आज हम आपको 3 फल के 7 फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। आपको लग रहा होगा कि हम तीन फलों की बात कर रहे हैं लेकिन यह तीन फल अलग-अलग फल नहीं हैं बल्कि एक ही फल है। जी हां आज हम त्रिफला की बात कर रहे हैं। यह फल सबसे अच्‍छे तीन हर्ब्‍स हरड, बहेडा व आंवला को मिलाकर बनाता है इसलिए इसे तीन फल यानी त्रिफला कहते है। यह प्रकृति का आपको दिया सबसे अनमोल उपहार है क्‍योंकि त्रिफला रोगनाशक, इम्‍यूनिटी और health care हर्ब है। त्रिफला डेली होने वाली कॉमन प्रॉब्‍लम्‍स के लिए बहुत प्रभावकारी औषधि है! आइए SPPC के Dr. Subodh Bhatnagar CMO से त्रिफला के फायदों के बारे में जानें। 

Dr. Subodh Bhatnagar CMO अनुसार, 'त्रिफला में मौजूद एंटी-बायोटिक और एंटी-सेप्टिक बॉडी में वात, पित्त और कफ का बैलेस बनाए रखता है। आयुर्वेद के अनुसार इन्‍हीं तीनों के बैलेस बिगड़ने से आप बीमार पड़ते हैं। अगर आप त्रिफला का रोजाना इस्‍तेमाल करती हैं तो आपकी बॉडी रोगमुक्‍त रहती है।' 

1. Balance Tridosha(Vata, Pitta, Kapha)

हमारी बॉडी में तीन दोष वात, पित्त, कफ के बिगड़ने से हम बीमार पड़ते हैं इसलिए वात, पित्त, कफ इन तीनों का संतुलन बना रहना बहुत ही आवश्यक है। यह हमारी बॉडी को तीनो भागों में बटते हैं, बॉडी के ऊपर के भाग में कफ, मध्य में पित्त और निचले भाग में वात होता है। हालांकि आयुर्वेद के ज्‍यातर हर्ब्‍स वात, पित या कफ नाशक होते है लेकिन त्रिफला ही एक मात्र ऐसा हर्ब है जो वात, पित ,कफ तीनों को एक साथ संतुलित करता है। 

triphala benefits weight loss Inside

2. Weight Loss में मददगार

Dr. Subodh Bhatnagar CMO अनुसार, 'अगर आप अपने बढ़ते वजन को कम करना चाहती हैं तो त्रिफला का सेवन करें। यह आपके मेटाबॉल्जिम को ठीक करता है और ज्‍यादा वजन घटाने में मददगार है। यह पाचन को ठीक रखने वाला, भूख बढ़ाने वाल और रेड ब्‍लड सेल्‍स की संख्‍या को बढ़ाने वाला और बॉडी के फैट को कम करने में हेल्‍प करता है। आप त्रिफला को चाय या काढ़े के रूप में ले सकती हैं। त्रिफला काढ़े में शहद मिलाकर पीने से वेट लॉस करने में हेल्‍प मिलती है।' 

Read more: कहीं आप मोटापे की शिकार तो नहीं, weighing machine से नहीं बीएमआई से जानें

3. Indigestion, Constipation, IBS में कारगर

त्रिफला की तीनों जड़ी बूटियां आंतरिक सफाई को बढ़ावा देती हैं। कब्‍ज की समस्‍या होने पर त्रिफला बेहद कारगर होता है। इसे खाने से कब्‍ज की काफी पुरानी समस्‍या भी दूर भाग जाती है। रात को सोते समय त्रिफला चूर्ण हल्के गर्म पानी के साथ लेने से कब्ज की समस्‍या दूर हो जाती है। अगर आप भी पेट की समस्‍या खासतौर पर कब्‍ज से परेशान हैं तो आज ही इसे लेना शुरू कर दें।

4. इम्‍यूनिटी बढ़ाएं

जिन महिलाओं की इम्‍यूनिटी कमजोर हैं और इसके चलते वह बार-बार बीमार पड़ जाती हैं। उन महिलाओं को त्रिफला लेनी चाहिए। त्रिफला के सेवन से बॉडी की इम्‍यूनिटी बढ़ती है जिससे बॉडी की बीमारियों से लड़ने की क्षमता मिलती है। अच्‍छी इम्‍यूनिटी से आप बाहरी तत्‍वों के खिलाफ आसानी से लड़ सकती है। त्रिफला, बॉडी में Antibody के production को बढ़ावा देता है जो बॉडी में Antigen के खिलाफ लड़ते है और बॉडी को बैक्‍टीरिया मुक्‍त रखते है।

5. स्किन को देता है natural glow

त्रिफला में मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुण उम्र के असर को बेअसर करते है। त्रिफला के सेवन से उम्र बढ़ाने वाले कारक कम होते है जिसके कारण आप उम्र से ज्‍यादा जवां दिखते हैं। त्‍वचा संबंधी समस्‍या होने पर त्रिफला काफी मददगार होता है। त्रिफला, बॉडी से Toxins को बाहर निकाल देता है जिससे ब्‍लड साफ होता है और त्‍वचा पर होने वाली समस्‍याओं से आसानी से दूर हो जाती है। इसके अलावा यह body में किसी प्रकार के infection होने से भी रोकता है।

triphala benefits heart health Inside

6. Cholesterol कम करें

त्रिफला high cholesterol और triglycerides का लेवल को कम करने वाली एक रामबाण औषधि है। यह ब्‍लड में कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल (LDL) और triglycerides का level भी कम करता है।

7. बॉडी से toxins निकालें 

टॉक्सिन लगभग हर जगह होते हैं। हवा से सांसे लेते समय और खाने के जरिये आपकी बॉडी में पहुंचते हैं और आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे आपको थकान, मूड में बदलाव, कब्ज या दस्त, सूजन और विभिन्न त्वचा संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। चूंकि पूरी तरह से टॉक्सिन को अनदेखा करना संभव नहीं है, इसलिए इससे बचने के लिए त्रिफला का सेवन करें। रेचक गुण होने के कारण यह आपकी बॉडी को अच्‍छे से डिटॉक्‍स करता है।

त्रिफला चूर्ण आपको मार्किट में आसानी से मिल जाएगा। अगर आप सुबह के समय त्रिफला चूर्ण का सेवन करते हैं तो आपके बॉडी को पोषण मिलता है क्‍योंकि इसमें vitamin, iron, calcium, micro nutrients भरपूर मात्रा में होते हैं। लेकिन अगर आप त्रिफला रात को लेती हैं तो रेचक का काम करता है क्योंकि रात में त्रिफला लेने से पेट की सफाई (कब्ज) दूर होती है।

Read more: अखरोट खाएं और अस्‍थमा से छुटकारा पाएं