कई बार महिलाओं को पैरों की सूजन की समस्या हो जाती है। पैरों में दर्द नहीं रहता, लेकिन सिर्फ सूजन के कारण ही कई सारी परेशानियां होती हैं। अगर कोई मेडिकल कारण नहीं है और किडनी और लिवर की बीमारी का कोई खतरा नहीं है तो हो सकता है कि ये सूजन आपके खान-पान या चलने-फिरने के तरीके के कारण आ रही हो।

अगर आप भी बेवजह पैरों में आ रही सूजन से परेशान हैं तो कुछ देसी नुस्खों की मदद से आप इस समस्या को ठीक कर सकती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शरीर का फ्लूइड टिशू में भर जाता है। इस कंडीशन को एडेमा (edema) कहते हैं। वैसे तो ये अपने आप ही ठीक हो जाती है, लेकिन अगर आप चाहे तो कुछ घरेलू नुस्खों की मदद ले सकती हैं। 

1. दिन में 8-10 ग्लास पानी पिएं

ऐसा कई बार होता है कि हम अपने वाटर इनटेक का ध्यान नहीं रख पाते हैं। शरीर में पानी की कमी होगी तो इसका असर पैरों की सूजन पर भी पड़ेगा। अगर आप हाइड्रेटेड रहेंगी तो आपने बॉडी फ्लूइड्स का लेवल भी सही रहेगा। इससे सूजन में कमी आएगी। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना जरूरी है। 

इसे जरूर पढ़ें- Covid 19 Precautions: खुलने वाले हैं Gym, कोरोना वायरस से बचने के लिए एक्सरसाइज करते समय रखें ये सावधानियां

swollen feet drinking water

2. कम्प्रेशन वाले मोजों की मदद लें

एक्सरसाइज करते समय या फिर लंबे समय के लिए फिजिकल काम जैसे चलना-फिरना, ऑफिस जाना, ट्रैवल करना आदि के लिए आप कम्प्रेशन सॉक्स लें। ये किसी मेडिकल स्टोर, स्पोर्ट्स स्टोर या फिर ऑनलाइन मिल जाएंगे। ये मोजे आपके ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करते हैं। ये पैरों और एड़ियों पर पर्याप्त मात्रा में प्रेशर डालते हैं ताकि ब्लड का फ्लो हार्ट तक पहुंचे। अपनी सुविधा के हिसाब से आप कम्प्रेशन सॉक्स की कई वेराइटी में से एक चुन सकते हैं। 

3. सेंधा नमक का करें इस्तेमाल 

उपवास का खाना सेंधा नमक की मदद से बनाया जाता है, लेकिन शायद आपको पता न हो कि सेंधा नमक का इस्तेमाल मसल्स के दर्द को कम करने के लिए भी किया जा सकता है। एप्सम सॉल्ट या सेंधा नमक में मैग्नीशियम सल्फेट की मात्रा बहुत होती है इसलिए ये पैरों की सूजन को कम कर सकता है। एक रिसर्च कहती है कि एप्सम सॉल्ट के पानी में अगर 15-20 मिनट तक आप रिलैक्स करेंगी तो इससे शरीर रिलैक्स होगा और साथ ही साथ सूजन आदि में कमी आएगी। अगर बाथ टब नहीं है तो भी बाल्टी में गुनगुना पानी रखकर इसमें सेंधा नमक मिलाएं और थोड़ी देर पैरों को डुबा कर बैठें। 

feet swelling

4. पैरों को ऊपर करके लेट जाएं 

यहां हमारा मतलब पैरों को एलिवेट करने से है। आप किसी तकिए या फिर किसी टेबल पर अपने पैर रखें। सोते समय ऐसा ही करें और इससे पैरों की सूजन कम होगी। अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो भी ये तरीका काम का साबित हो सकता है। अगर सोते समय आप सहज महसूस नहीं कर रही हैं तो भी हर 4 घंटे में से 20 मिनट आप इस पोजीशन में रहें।  

swollen feet elevation

इसे जरूर पढ़ें- Home Remedies: कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए पिएं इन 4 चीजों का जूस  

5. किसी एक पोजीशन में ज्यादा देर न रहें 

अगर आप लंबे समय तक खड़ी रहती हैं या फिर एक ही जगह बैठी रहती हैं तो इससे पैरों की सूजन बढ़ सकती है। हर घंटे में कम से कम एक बार तो उठकर थोड़ा चल फिर लीजिए। अगर आपकी जॉब लगातार बैठे रहने वाली है तो भी ब्रेक लेना बहुत जरूरी है। अपने शरीर की पोजीशन बदलती रहें। साथ ही साथ दिन भर में 4-5 बार थोड़ी पैरों की स्ट्रेचिंग भी कर लें।  

6. मैग्नीशियम से भरपूर खाने का सेवन करें 

शरीर में अगर मैग्नीशियम की कमी है तो भी पैरों में सूजन आती है और बॉडी फ्लूइड्स में कमी हो जाती है। बादाम, काजू, टोफू, पालक, डार्क चॉकलेट, एवोकाडो जैसी चीज़ों को अपनी डाइट में शामिल करना सही हो सकता है। 200-400 मिलीग्राम मैग्नीशियम अगर हर रोज़ खाया जाए तो इससे सूजन में कमी आ सकती है। किसी सप्लिमेंट को लेने से पहले डॉक्टरी सलाह ले लें क्योंकि अगर आप नेचुरल चीज़ों की जगह मैग्नीशियम सप्लिमेंट ले रहे हैं तो ये शरीर के लिए हानिकारक भी हो सकता है। साथ ही साथ कम सोडियम वाला खाना खाएं।  

swollen feet foots

7. वजन कम करें 

कई बार सिर्फ वजन बढ़ने के कारण ही बल्ड सर्कुलेशन में कमी आती है और इससे शरीर के निचले हिस्से में सूजन आ जाती है। इससे पैरों पर अधिक दबाव पड़ता है। इसलिए वजन कम करना बहुत अच्छा तरीका साबित हो सकता है।  

8. पैरों की मसाज करें 

अगर पैरों में ज्यादा सूजन आ रही है तो लगातार मसाज करना सही साबित हो सकता है। अपने पैरों को रिलैक्स मोड में ही रखें और एसेंशियल ऑयल को डाइल्यूट करके मसाज करें। इससे पैरों की सूजन में कमी आएगी।  

Recommended Video

9. पोटैशियम से भरपूर खाना खाएं 

जिस तरह से मैग्नीशियम से भरपूर खाना खाने से शरीर की सूजन कम होती है ठीक उसी तरह से पोटैशियम से भरपूर फूड्स भी मददगार साबित हो सकते हैं। शकरकंद, बीन्स, केला, मछली, पिस्ता, चिकन आदि को अपनी डाइट का हिस्सा बनाइए।  

कोशिश करिए कि आप अपने शरीर में जरूरी विटामिन और मिनरल की कमी न होने दें। सूजन शुरुआती दौर में तो अपने आप ठीक हो सकती है, लेकिन अगर इसका हल समय पर नहीं निकला तो ये गंभीर समस्या बन सकती है। अगर पैरों में सूजन के साथ शरीर में कोई और लक्षण भी दिख रहे हैं तो डॉक्टर से सलाह लें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।