आयुर्वेद के लाभों से भला कौन वाकिफ नहीं है?
बच्चे से लेकर नौजवान तक और गर्भवती महिला से बुजुर्गो तक, आयुर्वेद में सबके जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने की क्षमता होती है। आयुर्वेद एक बिलकुल ही अलग पद्धति है। इससे आप बिना किसी साइड इफेक्‍ट के अपनी प्रॉब्‍लम्‍स को दूर कर सकती हैं। आयुर्वेद एक्‍सपर्ट और ओहिया आयुर्वेद के फाउंडर रजनी ओहरी ने कुछ आयुर्वेदिक उपचार बताए हैं जो सभी के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं। और इन टिप्‍स को अपनाने के बाद आप लंबे समय तक जवां, खूबसूरत और हेल्‍दी रह सकती हैं। आइए जानें कौन से हैं ये आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार।

Read more: Loose Weight Quickly With These Ayurveda Tips

ayurveda tips for health inside 

जवां और हेल्‍दी बनाने वाले आयुर्वेदिक टिप्‍स

1. आयुर्वेद के अनुसार, 'ब्रह्म मुहूर्त' के दौरान यानि सुबह 4-5.30 बजे के बीच उठना सही रहता है।
2. यह बहुत जरूरी है कि आप सुबह-सुबह पानी पीएं। हालांकि, यह ध्यान रखें कि पानी कमरे के तापमान पर होना चाहिए और इसे रात में पहले से शुद्ध तांबे के गिलास में भर कर रख लें।
3. आंखों को प्रतिदिन ताजे पानी या त्रिफला के पानी (जिसे आप रात को बनाकर रख सकती हैं) से साफ करना चाहिए।
4. दांतों, मसूड़ों और जबड़ों को मजबूत बनाए रखने के लिए ऑयल पुलिंग करने की कोशिश करें। इससे आपकी आवाज में सुधार होगा और गालों से झुर्रियां दूर होंगी। गुनगुने तिल के तेल से दिन में दो बार गरारे करें। मुंह में ऑयल को होल्‍ड करके रखें, इसे जोर से मुंह में चारों ओर घुमाएं, फिर इसे बाहर थूक दें और धीरे से एक अंगुली से मसूड़ों की मसाज करें।

Read more: आयुर्वेदिक तरीके से रखें अपनी आंखों का ख्‍याल

5. नस्य करना चाहिए। जी हां नस्‍य का अर्थ है नाक से माध्‍यम से कुछ बीमारियों का इलाज करना। इसके लिए प्रत्‍येक नाक में गाय के घी को गुनगुने करके नाक में 3-3 बूंदे डालनी होती है। यह नाक को चिकनाई देने में हेल्‍प करता है, साइनस को साफ करता है और आवाज, आंखों और मानसिक स्‍पष्‍टता में सुधार करता है। इस तरह नाक से प्राण को पोषण होता है और बुद्धि आती है। 
6. रोजाना अपने पूरे शरीर की तेल से मालिश करना जरूरी होता है। अगर आप ऐसा नहीं कर सकती हैं तो कम से कम तीन जरूरी अंगों पर मसाज जरूर करनी चाहिए। जी हां आपको कान, सिर और पैर पर मसाज करने से आपको खुशी का अहसास होता है और साथ ही सिरदर्द, गंजापन, बालों का सफेद होना और अच्‍छी नींद के लिए प्रेरित करता है और त्‍वचा को मुलायम बनाए रखता हैं।

ayurveda tips for health inside
7. अच्‍छी हेल्‍थ के लिए रेगुलर एक्‍सरसाइज विशेष रूप से योग करना बहुत जरूरी होता है। यह बीमारी के खिलाफ सहनशक्ति और प्रतिरोध बनाता है, बॉडी के के‍मिकल को साफ करता है और ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। यह शरीर के अंगों की प्रभावकारिता को बढ़ाता है, भूख और पाचन को बढ़ावा देता है, मोटापे को भी रोकता है।
8. माथे, बगल और रीढ़ पर पसीना आने तक अपनी क्षमता के अनुसार रेगुलर एक्‍सरसाइज करें।
9. अपनी बॉडी को डिटॉक्‍स करने और नेगेटिविटी को दूर करने के लिए सोने से पहले हर रात को अपने पैरों को धोएं। अपने पैरों को नमक के पानी में सोक करने की कोशिश करें।

Read more: दवाओं से नहीं बल्कि 5 आयुर्वेदिक टिप्‍स से बनाएं अपने बच्‍चों को हेल्‍दी

10. प्राण को अपने पूरे शरीर में हेल्‍दी तरीके से फ्लो करने में हमेशा सीधे ही बैठें। जी हां प्राण, ब्रह्माण्ड-प्राण का वह विशेष काम है, जो मानव-शरीर को अनिवार्य ऑक्सीजन की आपूर्ति करता है। इसकी एनर्जी नासिका-छिद्रों से हार्ट-लेवल तक प्रवाहित होती है।


11. हर शाम 7 मिनट के लिए, एक दीया की लौ पर टकटकी लगाकर त्राटक क्रिया करें। यह आंखों की रोशनी, मेमोरी में सुधार करता है और विचार को अद्भुत स्पष्टता देता है।
अगर आप भी लंबे समय तक हेल्‍दी और जवां रहना चाहती हैं तो आज से ही इन टिप्‍स को अपने रूटीन में शामिल करें।