इन दिनों घर का स्वच्छ और स्वस्थ पर्यावरण होना बहुत जरूरी है इसलिए प्लांटिंग करना अधिक घरों में पसंद किया जाने लगा है। प्लांटिंग के जरिए घर को ना सिर्फ फ्रेश हर्ब्स मिलती हैं, बल्कि यह होम डेकोर का भी एक अहम हिस्सा बन गया है, जो प्लांट्स आपके घर को और ब्यूटीफुल बनाते हैं। लेकिन मानसून के मौसम में पौधों की देखभाल करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है क्योंकि इस मौसम में पौधों को कई समस्याओं जैसे कीड़े लगना, पौधों की सामान्य ग्रोथ न होना, दीमक लगना या पौधों का सूख जाना आदि होने लगती हैं। 

जिसकी वजह से लोग परेशान हो जाते हैं। अगर आप भी पौधों की इन समस्याओं से जूझ रहे हैं, तो आप इनडोर प्लांटिंग की देखरेख करने के लिए नीम खली का इस्तेमाल कर सकते हैं। कई शोधों के अनुसार नीम खली पौधों के लिए बहुत फायदेमंद हैं क्योंकि पौधों में नीम की खली डालने से पौधे की वृद्धि तेजी से होती है और नए फूल, फल-सब्जी आदि आने जैसे कई फायदे मिलते हैं।

तो चलिए, आज हम आप आपको इस लेख के माध्यम से नीम खली के कुछ ऐसे यूजफुल टिप्स के बारे में बताएंगे, जिन्हें अपनाकर आप बेहद आसानी से अपने इनडोर प्लांट्स की सही तरह से केयर कर सकती हैं लेकिन इससे पहले जानते हैं कि आखिर नीम खली होती क्या है... 

क्या है नीम खली? 

what is neem khali

नीम खली एक तरह की खाद होती है, जिसमें एक आर्गेनिक फर्टिलाइज़र होती है। कई शोध के अनुसार नीम खली को पौधों में डालने के कई फायदे हैं क्योंकि इसमें मैग्नीशियम और सल्फर जैसे कई तत्व मौजूद होते हैं और यह दोनों तत्व पौधों को जरूरी पोषण प्रदान करते हैं। इसके अलावा, यह खाद सामान्य खाद से बिल्कुल अलग होती है। लेकिन कई लोग नीम खली को सामान्य खाद की संज्ञा देते हैं क्योंकि यह दिखने में खाद की तरह ही होती हैं लेकिन क्या आपको पता है सामान्य खाद और नीम खली आदि के केमिकल कंपोजिशन बिल्कुल अलग हैं।

पौधों में नीम खली डालने के फायदे 

फूल और फल न आने की समस्या को करे दूर 

घर में प्लानिंग करने के बाद अक्सर लोगों को पौधों में गुलाब या फूल ना आने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि कुछ पौधों को ज्यादा मैग्नीशियम की जरूरत होती है जैसे गुलाब, टमाटर के पौधे आदि को, तो आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। इसके लिए आप पौधे की मिट्टी में नीम खली डालना शुरू कर दें क्योंकि नीम खली के उपयोग से पौधे में खूब फूल आने लगते हैं। 

बीजों की होती है एक बेहतर शुरुआत 

benefits of neem khali

एक अच्छे प्लांट के लिए जरूरी है बीजों की ग्रोथ पूर्ण रूप से हो। इसलिए आप बीजों को एक बेहतर शुरुआत देने के लिए नीम खली का इस्तेमाल कर सकती हैं क्योंकि इसमें मौजूद मैग्नीशियम पौधों की कोशिका को मजबूत करके और वृद्धि के लिए ऊर्जा प्रदान करके बीज के अंकुरण को बढ़ाता है। साथ ही, अंकुरण प्रक्रिया के दौरान सल्फर आसानी से नष्ट हो जाता है, इसलिए बीज बोने के बाद आप नीम खली को भी मिट्टी में मिला दें। इसके अलावा, आप बीज बोने से पहले प्रत्येक छेद में यह खाद भी मिला सकती हैं। 

कीटों को स्वाभाविक रूप से रोकें

पौधों में घोंघे और स्लग को निर्जलित करने और मारने के लिए आप नीम खली का इस्तेमाल करें। पौधों में इसके नियमित रूप से प्रयोग करने पर कीटों की समस्या दूर हो जाएगी। इसके अलावा, आप पौधे को रोपने के समय फास्फोरस, नाइट्रोजन और पोटाश को मिट्टी में गोबर की खाद के साथ इस्तेमाल करें।

 

इसे ज़रूर पढ़ें- बरसात में इन पौधों की होती है अच्छी ग्रोथ, आप भी अपने गार्डन में जरूर लगाएं

पोषक तत्व बढ़ाएं

plants care in monsoon

पौधों की ग्रोथ पूर्ण रूप से तभी होती है जब उसे नियमित रूप से सभी पोषक तत्व मिलते हैं। इसलिए जरूरी है पौधों की समय-समय पर देखरेख की जाए ताकि पौधे सूखे नहीं और उन्हें सभी पोषक तत्व मिलते रहें। पौधों को सभी पोषक तत्व की कमी को दूर करने के सबसे अच्छा स्रोत है नीम खली क्योंकि इसमें मैग्नीशियम-सल्फेट नाइट्रोजन, फास्फोरस और सल्फर सहित प्रमुख खनिजों आदि तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो पौधे के सेल को तेजी को बढ़ाने में मददगार है। 

Recommended Video

कैसे करें उपयोग 

इसका इस्तेमाल आप बड़े गमले में 100 ग्राम व छोटे गमले में 50 ग्राम प्रति पौधे व जमीन में पौधों की उम्र के हिसाब से प्रयोग करें और इसके बाद इसमें हल्के पानी का भी प्रयोग करें। 

इसके अलावा, नीम खली का इस्तेमाल करने से पौधों में चीटियां एवं फंगस भी नहीं लगते हैं। साथ ही, नीम खली जमीन के सभी रोगों को आसानी से खत्म कर उसकी फर्टिलिटी को और बढ़ा देती है और बंजर भूमि को भी उपजाऊ बना देती है। तो आप इस मानसून में नीम खली का इस्तेमाल करके अपने प्लांट की आसानी से केयर कर सकती हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- घर पर आसानी से लगाया जा सकता है स्नेक प्लांट, जानें सिंपल तरीका

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, साथ ही इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik)