40 के बाद ज्यादातर महिलाएं सफेद बालों और झुर्रियों को लेकर परेशान रहती हैं। लेकिन नींद की परेशानी के बारे में क्या? यह एक ऐसी समस्या है, जो बढ़ती उम्र के साथ सबसे ज्‍यादा दिखाई देती है। हालांकि, उम्र बढ़ने के साथ नींद न आने की समस्‍या सबसे ज्‍यादा दिखाई देती है, लेकिन यह एक ऐसा विषय है जिस पर ध्यान नहीं दिया जाता है। उम्र बढ़ने का मतलब यह नहीं है कि आपको कम आराम की जरूरत है, बल्कि आपको भी कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। नेशनल स्लीप फाउंडेशन के अनुसार, 30 से 60 वर्ष की औसत महिला रात में 7 घंटे से भी कम सोती है। सर्वेक्षणों में यह भी पाया गया है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं को नींद की समस्या होने की संभावना अधिक होती है।

40 के बाद नींद न आने के कारण मानसिक और शारीरिक बदलाव हो सकते हैं। इसके अलावा, नींद संबंधी विकार के लिए दवा और तनाव भी जिम्‍मेदार हो सकते हैं। लेकिन आप परेशान न हों क्‍योंकि अपनी आदतों में सुधार करके आप बढ़ती उम्र में भी अच्‍छी नींद ले सकती हैं।

कैफीन का सेवन कम करें

coffee for sleep

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे कैफीन की संवेदनशीलता भी बढ़ती जाती है। यदि आप जीवन भर कॉफी या चाय पीती रही हैं, तो इसे छोड़ना आपको बुरे सपने जैसा लग सकता है। लेकिन इसका सीमित मात्रा में सेवन बेहतर नींद की कुंजी हो सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: रात में अच्छी नींद पाना चाहती हैं तो अपनाएं ये टिप्स

दवाएं बदलें

यदि आप प्रिस्क्रिप्शन दवाओं पर हैं, तो इसके साइड इफेक्ट्स की वजह से भी आपको नींद में परेशानी हो सकती है। कुछ दवाएं चिंता, रात को पसीना और नींद को प्रभावित करने वाली अन्य समस्याएं पैदा कर सकती हैं। इसलिए अच्‍छी नींद पाने के लिए आप डॉक्‍टर की सलाह से इन दवाओं को बदल लें।

थेरेपिस्‍ट की सलाह लें

doctor advice for sleeep

क्या आप जरूरत से ज्‍यादा तनावग्रस्त रहती हैं? तो किसी थेरेपिस्‍ट से मिलने पर विचार करें। चिंता का अनिद्रा से काफी गहरा जुड़ाव है, लेकिन कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (सीबीटी) इसमें काफी मददगार साबित हो सकती है। यह हॉट फ्लैशेज को मैनेज करती है।

गुनगुने पानी से नहाएं 

अच्‍छी नींद पाने के लिए गुनगुने पानी से नहाएं। जब आप टब से बाहर निकलती हैं, तब शरीर के तापमान में गिरावट आपको थकान महसूस करने में मदद करती है। यह आपको आराम करने और धीमा करने में भी मदद करती है, इससे आपको अच्‍छी नींद आती है।

अरोमाथेरेपी का प्रयोग करें

aromatherapy for sleep

सूदिंग अरोमा की शक्ति को कभी कम मत समझो। लैवेंडर, वेटिवर और कैमोमाइल जैसे एसेंशियल ऑयल नींद की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। खुशबू शरीर और मन को शांत करने में मदद करती है। तेल बेचैनी, रातों को नींद नहीं आना और किसी भी तरह के तनाव को कम करने के लिए एकदम परफेक्‍ट है। अरोमाथेरेपी में एसेंशियल ऑयल का उपयोग करने के लिए, इलेक्ट्रिक डिफ्यूज़र या वैक्स वार्मर में निवेश करें।

खुद को शांत करें 

लाइट बंद करने से पहले खुद को शांत करने के लिए समय निकालें। सोने से एक घंटे पहले अपने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और टीवी को बंद कर दें। फिर खुद को रिलैक्‍स करने के लिए आप अच्‍छी बुक्‍स पढ़ सकती हैं, म्‍यूजिक सुन सकती हैं और ऐसा कुछ भी करें, जो आपको रिलैक्‍स करने में मदद करता है।

योग करें

yoga for sleep

बढ़ती उम्र की महिलाओं के लिए योग बेहद फायदेमंद होता है, तो आप किस चीज का इंतजार कर रही हैं? योग करने से थकान और हृदय गति जैसे शारीरिक कारकों में सुधार होता है। तनाव और चिंता को भी योग से नियंत्रित किया जा सकता है। लेकिन जरूरी नहीं है कि शुरूआत मुश्किल योग से करें। आप हल्‍के और सिंपल योग करके भी बेहतर नींद पा सकती हैं। 

Recommended Video

 

एक्‍सरसाइज करें

हम सभी जानती हैं कि फिजिकल एक्टिविटी शरीर के लिए बहुत अच्छी होती है। लेकिन 2012 के एक अध्ययन के अनुसार, यह विशेष रूप से नींद की समस्याओं को मैनेज कर सकती है। रोजाना कुछ देर एक्‍सरसाइज जैसे वॉक, रनिंग, स्विमिंग आदि करने से अच्‍छी नींद आती है। 

इसे जरूर पढ़ें: अगर चाहती हैं कि रात में आए गहरी नींद तो आजमाएं ये 10 उपाय

साथ ही एक्‍सरसाइज से हार्ट डिजीज और टाइप 2 डायबिटीज जैसी क्रोनिक कंडीशन्‍स को रोका और उनका प्रबंधन किया जा सकता है। 40 के बाद, ऐसा करना  और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। यदि आप पहले से ही फिजिकली एक्टिव नहीं हैं, तो एक्‍सरसाइज करना आपको मुश्किल लग सकता है, लेकिन हर छोटी बात मायने रखती है। छोटी शुरुआत करें, भले ही हर दिन सिर्फ 20 या 30 मिनट तेज चलना हो।

जरूरी नहीं है हर महिला को 40 साल की उम्र के बाद नींद आने में परेशानी हो, लेकिन समस्‍या होने पर अच्‍छी नींद लेने और आजीवन हेल्‍दी रहने के लिए अपनी जीवनशैली में कुछ छोटे-छोटे बदलाव करने की आवश्यकता होती है। इस तरह के और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com