पीसीओएस पर सबसे ज्यादा पूछे जाते हैं ये सवाल, एक्सपर्ट से जानिए जवाब

By Saudamini Pandey05 Jun 2018, 21:41 IST

अनचाहे बाल, वजन अचानक तेजी से बढ़ना और इररेगुलर पीरियड्स जैसे लक्षण दिखें तो सतर्क हो जाएं। ये  पॉलिसस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम ( पीसीओएस ) के शुरुआती लक्षण भी हो सकते हैं। इससे कंसीव करने में प्रॉब्लम हो सकती है और कैंसर भी हो सकता है, इसीलिए इसके बारे में जागरूक रहना बहुत जरूरी है। इस बारे में गूगल पर पूछे जाने वाले सबसे कॉमन सवालों के जवाब दिये डॉ. अनघा खारखानीस, जो ककून फर्टिलिटी में आईवीएफ कंसल्टेंट हैं। आइए जानें पीसीओएस की समस्या पर पूछे जाने वाले सवालों पर उनके जवाब-

pcos condition inside

पीसीओएस क्या है?

सामान्य तौर पर हर महिला के शरीर में मेल और फीमेल हार्मोन मौजूद होते हैं, लेकिन पॉलिसिस्टिक ओवरीज में इन हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ जाता है। इससे मेल हार्मोन बढ़ने लगते हैं।

पीसीओएस के लक्षण क्या हैं?

पीसीओ का सबसे कॉमन लक्षण है पीरियड्स इररेगुलर होना। चेहरे पर पिंपल्स, अनचाहे बाल, वजन बढ़ जाना आदि। कई बार इनमें से कोई भी लक्षण नजर नहीं आता, इसके बावजूद पीसीओएस की समस्या हो सकती है। 

Watch more : जैसा आपका आई शेप वैसा करें आंखों पर मेकअप

किन कारणों से और किसे हो सकता है पीसीओएस?

यह समस्या अनुवांशिक है। जिन महिलाओं के घर में मम्मी को, बहन को या मासी को यह प्रॉब्लम रही है, उन्हें यह प्रॉब्लम हो सकती है। इसके अलावा जिनका वजन ज्यादा है, उन्हें भी इस बारे में ध्यान रखना चाहिए कि उन्हें यह समस्या हो सकती है।

क्या पीसीओएस की वजह से प्रेगनेंसी पर असर पड़ सकता है?

जिन महिलाओं को पीसीओएस की समस्या है, उनमें से 40 फीसदी को कंसीव करने में दिक्कत आ सकती है। इसकी कई वजह हैं। एक वजह है कि गर्भाशय में अंडे की ग्रोथ ना होना, अगर ग्रोथ होती भी है, तो एग को अंडाशय से बाहर निकलने में प्रॉब्लम आ सकती है और अगर बाहर निकलता भी है तो इम्मैच्योर हो सकता है। 

कैसे पाएं इस समस्या पर काबू

अगर आप लाइफस्टाइल में बदलाव लाएं तो इस समस्या पर काबू पा सकती हैं। इसमें अपनी डाइट पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। फ्रूट्स और वेजीटेबल्स अपनी डाइट में सही मात्रा में शामिल करें। शुगर और अन्य आर्टिफिशियल फूड अपनी डाइट में अवॉइड करें। अगर आप स्मोकिंग करती हैं और एल्कोहॉल लेती हैं तो यह फौरन छोड़ दें। इसके अलावा अपने वजन पर ध्यान दें। अगर आपका वजन नॉर्मल भी है तो भी अपनी एक्सरसाइज जारी रखें क्योंकि पीसीओएस को कंट्रोल करने में एक्सरसाइज से भी बहुत मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त आप विटामिन, मिनरल और अमीनो एसिड्स भी ले सकती हैं, जिससे पीसीओएस के लक्षण कम होते हैं, लेकिन इसके लिए आप अपनी गायनेकोलॉजिस्ट से सलाह जरूर लें।