क्‍या कुछ दिनों से आपके चेहरे पर झुर्रियां दिखने लगी हैं?
नाखूनों में पीलापन और पतले बालों ने सुंदरता को कम कर दिया है?
और पैरों में सूजन के कारण परेशान रहती हैं तो इसके लिए तनाव और बढ़ती उम्र को दोषी ना मानें क्‍योंकि यह हेल्‍थ संबंधी प्रॉब्‍लम्‍स का लक्षण हो सकता है। इसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं, क्‍योंकि यह समस्‍याएं गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। यह बात हम नहीं कह रहे बल्कि एक रिसर्च से सामने आई है। जी हां सैन फ्रांसिस्‍कों में हुई एक रिसर्च में मेडिकल और अमेरिकी समग्र मेडिकल एसोसिएशन के एक्‍सपर्ट एमडी मौली एम रॉबर्ट्स ने इस बात का खुलासा किया है। उनका कहना हैं कि "बीमारी हल्‍के से दस्‍तक देती हैं लेकिन अगर इसपर ध्‍यान नहीं दिया जाए तो आपको पूरी तरह से घेर लेती हैं। 

जी हां अच्‍छी हेल्‍थ होने पर कोई भी व्‍यक्ति आकर्षक और जवां दिखाई देता है। साथ ही उसके चेहरे पर एक अलग का ग्‍लो होता है। लेकिन बॉडी में किसी सभी तरह का बदलाव जैसे बालों का झड़ना, पीले नाखून, पैरों में सूजन, आंखों के आस-पास डार्क सर्कल्‍स का होना हेल्‍थ संबंधी प्रॉब्‍लम्‍स की ओर इशारा करता है। इससे पहले की यह समस्‍याएं गंभीर रूप ले लें। इनकी ओर ध्‍यान देना बेहद जरूरी होता है। आइए आज हम आपको बताते हैं कि आपका लुक हेल्‍थ के कौन से राज खोलता है।

इसे जरूर पढ़ें: Health Tips: हाई बीपी को झटपट कंट्रोल करेगा ये आसान घरेलू नुस्‍खा

पफी आइज और डार्क सर्कल

dark circle health problem inside

आमतौर पर पफी आइज और डार्क सर्कल की समस्‍या रात में देर से सोने या अच्‍छी नींद न लेने के कारण होती है। लेकिन अगर आपकी यह समस्‍या लगातार बनी रहती हैं तो आपको अपनी डाइट में ध्‍यान देना चाहिए। क्‍योंकि ऐसा डाइट में सोडियम की मात्रा अधिक लेने से बॉडी में वॉटर रिटेंशन के बढ़ने से होता है। इसके अलावा डार्क सर्कल बॉडी में आयरन की कमी का संकेत है।

पैरों में सूजन

आमतौर पर पैरों में सूजन चोट या इंफेक्‍शन के कारण होती है। साथ ही प्रेग्‍नेंसी, मोटापा और कुछ तरह की दवाएं भी इसका कारण हो सकती हैं। लेकिन कई बार पैरों में सूजन किडनी या दिल की बीमारी का लक्षण हो सकता है। जी हां किडनी के सही से काम न करने पर पैरों में सूजन आ जाती है और टखने में सूजन हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।

बालों का पतला होना

thin hair health problem inside

हमेशा अपने शैंपू या हेयर केयर प्रोडक्‍ट या फिर मौसम में बदलाव को बालों के झड़ने का कारण माना जाता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि हार्मोंनल बदलाव, तनाव और किसी लंबी बीमारी के कारण आपके बाल पतले होने लगते हैं। इसके अलावा थॉयरायड की समस्‍या भी बालों के पतले होने का कारण हो सकती हैं। इसे नजरअंदाज करना सही नहीं है, इसके लिए तुरंत अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें। 

ड्राई स्किन

मौसम में बदलाव होने पर लगभग हर किसी को ड्राई स्किन का अनुभव होता है। आमतौर पर यह सर्द हवा या गर्म शॉवर के कारण होता हैं, लेकिन कई मामलों में, ड्राई स्किन डिहाइड्रेशन और गंभीर हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स का संकेत हो सकता है। इसके अलावा हाइपोथायरायडिज्म और डायबिटीज जैसी प्रॉब्‍लम्‍स के होने पर डाइट में पोषक तत्‍वों की कमी के कारण त्‍वचा में नमी की कमी से ड्राई स्किन की प्रॉब्‍लम होने लगती है। 

 

आंखों और नाखूनों में पीलापन

yellow nails health problem inside

आंखे हमारी हेल्‍थ का आईना होती है, इसलिए अगर आपकी सफेद आंखों में पीलापन आने लगे तो समझ लेना चाहिए कि आप किसी बीमारी का शिकार हो रही हैं। जी हां अगर आपकी सफेद आंखों या नाखूनों में पीलापन आने लगे तो यह लिवर की बीमारी जैसे हेपेटाइटिस या पीलिया का लक्षण हो सकता है। बिना देरी किए तुरंत अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें।

इसे जरूर पढ़ें: इन 5 आम लक्षणों को इग्‍नोर किया तो हो सकता है ओवेरियन कैंसर

बॉडी विशेष रूप से चेहरे पर बाल

बॉडी पर बहुत ज्‍यादा बाल किसी भी महिला को अच्‍छे नहीं लगते है। विशेषरूप से चेहरे पर बाल तो किसी भी महिला की खूबसूरती को बिगाड़ देते है। लेकिन इससे भी ज्‍यादा यह पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) जैसी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम का संकेत हो सकता है। पीसीओएस में लगभग 70 प्रतिशत महिलाओं में आमतौर पर चेहरे, चेस्‍ट, पेट, पीठ, हाथ, या पैर पर एक्‍स्‍ट्रा बाल आने लगते है।

अगर आपको भी अपने लुक में जरा सा भी बदलाव दिखाई दें तो बिना देर किए तुरंत अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें।