Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    पीरियड्स में ऐंठन से छुटकारा दिलाता है ये आयुर्वेदिक उपाय

    अगर आप पीरियड्स में ऐंठन की समस्‍या सताती है तो इस आर्टिकल में बताए आयुर्वेदिक उपाय को आजमाएं। 
    author-profile
    Updated at - 2022-12-28,13:49 IST
    Next
    Article
    remedy for menstrual cramps by expert

    क्‍या आपके पीरियड में गड़बड़ी रहती है?
    क्‍या आप पीरियड्स में होने वाली ऐंठन से जूझ रहे हैं?
    तो दर्द निवारक दवाएं आपके एकमात्र मित्र नहीं हैं। आप आयुर्वेदिक उपाय से अपनी इन दोनों समस्‍याओं का हल कर सकती हैं। 

    कई महिलाओं को उनके पीरियड्स के दौरान ऐंठन का अनुभव होता है। आमतौर पर दर्द, सूजन और मतली के साथ, ये ऐंठन तब होती है जब यूट्रस महीने में एक बार अपनी परत को गिरा देता है। पीरियड्स के दौरान, ज्यादातर लोगों को पेट के निचले हिस्से में ऐंठन का अनुभव होता है, हालांकि दर्द पीठ के निचले हिस्से, कमर या थाइज के ऊपरी हिस्‍से तक भी फैल सकता है। 

    पीरियड्स की ऐंठन पीरियड्स की शुरुआत में सबसे खराब होती है और दिन बीतने के साथ कम असहज हो जाती है। हालांकि, पीरियड्स में ऐंठन के आसपास के लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं और इसमें सिरदर्द और दस्त जैसी समस्‍याएं भी शामिल हो सकती हैं।

    अगर आप भी दर्द और ऐंठन से जूझ रही हैं, तो यहां आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट जीतूंचदन जी पीरियड्स में ऐंठन को मैनेज करने के लिए सुझाव दे रही हैं। जीतूचंदन जी का कहना है, 'एक ऐसा स्नैक है जो आपकी दोनों समस्‍याओं को कम कर सकता है वह गुड़ + भुने हुए तिल है। आप इसे ल्यूटियल फेस (अगले साइकिल से 15 दिन पहले) में जोड़ सकते हैं।' आइए इस नुस्‍खे के बारे में आर्टिकल के माध्‍यम से विस्‍तार में जानें।

    पीरियड्स में ऐंठन आयुर्वेदिक नुस्‍खा

    सामग्री 

    • गुड़- 1 चम्‍मच 
    • भुने तिल- 1 चम्‍मच

    विधि

    • इसके लिए सबसे पहले तिल को भून लें। 
    • फिर इसमें गुड़ मिला लें। 
    • इसकी 1 चम्‍मच को खा लें।

    पीरियड्स के लिए तिल के बीज

    sesame seeds for menstrual cramps

    तिल के बीज का सेवन आपके पीरियड्स में ऐंठन को दूर करने के लिए किया जा सकता है, लेकिन इन्हें केवल संयम में ही खाना चाहिए क्योंकि ये आपके शरीर में बहुत अधिक गर्मी पैदा करते हैं।

    तिल के बीज लिग्निन से भरपूर माने जाते हैं जो शरीर में हार्मोन के अत्यधिक उत्पादन को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसलिए पीरियड्स के दर्द से राहत के लिए आप तिल का सेवन कर सकते हैं।

    अनियमित पीरियड्स में मदद करने के अलावा, पीरियड्स के लिए काले तिल आपके पीरियड्स को सुचारू और दर्द रहित या कम से कम दर्दनाक बनाने में भी मददगार है। इसे ऑक्सीडेटिव तनाव पर बीजों के परिणामों के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है जो हर महीने पीरियड्स की समस्याओं से निपटने वाली महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण है। 

    पीरियड्स के लिए तिल का एक और बड़ा फायदा यह है कि यह एनर्जी का पावरहाउस है।

    पीरियड्स के लिए गुड़

    jaggery for menstrul cramps

    गुड़ सिर्फ चीनी का ही एक स्वस्थ विकल्प नहीं है, यह पीरियड्स को रेगुलर करने में भी फायदेमंद है। इसे गर्मी पैदा करने वाले बीज जैसे तिल या अजवाइन के साथ मिलाने से गर्भाशय का संकुचन बढ़ सकता है, जिससे पीरियड्स हो सकते हैं।

    इसे जरूर पढ़ें:मेस्‍टुअल और पीएमएस ऐंठन से छुटकारा दिलाते हैं ये नुस्‍खे, जरूर अपनाएं

    Recommended Video

    गुड़ के नियमित सेवन से अनियमित पीरियड्स को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-स्पस्मोडिक गुण भी होते हैं जो गर्भाशय की ऐंठन को कम करने में मदद करते हैं। यदि आप अपने पीरियड्स को स्वाभाविक रूप से समय से पहले लाना चाहते हैं, तो गर्म दूध और शहद के साथ हल्दी का सेवन करें। पीरियड्स आने तक इसे रोजाना लें।

    आप भी इस आयुर्वेदिक नुस्‍खे को आजमाकर पीरियड्स में होने वाली ऐंठन से राहत पा सकते हैं। अगर आपको भी हेल्‍थ से जुड़ी कोई समस्या है तो हमें आर्टिकल के नीचे दिए कमेंट बॉक्स में बताएं और हम अपनी स्टोरीज के जरिए इसका हल करने की कोशिश करेंगे। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।

    Image Credit: Freepik.com

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।