हर महिला को पीरियड्स के दौरान कई तरह के फिजीकल और इमोशनल बदलाव से गुजरना पड़ता है। पीरियड्स के दौरान हमारी बॉडी इंफेक्‍शन और अन्‍य हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स के प्रति सेसेटिव हो जाती है, जिसकी तरह ध्‍यान देने की जरूरत है क्‍योंकि यह हमारी बॉडी के लिए खतरनाक हो सकता है। 28 मई को Menstrual Hygiene Day है। यहां कुछ बुरी आदतों के बारे में बताया गया है जिसे हमें पीरियड्स के दौरान आप आज से ही करनाा बंद कर दें। 

डिप्रेसिंग फिल्में देखना

पीरियड्स के दौरान महिलाएं कई तरह की भावनाओं का सामना करती है, कभी खुशी तो कभी दुख, तो कभी गुस्‍सा और असु‍रक्षित महसूस करना। यह सब हार्मोन में बदलाव के कारण होता है। ऐसे में डिप्रेसिंग मूवीज या प्रोग्राम देखने से भावनाओं को चोट पहुंचती है। इसलिए जितना हो सके खुश करने की कोशिश करें। अच्‍छी-अच्‍छी मूवीज देखें जिससे कि आपका मूड अच्‍छा रहें।

Read more: पीरियड्स शुरू होने से कुछ दिन पहले ब्रेस्‍ट और पेट में होता है दर्द तो ये उपाय अपनाएं

मिल्‍क प्रोडक्‍ट लेना
milk products health Inside

पीरियड्स पेन से बचने के लिए कैल्शियम खाना चाहिए। लेकिन दूध या दूध से बनी कोई भी चीज जैसे पनीर या दही नहीं खाना चाहिए। पीरियड्स के दौरान यह सब खाने से पीरियड्स का पेन और बढ़ सकता है क्योंकि इसमें arachidonic acids पाया जाता है। जो दर्द को बढ़ाने के लिए जिम्‍मेदार होता है। मिल्‍क प्रोडक्‍ट की जगह आप बादाम का दूध पीएं या नारियल के दूध से बना दही खाएं इससे आपको कैल्शियम भी मिलेगा और और पेन भी नहीं होगा।

बहुत ज्‍यादा कैलोरी लेना

वैसे तो ज्‍यादा कैलोरी लेने से नुकसान ही होता है। लेकिन अगर आप पीरियड्स के दौरान भी ज्यादा कैलोरी खायेंगी तो इससे भी आपका वजन बढ़ेगा। और इस समय तो महिलाओं को अपनी डाइट का विशेष ध्यान अधिक रखना पड़ता है। ऐसे समय में हमे चॉकलेट खाने का बहुत मन होता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप बार-बार चॉकलेट खाती रहे। बल्कि एक चॉकलेट को कई बार में खाएं। यही नहीं ऐसे समय में तला और‍ मिर्च मसाले खाने का भी मन होता है। लेकिन इस सबसे से बचें और हेल्‍दी फूड्स ही लें।

ज्यादा नमक खाना
salt intake Inside

ज्यादा नमक खाने से पीरियड्स के दौरान और दर्द और ऐंठन बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है। और इससे पीरियड्स के दौरान आपको और अजीब सा महसूस होता हैं। इसलिए पीरियड्स में नमक वाली चीजें जैसे नमकीन, चिप्‍स आदि खाने से बचें। इसकी बजाय आप ताजे फल और सब्जियां खाएं जिससे आपको आवश्यक मिनरल्स और विटामिन मिलते रहें।

एक्‍सरसाइज से बचना

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द और ऐंठन के कारण बस बिस्‍तर पर लेटे रहना ही पसंद करती है। लेकिन ये ठीक नहीं है क्‍योंकि इससे दर्द कम होने की बजाय बढ़ने लगता है। वीमेन हेल्थ मैगजीन के अनुसार, इन दिनों के दौरान महिलाओं को थोड़ी बहुत एक्‍सरसाइज करना चाहिए। एक्‍रसाइज करने से ना सिर्फ दर्द ठीक होता है बल्कि आपको रिलैक्‍स भी महसूस होता है।

ठीक से नहीं सोना
insomnia health Inside

पीरियड्स के दौरान भरपूर नींद लेना बहुत जरूरी होता है। पीरियड्स में ऐंठन सुबह के समय बहुत ज्‍यादा हो जाते है। इसलिए आपका अपनी बॉडी को रात को अच्‍छी तरह से आराम देना चाहिए। यानि आपको रात में भरपूर नींद लेनी चाहिए। ताकि आपके सभी कामकाजी अंग पूरे दिन अनुभव किए गए दर्द से आराम कर सकें।

Recommended Video

असुरक्षित यौन संबंध

कई महिलाओं को मानना है कि पीरियड्स के दौरान कंसीव करने की संभावना बहुत कम होती है और असुरक्षित संबंध बनाने में कोई बुराई नहीं है। हालांकि संभावनाएं कम हैं फिर भी आप प्रेग्‍नेंट हो सकती है। इसके अलावा पीरियड्स के दौरान असुरक्षित संबंध से आपमें इंफेक्‍शन की संभावनाएं भी बढ़ सकती है।

Read more: सैनिटरी पैड को चुनते वक्त इन 4 बातों का रखें ख्याल

दर्द वाली चीजें करना
waxing health Inside

कई सारी महिलाओं को पीरियड्स के दौरान बहुत दर्द होता है क्योंकि इस समय बॉडी में एस्ट्रोजेन का लेवल कम हो जाता है। जिन महिलाओं को यह यह पहली बार होता है उन्हें पता है कि यह कितना पेनफुल होता है। इसीलिए अगर आप इस समय डेंटिस्‍ट पास और इस दौरान वैक्सिंग कराने की सोच रही हैं तो ऐसा ना करें। बल्कि अपने पीरियड्स के हफ्तेभर बाद ही वैक्स कराएं, जब आपका एस्ट्रोजेन का लेवल वापस पहले की तरह हो जाता है।

ठीक से ना खाना

पीरियड्स के दौरान खाना छोड़ना आपकी हेल्‍थ को नुकसान पहुंचा सकता है। क्‍योंकि महीने के इस समय के दौरान आप अपनी बॉडी से बहुत सारा ब्‍लड, एनर्जी और पोषक तत्‍व खो देती हैं। अपने बॉडी के एनर्जी के लेवल को कंट्रोल करने और बॉडी को एक्टिव रखने के लिए दिन में कम से कम 3 बार भोजन जरूर लें। साथ ही साथ हेल्‍दी स्‍नैक्‍स भी होना चाहिए।
इन सभी आदतों को छोड़कर आप लंबे समय तक हेल्‍दी रह सकती हैं।


Image Courtesy: Shutterstock.com