यूं तो अश्वगंधा हर किसी की हेल्‍थ के लिए अच्‍छा होता है। लेकिन महिलाओं की हेल्‍थ के लिए यह विशेष रूप से फायदेमंद होता है। महिलाओं के लिए अश्वगंधा कैसे फायदेमंद होता है, इस बारे में हमें एक्‍सपर्ट आयुर्वेद फिजिशियन डॉक्‍टर अबरार मुल्तानी बता रहे हैं। उनका कहना हैं कि ''महिलाओं की बॉडी में कई हॉर्मोनल बदलाव होते हैं जिसकी वजह से उनकी हेल्‍थ प्रभावित होती है। इसके अलावा अश्वगंधा में पाए जाने वाले पोषक तत्व बॉडी के बैक्टीरिया, वायरस और कीटाणुओं से लड़ने में हेल्‍प करता है और बॉडी को हेल्‍दी रखता है। अश्वगंधा में एंटीऑक्सीडेंट, लीवर टॉनिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल के साथ-साथ और भी कई पोषक तत्व होते हैं जो आपकी बॉडी को हेल्‍दी रखने में हेल्‍प करते हैं। इसके अलावा इसमें एंटी-स्ट्रेस गुण भी होते है जो स्‍ट्रेस फ्री करने में मदद करते है। इसके अलावा इसे घी या दूध के साथ मिलाकर सेवन करने से वजन बढ़ने में मदद होती है।''

इसे जरूर पढ़ें: मोटापे को कहें टा-टा क्‍योंकि बॉडी फैट को तेजी से कम करता है त्रिफला

वेजाइनल इंफेक्शन में फायदेमंद

अश्वगंधा में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते है जो वेजाइना में होने वाले इंफेक्शन को कम करता है और साथ ही वेजाइना के सूजन और खुजली से भी राहत दिलाता है। इसके अलावा अश्वगंधा वेजाइना से आने वाली दुर्गंध को भी कम करने में मदद करता है।

ashwagandha for vaginal infection inside

थायरॉयड कंट्रोल करें

अश्वगंधा एंटीओक्सीडेंट का एक अच्छा स्रोत है। इसके सेवन से थायरॉयड ग्रंथि के कार्यों को नियमित करती है इसलिए महिलाए इसे थायरॉयड की समस्या में इस्तेमाल कर सकती हैं।

हाइट बढ़ाने में मददगार

अगर आपके बच्‍चे की हाइट नहीं बढ़ रही तो अपने बच्‍चे की डाइट में अश्वगंधा को शामिल करें। जी हां एक ग्लास दूध में 2 चमच्च अश्वगंधा की जड़ का चूर्ण और एक चमच्च मिश्री मिलाकर रोज रात को सोने से पहने लेने से हाइट बढ़ती है।

ashwagandha for menopause inside

मेनोपॉज के दौरान

अश्वगंधा महिलाओं में हॉर्मोंन्स के सिक्रिशन को रेगुलेट करता है। जी हां अश्वगंधा एंडोक्राइन सिस्टम (ग्लैंड जो हॉर्मोंन्स को सीधे ब्लड स्ट्रीम में पहुंचाता है) को उत्तेजित करता है और साथ ही हॉर्मोंन्स के सिक्रिशन को भी रेगुलेट करता है। ये मेनोपॉज के दौरान होने वाली समस्या जैसे हॉट फ्लैश, मूड स्विंग्स और चिंता में भी बहुत उपयोगी है।

इसे जरूर पढ़ें: अस्‍थमा में संजीवनी बूटी की तरह काम करते हैं ये 7 हर्ब्‍स

Recommended Video

फर्टिलिटी बढ़ाएं

तनाव, हार्मोनल इम्बैलेंस, पोषक तत्वों की कमी या फिर किसी और हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स के कारण वजह से महिलाओं में फर्टिलिटी की समस्या हो जाती है। अश्वगंधा में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो हॉर्मोन को नियंत्रित करता है और फर्टिलिटी में सुधार लाता है।

ashwagandha for anti ageing inside

एंटी-एजिंग गुण

आजकल की लाइफस्‍टाइल के चलते महिलाओं के चेहरे पर समय से पहले झुर्रियां आने लगती है। क्‍या आप जानती हैं कि कॉर्टिसोल नामक हॉर्मोन झुर्रियों की समस्या को बढ़ाता है। अश्वगंधा कॉर्टिसोल के उत्पादन को कम करने में मदद करता है जिससे महिलाओं में झुर्रियों की समस्या कम हो जाती है। इसके अलावा इसमें एंटी-स्ट्रेस तत्व भी होते हैं जो स्‍ट्रेस फ्री रहने में मदद मिलती हैं।



अगर आप भी अपना वजन बढ़ाना चाहती हैं या चाहती हैं कि उम्र का असर आपके चेहरे पर जल्‍द दिखाई ना दें। या फिर हार्मोन को कंट्रोल करके फर्टिलिटी को बढ़ाना चाहती हैं तो आज से ही अपनी डाइट में अश्वगंधा को शामिल करें।
All Image Courtesy: Pxhere.com & Imagebazaar.com