• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

मेस्‍टुअल और पीएमएस ऐंठन से छुटकारा दिलाते हैं ये नुस्‍खे, जरूर अपनाएं

अगर आपको भी मेस्‍टुअल और पीएमएस के दौरान ऐंठन की समस्‍या सताती है तो छुटकारा पाने के लिए ये नुस्‍खे आजमाएं। 
author-profile
Next
Article
home remedies for period pain hindi

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पेट, पीठ के निचले हिस्से और जांघों के आस-पास बेचैनी महसूस होना आम बात है। पीरियड्स के दौरान, आपके गर्भ की मसल्‍स सिकुड़ती हैं और आराम करती हैं ताकि बिल्ट-अप लाइनिंग को बहाया जा सके। कभी-कभी आपको ऐंठन का अनुभव होगा, जिसका अर्थ है कि आपकी मसल्‍स काम कर रही हैं। कुछ महिलाओं को जी मिचलाना, उल्टी, सिर दर्द और दस्त जैसी समस्‍याओं का भी अनुभव हो सकता है।

ऐंठन कई महिलाओं को उनके पीरियड्स के पहले जिसे पीएमएस के नाम से भी जाना जाता है और इसके दौरान महसूस होती है। जबकि कुछ महिलाओं को केवल हल्के ऐंठन का अनुभव होता है, अन्य महिलाओं को बहुत ज्‍यादा ऐंठन और दर्द महसूस होता है। कुछ मामलों में, पीरियड क्रैम्प से होने वाला दर्द अत्यधिक हो सकता है और आपके दैनिक जीवन में गंभीर सेंध लगा सकता है।

यदि पीरियड्स का दर्द हर महीने आपकी शैली में ऐंठन पैदा कर रहा है, तो आप वापस नियंत्रण पाने के लिए कुछ कदम उठा सकती हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे नुस्‍खों के बारे में बता रहे हैं जो आपकी परेशानी को कम कर सकते हैं और आपको अपने व्यस्त जीवन के साथ वापस पटरी पर लाने में मदद कर सकते हैं। 

इन नुस्‍खों के बारे में हमें डांस टू फिटनेस स्टूडियो की फाउंडर, फिटनेस एक्‍सपर्ट सोनिया बख्शी जी बता रही हैं। अगर आपको भी पीरियड्स या पीएमएस के दौरान ऐंठन महसूस होती है तो राहत पाने के लिए इन नुस्‍खों को जरूर आजमाएं।

सुबह के समय

raisin for period pain

  • इसके लिए 4-5 काली किशमिश और थोड़े से केसर को रातभर पानी में भिगो दें। 
  • इसे सुबह के समय खाली पेट लें।

भीगी हुई किशमिश और केसर को एक साथ लेने से न केवल पीरियड्स के दर्द को कम करने में मदद मिलती है, बल्कि पीएमएस के कारण होने वाले मूड स्विंग से निपटने में भी मदद मिल सकती है।

इसे जरूर पढ़ें: पीरियड्स में होता है दर्द तो अपनाएं ये देसी नुस्‍खा, आधे घंटे में मिलती है राहत

यदि वे अपनी पीरियड्स की डेट को जानती हैं तो इसे एक हफ्ते पहले भी लेना शुरू कर सकती हैं। किशमिश एक प्राकृतिक रेचक के रूप में काम करता है और आपकी पाचन प्रक्रिया को नियंत्रण में रखने में मदद करता है, जबकि अध्ययनों से पता चलता है कि केसर सेरोटोनिन एक्टिविटी को प्रभावित कर सकता है, जो पीएमएस के साथ-साथ डिप्रेशन के लिए भी अच्छा है।

Recommended Video

मिड मील

  • इसके बाद मिड मील में 1 केला खाएं। 

केला पीरियड्स के लक्षणों को कम करने में प्रभावी है। आप इस फल को अपने मिड मील के रूप में ले सकती हैं। केले में विटामिन-बी6 और पोटैशियम होता है, जो सूजन और ऐंठन की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

लंच टाइम

ghee for period

  • रूट वेजिटेबल जैसे अरबी और शकरकंद लंच टाइम में खाएं।  
  • रोटी और दाल में थोड़ा सा घी लगाकर खाएं। 

ये सब्जियां फाइबर और पॉलीफेनोल से भरपूर होती हैं और पीरियड्स के दर्द को आसानी से मैनेज करने में आपकी मदद कर सकती हैं। साथ ही घी का सेवन न केवल आपको मतली और पीरियड्स में ऐंठन को कम करने में मदद करता है बल्कि आपके पेट के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है।

इसे जरूर पढ़ें: मेंस्ट्रुअल क्रैंप्स में आराम देती हैं ये 5 तरह की चाय

डिनर के बाद

  • 1 गिलास पानी में अदरक, हल्‍दी, लौंग और पुदीने की पत्‍तियां डालें। 
  • इसे तब तक उबालें जब तक पानी आधा न रह जाएं।
  • फिर इसे पी लें।   
 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by DtF @ Sonia Bakshi (@_dancetofitness_)

यह नुस्‍खे आपके मेस्‍टुअल ऐंठन को तुरंत कम करने में मदद करते हैं। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसी ही अन्‍य जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।