी विकिरण के अत्यधिक संपर्क से न केवल बालों के शाफ्ट को नुकसान होता है, बल्कि त्वचा के सेल्‍स और डर्मल पैपिला ग्रोथ को नुकसान पहुंचाकर बालों के ग्रोथ को रोक देते हैं।
  • बुढ़ापा बालों के झड़ने के सबसे आम कारणों में से एक है। बुढ़ापा झुर्रियां लाता है, जो हयालूरोनन के लो लेवल से जुड़ी होती हैं। यह मूल रूप से त्वचा में स्नेहक के रूप में कार्य करती हैं।
  • बालों के झड़ने के लिए जीन एक और अपराधी है। एण्ड्रोजन के संपर्क में आने के लिए जीन मूल रूप से निर्णायक कारक होते हैं, जो प्रगतिशील बालों के झड़ने का कारण बनते हैं।
  • किसी भी तरह का स्‍ट्रेस जैसे शारीरिक और भावनात्मक दोनों भी बालों के पतले होने और बालों के झड़ने के मुख्य कारणों में से एक है। कोविड के बाद बालों का झड़ना मुख्य रूप से शारीरिक तनाव के कारण होता है, जिससे शरीर गुजरा है।
  • डैंड्रफ भी बालों के झड़ने का एक प्रमुख कारण है। डैंड्रफ के होने वाले संक्रमण से सूजन हो जाती है, जिससे बाल झड़ सकते हैं।

बालों का झड़ना कम करने वाले डाइटरी टिप्स

control hair fall with diet

विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स

यह सेल मेटाबॉलिज्म में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। यह सेल सिग्नलिंग और जीन विनियमन में भी मदद करता है। बायोटिन की कमी बालों के झड़ने का कारण बन सकती है। अधिकांश बालों, त्वचा और नाखूनों की खुराक में बायोटिन होता है। न्यूक्लिक एसिड उत्पादन में फोलेट और विटामिन-बी 12, जो अत्यधिक प्रजननशील बालों के रोम में भूमिका निभाते हैं।

स्रोत: दूध, पनीर, अंडे, मीट, हरी पत्तेदार सब्जियां में विटामिन-बी भरपूर मात्रा में होता है।

विटामिन-ई

विटामिन-ई इम्‍यून फंक्‍शन में एक बड़ी भूमिका निभाता है। यह एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट है, जो उम्र बढ़ने और इससे जुड़ी सभी स्थितियों जैसे बालों के झड़ने और त्वचा से संबंधित स्थितियों को उलटने में मदद करता है। यह फ्री रेडिकल डैमेज को कम करने में भी मदद करता है। 

स्रोत: सूरजमुखी के बीज, हरी पत्तेदार सब्जियां और बादाम आदि।

hair fall treatment by expert

सेलेनियम

सेलेनियम की कमी बालों के झड़ने का प्रमुख कारण है। सेलेनियम की कमी बालों के पिगमेंटेशन के नुकसान और बालों के पतले होने का कारण बनती है। इस स्थिति में पोषण संबंधी सहायता से मदद मिलती है।

स्रोत: ब्राजील नट्स, सूरजमुखी के बीज, अंडे, मछली, सीप आदि।


आयरन

बॉडी में आयरन के कम लेवल के कारण महिलाओं को बालों के झड़ने की समस्‍या का अनुभव होता है। चूंकि आयरन शरीर के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने में मदद करता है और इससे सभी अंगों के प्रमुख कामकाज में मदद मिलती है। इस प्रकार आयरन का लो लेवल बालों की ग्रोथ साइकिल को बाधित कर सकता है।

स्रोत: ऐमारैंथ, रेड मीट, सोयाबीन, धनिया, कमल ककड़ी, खजूर आदि।

इसे भी पढ़ें: झड़ते बालों से परेशान हैं तो ये डाइट अपनाएं, जल्‍द दिखेगा असर

जिंक

जिंक का उपयोग शरीर के कई कार्यों में किया जाता है। जिंक सप्लीमेंट बालों को दोबारा उगाने में मदद करता है। कई अध्ययनों में यह साबित हो चुका है कि जिंक का निम्न स्तर बालों के झड़ने से संबंधित है। जिंक सप्लीमेंट ने कीमोथेरेपी के कारण बालों के झड़ने वाले रोगियों में भी मदद की है।

स्रोत: बीन्‍स जैसे राजमा और लोबिया, डेयरी, मीट, मछली, अंडा, बीज और नट्स आदि जिंक से भरपूर होते हैं।


बालों को झड़ने से बचाने वाले लाइफस्टाइल टिप्स

control hair fall with yoga

  • योग और ध्यान को शामिल करके तनाव कम करना बालों की ग्रोथ को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • सामान्य रूप से एक्‍सरसाइज करने से अंग और पूरी बॉडी हेल्‍दी और फिट रहती है।
  • पौष्टिक रूप से संतुलित भोजन भी बालों की ग्रोथ को बढ़ाने और शरीर के समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।
  • उचित नींद और प्रतिदिन 8 घंटे की नींद लेने से भी बालों की ग्रोथ को बढ़ाने में मदद मिलती है।
  • शरीर और बालों की व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने से भी बालों का झड़ना कम करने में मदद मिलती है। रेशम के तकिये का इस्तेमाल करने से भी बालों का झड़ना कम होता है।

आप भी इन टिप्‍स की मदद से कोविड के बाद या मौसम में बदलाव के कारण होने वाले हेयर फॉल को रोक सकती हैं। बालों से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।