हम सभी बचपन से यह सुनते आ रहे हैं कि खूब पानी पीना चाहिए। रोजाना 5 लीटर पानी पीजिए। रोजाना 4 लीटर पानी पीना चाहिए, ऐसे न जाने कितने मशविरे मिल जाते हैं। पानी त्वचा के लिए अच्छा है, इससे मोटापा कम होता है ये सभी जानते हैं। लोग बताते हैं कि दिन भर में 12-15 ग्लास पानी पीना चाहिए? लेकिन यह सलाह आखिर दी किसने? क्या सच में हमें इतना ही पानी पीना चाहिए? क्या ज्यादा पानी पीने के कुछ नुकसान भी हैं? ऐसे कुछ सवालों के जवाब आइए न्यूट्रीशनिस्ट डॉ. नूपुर कृष्णन से जानें।

ज्यादा पानी पीने से हो सकता है हाइपोनेट्रेमिया

excess water is harmful

शरीर में पानी की कमी न हो इसके लिए हमें खूब पानी पीने की सलाह दी जाती है। फिर हम ऐसे फलों और सब्जियों का सेवन भी करते हैं जिनमें भी पानी की अच्छी मात्रा होती है। जब हम ज्यादा पानी पीते हैं, तो हमारे शरीर में पानी की मात्रा बढ़ जाती है, जो सोडियम के स्तर को कम कर देता है। इस वजह से हम हाइपोनेट्रेमिया का शिकार हो जाते हैं। इस स्थिति में दिमाग पर असर पड़ता है। कमजोरी आने लगती है और चक्कर आते हैं। इसलिए पानी उतना ही पीएं, जितना आपके शरीर को जरूरत हो।

पेट खराब हो सकता है

cause diarreha

ओवरहाइड्रेशन की वजह से भी आपका पेट खराब हो सकती है। ओवरहाइड्रेशन के परिणामस्वरूप गंभीर दस्त और लंबे समय तक पसीना आ सकता है। यह हाइपोकैलिमिया या पोटेशियम आयनों में कमी के कारण होता है। जब आप बहुत अधिक पानी पीते हैं तो इंट्रासेल्युलर और एक्सट्रासेल्टुलर पोटेशियम आयनों के बीच संतुलन बिगड़ता है। इतना ही नहीं इसमें एक प्रतिशत असंतुलन भी आपको भारी नुकसान पहुंचा सकता है।

इसे भी पढ़ें :Health Tips: पेट होगा फिट तो आप रहेंंगी सुपरफिट, एक्‍सपर्ट से जानें कैसे

किडनी भी हो सकती है चोटिल

harm your kidney

क्या आप जानती हैं कि ओवरडिहाइड्रेशन की वजह से किडनी में गंभीर चोट आ सकती है। ज्यादा पानी पीने से आर्जिनिन वैसोप्रेसिन प्लाज्मा स्तर को भी कम करता है, जो किडनी के कार्य को बनाए रखने में मदद करता है। इससे किडनी पर लगातार प्रेशर बना रहता है। हर घंटे लगभग एक लीटर तरल पदार्थों को आपकी किडनी फिल्टर कर सकती हैं. जब आप ज्यादा पानी पीती हैं, तो फिल्टरेशन का दबाव किडनी पर पड़ने लगता है। इससे भी किडनी की समस्या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें :हेल्दी बॉडी, स्किन और बालों के लिए पिएं ये 6 तरह के Infused Water

हो जाती है क्लोरीन की अधिकता

पीने के पानी को कीटाणुरहित करने के लिए क्लोरीन का उपयोग किया जाता है। लेकिन, बहुत अधिक पानी पीने से आपको क्लोरीन की अधिक मात्रा का खतरा हो सकता है। जब ऐसा होता है, तो आपको ब्लैडर और कोलोरेक्टल कैंसर होने का खतरा होता है।

Recommended Video

हो सकता है एडिमा

causes edima

अगर आप ज्यादा मात्रा में पानी पीती हैं, तो यह आपके गुर्दे में जमा हो जाता है, जिससे टिशूज के अंदर ज्यादा तरल पदार्थ होने की वजह से सूजन हो जाती है। इसी बीमारी को एडिमा कहते हैं। इससे गुर्दा बुरी तरह प्रभावित होता है।

सेल और टिशूज आदि में बढ़ती है सूजन

disadvantage of excess water

जब शरीर में सोडियम का स्तर कम होता है, तो पानी ऑसमोसिस के जरिए सेमिपरमीएबल सेल मेमब्रेन में पहुंचता है। इस वजह से सेल्स आदि में सूजन बढ़ने लगती हैं। यह सूजन ब्रेन में होने लगती है। इस वजह से मसल टिशूज, ऑरगन्स और ब्रेन में गंभीर डैमेज भी हो सकता है।

पानी आपकी सेहत के लिए तभी तक अच्छा है जब तक उसी अति न हो। अगर आपको पानी पीने की वजह से कोई भी परेशानी हो रही है, तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। साथ ही ऐसे अन्य आर्टिकल्स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

 

Image credit- freepik images